क्रिकेट के खेल में कई बार ऐसे हालात हो जाते हैं, जब बल्लेबाज़ को आउट करार दिया जाता है लेकिन वह इस निर्णय से सहमत  नहीं होता और इसके विरोध में मैदान से नहीं जाता तो कई बार निर्णय बल्लेबाज़ के पक्ष में आता है फिर भी वह मैदान छोड़ कर चला जाता है. जैसे कि एडम गिलक्रिस्ट…कई मौकों पर इन्हे नॉट आउट घोषित किया गया बावजूद इसके वह पवेलियन की ओर चल दिए. दस ऐसे क्रिकेटरों पर एक नजर जिन्होंने निर्णय आने के बाद भी मैदान से जाने से इंकार कर दिया….

# 1 स्टुअर्ट ब्रॉड

ट्रेंट ब्रिज में 2013 में पहले एशेज टेस्ट के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेल रहे स्टुअर्ट ब्रॉड ने आउट होने के बावजूद भी जाने से मना कर दिया. इंग्लैंड की दूसरी पारी के 118 ओवर में पांच डॉट गेंदों के बाद बाएं हाथ के स्पिनर एस्टन ने 52 मील प्रति घंटे की रफ़्तार से एक बाहर की ओर गेंद डाली. गेंद ब्रैड हैडिन के दस्तानों को छूटी हुई स्लिप में खड़े माइकल क्लार्क के सुरक्षित हाथों में जा गिरी. अंपायर अलीम डार स्थिर बने रहे जबकि आस्ट्रेलियाई टीम सदमे में. ब्रॉड की प्रतिक्रिया क्लासिक थी. इस बात से पूरी तरह अवगत ऑस्ट्रेलिया के पास समीक्षा के लिए कुछ शेष नहीं है ब्रॉड खुद को नॉट आउट जताते हुए नॉन स्ट्राइकर की ओर चले गए. इसके बाद इन्होने 70 गेंदे और खेली. अंत में इंग्लैंड ने केवल 14 रन से मैच जीता.

# 2 माइकल क्लार्क (2007-08 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी )

बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2007-08 का दूसरा टेस्ट मैच अंपायर स्टीव बकनर के लिए एक दु:खद अनुभव रहा. प्रचुर मात्रा में अंपायरिंग भूलों के लिए कुख्यात रहा यह मैच. ऑस्ट्रेलिया आराम से 250/2 पर पहुंचा था जब मैथ्यू हेडन ने अनिल कुंबले की गेंद पर लापरवाह रिवर्स स्वीप करने का प्रयास किया और कैच आउट हो गए थे. फिर माइकल क्लार्क आये. कुंबले की गेंद पर उन्होंने बल्ला घुमाया और गेंद राहुल द्रविड़ के हाथो में जा गिरी. क्लार्क ने तुरंत द्रविड़ को कैच पकड़ते पीछे मुड़कर देखा. और क्रीज़ से तब तक हिलने से मन कर दिया जब तक कि बकनर उनके आउट होने की पुष्टि नहीं करते. इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि भारतीय कप्तान विरोधी बल्लेबाज़ के इस व्यव्हार पर नाराज़ थे.

# 3 माइकल क्लार्क (2013 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी )

2013 चेन्नई में हुई बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के पहले टेस्ट के दौरान एक बड़ा विवाद हुआ था. ऑस्ट्रेलिया के नवोदित मोइसिस ​​हेनरिक्स क्रीज पर क्लार्क के साथ 65 रन की साझेदारी के साथ पर 206/5 पर पर संघर्ष कर रहे थे. रविचंद्रन अश्विन के ओवर की दूसरी गेंद क्लार्क के पैड पर लगी ,भारतीय खिलाडियों ने एक सुर में अपील की लेकिन अंपायर कुमार धर्मसेना ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, ये सोच कर कि शायद पैड पर बल्ला लगा है. उस वक़्त 39 पर क्लार्क ने 130 रन बनाये और टीम को 380 के स्कोर पर पहुँचाया.

# 4 जस्टिन लैंगर

2004 में ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच एक टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाज़ी कर रहा था. और अभी टीम का खाता खोलना बाकी ही था कि तभी वह दुविधा में पड़ गया. चमिंडा की गेंद पर लैंगर ने स्ट्राइक किया जिसे महेला जयवर्धने ने कैच कर लिया. श्रीलंकन टीम जश्न मनाने लगी. लेकिन लैंगर आश्चर्य में थे ये क्या हो रहा है. कमजोर अपील के साथ श्रीलंका अंपायरों को कन्विंस करने में नाकाम रहे और फैसला ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ के हक़ में गया.

# 5 एंड्रयू साइमंड्स

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच 2008 में सिडनी टेस्ट में एंड्रयू साइमंड्स ने भी जाने से इंकार कर दिया था. 183/6 पर ऑस्ट्रेलिया और साइमंड्स के 29 पर होने के साथ, इशांत शर्मा की अगली गेंद जो काफी बाउंस थी इस पर साइमंड्स ने अपना बल्ला घुमाया लेकिन गेंद नहीं छुई जोकि कीपर धोनी ने कैच कर ली. भारतीय टीम ख़ुशी से उछाल पड़ी लेकिन साइमंड्स क्रीज़ पर ही खड़े रहे शायद उन्हें यकीन था कि वह आउट नहीं थे.

