सोचने में अजीब लगता है कि एक ही टीम के खिलाडी जो मैदान पर हमे मिल जुल कर खेलते दिखाई देखते हैं उनके मैदान के बाहर झगडे भी होंगे, लेकिन यह एक दुखद सच्चाई है. आइये देखते हैं एक ही टीम के किन किन खिलाडियों के बीच हुई अनबन –

# 10 केविन पीटरसन – मैट प्रायर
केविन का अपनी इंग्लैंड टीम के कई सदस्यों के साथ मामला रहा है लेकिन सबसे प्रसिद्ध मामला उनके टीम मेट विकेट कीपर मैट प्रायर के साथ था. अपनी बर्खास्तगी के बाद स्टार बल्लेबाज ने अपनी ऑटोबायोग्राफी लिखी जिसमे उन्होंने मैट के साथ अपने मतभेद का जिक्र किया था. वहीँ उन्होंने टीम के कोच एंडी फ्लावर की भी आलोचना की थी. और साथ ही यह दवा किया था कि ग्रीम स्वान, जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड जैसे वरिष्ठ गेंदबाजों ने एक गुट का गठन कर युवा खिलाड़ियों को धमकाया है.
पीटरसन ने पूर्व विकेटकीपर मैट को एक दिखावटी इंसान बताया था जोकि अपने नए कपड़ो का दिखावा करता था, अपनी बिताई अद्भुत शाम के बारे में सबको बताता फिरता था.
टीम में एक साथ खेलने वाले इन दोनों खिलाडियों के बीच मैदान के बाहर ये कोल्ड वार चलती रही. जवाब में मैट प्रायर ने भी निकट भविष्य में कुछ चीज़ोंव् बातों के साथ जवाबी कार्रवाई करने का वादा किया.

# 9 हरभजन सिंह – एस श्रीसंत
दोनों के बीच 2008 में ये थप्पड़ विवाद सबसे प्रसिद्ध भारतीय कांड रहा. किंग्स इलेवन पंजाब और मुंबई इंडियंस के बीच एक मैच के बाद इंडियंस के कप्तान हरभजन ने कथित तौर पर पंजाब के तेज गेंदबाज श्रीसंथ को थप्पड़ जड़ दिया. और रोते हुए श्रीसंथ कैमरे में कैद हो गए. मैच रेफरी फारूख इंजीनियर ने ऑफ़ स्पिनर को टूर्नामेंट के बाकी मैचों के लिए प्रतिबंधित कर दिया था. लेकिन 2013 में एक बार फिर आईपीएल के दौरान विराट कोहली और गौतम गंभीर के बीच झगडे की हरभजन – श्रीसंत की घटना के साथ तुलना होने लगी. लेकिन भज्जी श्रीसंथ का मसला इससे कहीं ऊपर था.

# 8 माइकल क्लार्क – साइमन कैटिच
दोनों के बीच खटास तब पैदा हुई जब 2009 में एससीजी पर एक टेस्ट मैच जीतने के बाद टीम गीत के गायन के बारे में कुछ मतभेद को लेकर कैटिच ने पूर्व ऑस्ट्रेलियाई उपकप्तान माइकल क्लार्क को कॉलर से पकड़ा. क्लार्क अपनी प्रेमिका लारा बिंगल के साथ थे और वह वहां से जल्दी जाने के लिए गीत जल्दी ख़त्म करना चाहते थे. लेकिन कप्तान रिकी पोंटिंग सहित कैटिच और कुछ अन्य वरिष्ठ खिलाड़ी क्लार्क के इस रवैये से नाखुश थे. हालांकि केवल कैटिच ही वरिष्ठ खिलाडी नहीं थे जिनकी क्लार्क के साथ दिक्कत थी. एक बार क्लार्क ने हरफनमौला खिलाड़ी शेन वाटसन के प्रभाव को एएम के लिए एक ‘ कैंसर ‘ बताया था.