 

# 6 माइकल वॉन

2013 एशेज टेस्ट में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन भी मैदान में खड़े रहे. इंग्लैंड दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में 37/0 पर था. तभी एंडी बिकेल की गेंद पर उन्हें आउट कहा गया लेकिन उन्होंने जाने से मना कर दिया तब मैदान पर मौजूद अंपायर स्टीव बकनर ने तीसरे अंपायर के पास मामला भेजा. जिन्होंने बल्लेबाज़ के पक्ष में निर्णय लेने से पहले बहुत समय लगाया.

# 7 माइकल आथर्टन

इंग्लैंड के दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में माइकल आथर्टन को लेकर भी ऐसा ही वाक्य हुआ. बल्लेबाज़ी करते हुए माइकल आथर्टन गेंद विकेट कीपर को थमा बैठे. डोनाल्ड की चिल्लाकर अपील के सामने भी अंपायर स्थिर रहे. आथर्टन ने नीचे देखा और बेपरवाह दिखाई व् क्रीज़ पर दूसरी ओर चले गए. इन्हे मालूम था कि वह आउट नहीं है इसलिए उन्होंने अपने जाने का इंतज़ार नहीं किया.

# 8 डब्ल्यू जी ग्रेस

यह किस्सा 1898 का है. एसेक्स के तेज गेंदबाज चार्ल्स कोर्टराइट ने डब्ल्यू जी ग्रेस को तीन बार आउट किया, यह विक्टोरियन खिलाडी पहली गेंद पर एलबीडब्ल्यू होने के बावजूद जमे रहे फिर दूसरी गेंद पर पीछे किनारा लगने से आउट होने पर भी इन्होने मैदान से जाने से मना कर दिया. ओर तीसरी बार चार्ल्स कोर्टराइट ने दो ​​स्टंप नीचे गिरा दिए फिर भी ग्रेस क्रीज छोड़ने में झिझक रहे थे. तो गेंदबाज ने कहा कि “अब भी आप नहीं जाने वाले न!,.. क्योंकि एक स्टंप तो खड़ा है.”

# 9 जैक हॉब्स

एक मैच के दौरान गेंद को बल्ले का किनारा छूकर कीपर द्वारा कैच लेने के बाद भी, गेंदबाज के अपील के बावजूद हॉब्स ने गेंद को छूने से इनकार कर दिया था ओर फिर मैदान से जाने से भी मना किया. ओर अंपायर ने भी उन्हें कुछ हफ्ते बाद इस घटना पर चर्चा में उन्होंने एलेन को बोले अपने झूठ को स्वीकार किया.

# 10 डॉन ब्रैडमैन

रिकॉर्ड के अनुसार सर डॉन ब्रैडमैन ने एशेज 1946-47 के दौरान एक बार मैदान छोड़कर जाने से इंकार कर दिया था. साढ़े आठ साल बाद टेस्ट क्रिकेट में पहली बार खेल रहे यह महान ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ केवल एक मिनट बाद ही क्रीज़ छोड़कर तो नहीं जाना चाहते होंगे. 28 रन बनाने के बाद बिल वोस की गेंद पर ब्रैड के बल्ले का किनारा गेंद को लगा और जैक यकीं ने यह कैच ले लिया. वाली हैमंड के नेतृत्व में अंग्रेजी टीम बिना अपील के आनन्दित हो उठी लेकिन उन्होंने देखा कि ब्रैड एक इंच भी नहीं हिले. विपक्षी टीम की एक विलम्बित अपील ने अंपायर को भी शक में डाल दिया और अंततः उन्होंने बल्लेबाज़ के पक्ष में फैसला सुनाया.

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    टीम की ओपनिंग की समस्या हुई खत्म अब खुद चयनकर्ताओ ने कहा ये खिलाड़ी...

    साउथ अफ्रीका और बांग्लादेश की टीम के बीच 28 सितम्बर से साउथ अफ्रीका की धरती पर दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जानी है. बांग्लादेश...

    कुलदीप यादव ने कहा था मेरे सामने प्रेशर में होता है वार्नर, सुन भड़के...

    भारतीय टीम और ऑस्ट्रेलियाई टीम के बीच पांच मैचों की श्रंखला जारी है और अभी तक भारतीय टीम सीरीज में 2-0 से आगे चल...

    विराट या धोनी को नहीं बल्कि इस दिग्गज भारतीय खिलाड़ी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...

    ये तो आप सभी जानते है, कि भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश में स्वछता मिशन अभियान चला रखा है....

    अजब गजब: मैच के दौरान पहले कैच आउट और फिर रन आउट हुए हार्दिक...

    भारत और आॅस्ट्रेलिया के बीच खेले गए पांच वनडे मैचों की सीरीज का दूसरा एकदिवसीय मैच टीम इण्डिया के नाम रहा।टाॅस जीतकर पहली बल्लेबाजी...

    सहवाग-झूलन ने घंटा बजाकर किया था मैच का शानदार शुभारंभ, लेकिन फिर भी ईडन...

    कल गुरुवार 21 सितम्बर को भारत और आस्ट्रेलियाई टीम के बीच खेले गये दुसरे वनडे मैच का शुभारंभ कोलकता के ईडन गार्डन मैदान में काफी खास...