# 7 शेन वार्न – स्टीव वॉ – एडम गिलक्रिस्ट
इन तीन खिलाडियों के बीच केवल एक ही चीज आम है कि वे सभी एक चैंपियन टीम के लिए खेले. मैदान पर तो ये तीनो एक साथ मिल कर खेले लेकिन मैदान के बाहर इनके बीच टसन बाजी रही. हालाँकि इसके पीछे कारण का कोई स्पष्ट सबूत नहीं है लेकिन इतना है कि इनके बीच खीचा तानी जरूर थी. जैसे कि 1999 में स्टीव वॉ ने वार्न को पछाड़ कर कप्तानी हासिल की और फिर कुछ महीने बाद वेस्ट इंडीज दौरे के लिए वार्न को टीम से बाहर कर दिया.

# 6 शोएब अख्तर – मोहम्मद आसिफ
पाकिस्तानी खिलाडी शोएब अख्तर का करियर वैसे ही बड़ा विवादस्पद रहा है. वह किसी न किसी कारण से विवादों में घिरे रहे हैं. अख्तर का सबसे कुख्यात विवाद ड्रेसिंग रूम में रहा जब इन्होने 2007 टी -20 विश्व कप में पाकिस्तान के प्रशिक्षण सत्र के दौरान एक बल्ले के साथ मोहम्मद आसिफ को मारा था. बाद में शोएब ने कहा था कि शाहिद अफरीदी के साथ एक लड़ाई के दौरान दुर्घटना से आसिफ को बल्ला लग गया था.

 

# 5 ग्रीम स्मिथ – हर्शल गिब्स
अंदरूनी कलह और फूट के मामले दक्षिण अफ़्रीकी टीम में इतने कभी सुनने देखने को नहीं मिले न ही टीम के सदस्यों के बीच मनमुटाव की खबरों ने सुर्खियां बटोरी हैं. लेकिन मैच फिक्सिंग के मामलो ने इस टीम को हिलाकर रख दिया था. और इसके केंद्र के रूप में एक बड़ा हिस्सा दक्षिण अफ्रीका और हैंसी क्रोंजे थे. एक छोटे हद तक ही सही लेकिन इस घोटाले में जो एक अन्य खिलाड़ी फंसा था वह हर्शल गिब्स था. गिब्स ने अपनी ऑटोबायोग्राफी में ग्रीम स्मिथ पर एक कप्तान से भी ज्यादा शक्तिशाली होने का आरोप लगाया था. गिब्स ने स्मिथ पर कोच मिकी आर्थर को धमकाने और ड्रेसिंग रूम में प्रमुख हस्तियों के साथ षड्यंत्र रचने का दावा किया था.
जवाब में स्मिथ ने कहा था कि “और किसी चीज़ से ज्यादा यह उनकी अपनी ही असुरक्षा को दर्शाता है.”

# 4 सुनील गावस्कर – कपिल देव
1983 के विश्व कप के दौरान जिस दिन भारत जिम्बाब्वे के साथ खेलने वाला था गावस्कर को टीम में उनके शामिल किए जाने के बारे में सूचित किया गया,वह पहले घायल थे. और तैयारी की कमी के कारण वे जल्द ही आउट हो गए. और फिर टीम की जीत भी इन दोनों के रिश्ते में चमत्कार नहीं कर पाई. गावस्कर की कप्तानी के दौरान एक अन्य घटना में कपिल से गैर जिम्मेदाराना बल्लेबाजी से अपनी धरती पर डेविड गावर के अंग्रेजों के खिलाफ हार से सुनील काफी गुस्से में थे. चंदू बोर्डे की अध्यक्षता में चयनकर्ताओं ने अगले मैच के लिए टीम चुनने को लेकर जब कप्तान के साथ मुलाकात की तो एक सर्वसम्मत और दु:खी निर्णय की घोषणा की गयी कि दोनों दोषी खिलाड़ियों को टीम से बाहर रखा जाये. जहाँ कपिल ने अपनी चूक के लिए गावस्कर पर आरोप लगाया वहीँ गावस्कर ने अपने बचाव में बात रखी.

# 3 इमरान खान – जावेद मियांदाद
पाकिस्तान के इन दो बड़े खिलाडियों के बीच कड़वाहट और असंतोष की अंतर्धारणा मैदान के बाहर उनके रिश्ते में कायम रही. तनाव का एक पहलू शायद लाहौर – कराची संबंध था. जावेद ने इमरान पर 1993 और 1981 में उनकी कप्तानी के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाया था. वहीँ इमरान की जावेद के बारे में ये कहना था कि मियांदाद का षडयंत्रकारी मन है और ड्रेसिंग रूम में अपने राजनीतिक खेल चलते हैं .जब 1992 में विश्व कप के ग्रुप मैच में पाकिस्तान भारत से हार गया था जिसमे मियांदाद ने 110 गेंदों पर सिर्फ 40 रन बनाये थे तो इमरान ने कहा था कि कुछ सीनियर बल्लेबाज बहुत धीरे खेले हैं.

# 2 ज्योफ्री बायकाट – इयान बॉथम
70 और 80 के दशक के अंग्रेजी टीम के खिलाडी ज्योफ बायकाट और इयान बॉथम के बीच भी कुछ मतभेद रहे .क्राइस्टचर्च में एक टेस्ट में जहां बायकाट कप्तानी कर रहे थे इंग्लैंड को टेस्ट मैच जीतने के लिए तेजी से रन बनाने की जरूरत थी. परिस्थितियों के बावजूद स्वार्थी कप्तान 80 गेंद में 26 पर रेंगते जा रहे थे. तब उपकप्तान बॉब विलिस ने नए बल्लेबाज बॉथम से रन बनाने और बायकाट को आउट करने के लिए को कहा. तब बॉथम ने लघु एक्स्ट्रा कवर करने के लिए गेंद को धक्का दिया और एक असंभव एकल के लिए बायकाट को बुलाया. इस दौरान बायकाट आउट हो गए. और फिर बॉथम ने अच्छा खेलते हुए टीम को जीत दिलवाई.

# 1 डॉन ब्रैडमैन – जैक फिन्ग्लटन
यह कहा जाता है कि महानतम बल्लेबाज को अपने सभी साथियों का समर्थन पाने को लेकर समस्या थी. एक समस्या धर्म थी-कैथोलिक ईसाई और प्रोटेस्टेंट के आधार पर ऑस्ट्रेलियाई टीम में एक विभाजन था. वहीँ टीम के साथियों को ये लग रहा था कि ब्रैडमैन की लोकप्रियता बहुत है और यह खेल एक आदमी का खेल बन गया है. 1948 में इंग्लैंड में ब्रैडमैन की अंतिम पारी के दौरान, (जहाँ वह जीरो पर आउट हो गए थे.)जैक फिन्ग्लटन और एक अन्य जो ब्रैडमैन से नफरत करता था ‘बिल ओ रेली’ प्रेस बॉक्स में थे. जब ब्रैडमैन लौट रहे थे तब प्रेस बॉक्स दो पुरुषों के उन्माद हँसी के साथ गूंज उठा था.

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    टीम की ओपनिंग की समस्या हुई खत्म अब खुद चयनकर्ताओ ने कहा ये खिलाड़ी...

    साउथ अफ्रीका और बांग्लादेश की टीम के बीच 28 सितम्बर से साउथ अफ्रीका की धरती पर दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जानी है. बांग्लादेश...

    कुलदीप यादव ने कहा था मेरे सामने प्रेशर में होता है वार्नर, सुन भड़के...

    भारतीय टीम और ऑस्ट्रेलियाई टीम के बीच पांच मैचों की श्रंखला जारी है और अभी तक भारतीय टीम सीरीज में 2-0 से आगे चल...

    विराट या धोनी को नहीं बल्कि इस दिग्गज भारतीय खिलाड़ी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...

    ये तो आप सभी जानते है, कि भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश में स्वछता मिशन अभियान चला रखा है....

    अजब गजब: मैच के दौरान पहले कैच आउट और फिर रन आउट हुए हार्दिक...

    भारत और आॅस्ट्रेलिया के बीच खेले गए पांच वनडे मैचों की सीरीज का दूसरा एकदिवसीय मैच टीम इण्डिया के नाम रहा।टाॅस जीतकर पहली बल्लेबाजी...

    सहवाग-झूलन ने घंटा बजाकर किया था मैच का शानदार शुभारंभ, लेकिन फिर भी ईडन...

    कल गुरुवार 21 सितम्बर को भारत और आस्ट्रेलियाई टीम के बीच खेले गये दुसरे वनडे मैच का शुभारंभ कोलकता के ईडन गार्डन मैदान में काफी खास...