टेस्ट शतक बनाने वाली पिता और पुत्र की 11 जोड़ियां - Sportzwiki
क्रिकेट

टेस्ट शतक बनाने वाली पिता और पुत्र की 11 जोड़ियां

  • टेस्ट क्रिकेट किसी भी क्रिकेटर के लिए एक चुनौतीपूर्ण प्रारूप है. हालांकि, इस प्रसिद्ध खेल में कई ऐसे उदाहरण हैं जिसमे एक पिता और पुत्र अपने टेस्ट करियर के दौरान इस खेल में शतक स्कोर करने में कामयाब रहे हैं, फादर्स डे पर हम लेकर आये हैं टेस्ट शतक बनाने वाली पिता – पुत्र की जोड़ी की सूची –

    लाला अमरनाथ व् उनके बेटे
    लाला अमरनाथ टेस्ट शतक बनाने वाले पहले भारतीय थे. उन्होंने 1933-34 में मुंबई में इंग्लैंड के खिलाफ अपने पहले टेस्ट के दौरान यह कारनामा किया था. उनके पुत्र सुरिंदर ने भी उनके नक़्शे कदम पर चलते हुए 1975-76 में ऑकलैंड में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने पहले मैच में शतक जड़ा था .वहीँ  उनके दूसरे बेटे मोहिंदर ने 11 टन के साथ अपने टेस्ट करियर की समाप्ति की थी.

    ब्रॉड व् उनके बेटे
    पिता क्रिस ब्रॉड ने अपने करियर में 6 टेस्ट शतक लगाये जिनमे से 4 तो ऑस्ट्रेलिया में लगाये. जबकि उनके बेटे स्टुअर्ट ब्रॉड केवल 2010 में लॉर्ड्स के मैदान पर पाकिस्तान के खिलाफ एक शतक लगा पाये.

    मोहम्मद और उनके बेटे
    हनीफ मोहम्मद ने अपने कैरियर में 12 टेस्ट शतक लगाये थे जबकि उनके बेटे शोएब ने कुल सात टेस्ट शतक बनाये हैं.

    वाल्टर हैडली और उनके बेटे
    न्यूजीलैंड के लिए 11 टेस्ट मैचों में एक शतक निभाने वाले वाल्टर हैडली के पांच बेटो में से तीन बेटे भी न्यूज़ीलैंड के लिए खेले लेकिन केवल रिचर्ड ही दो टेस्ट शतक लगाने में सफल रहे.

    इफ्तिखार पटौदी और उनके बेटे
    पटौदी के नवाबों ने विशिष्ट रूप से अलग टीमों के लिए उनके टेस्ट शतक बनाये हैं .इफ्तिखार पटौदी ने इंग्लैंड के लिए पहले टेस्ट मैच में  102 रन बनाये थे. जबकि मंसूर अली खान पटौदी ने भारत के लिए खेलते हुए छह टेस्ट शतक लगाये थे.

    ज्योफ मार्श और उनके बेटे
    ज्योफ मार्श ने 1985 और 1992 के बीच चार टेस्ट शतक बनाये थे, वही उनके बड़े बेटे शॉन मार्श ने अब तक अपने टेस्ट करियर में दो शतक लगाये हैं.

    नज़र मोहम्मद और उनके बेटे
    नज़र मोहम्मद ने 1952-53 में लखनऊ में भारत के खिलाफ एक टेस्ट मैच में शतक बनाया हालांकि, उनके बेटे मुदस्सर नजर ने दस शतक जड़े जिनमे से 6 तो भारत के खिलाफ थे.

    केन रदरफोर्ड और उनके बेटे
    केन रदरफोर्ड ने 56 टेस्ट मैचों में तीन शतक लगाये हैं वहीँ उनके बीटा हामिश अपने करियर में केवल एक ही टेस्ट शतक लगाने में कामयाब रहा.

    विजय मांजरेकर और उनके बेटे
    विजय मांजरेकर 55 टेस्ट मैचों में सात शतक लगाने में सफल रहे जबकि उनके बेटे संजय 37 टेस्टो में चार में शतक जमा पाये.

    डेव नॉरसे और उनके बेटे
    दक्षिण अफ्रीका के डेव नॉरसे ने 45 मैचों में एक टेस्ट शतक जमाया और उनके बेटे ने 34 टेस्ट खेले जिनमे 9 शतक लगाये जो कि वाकई प्रभावशाली हैं.

    रॉड लैथम और उनके बेटे 
    रॉड लैथम ने चार टेस्ट मैच खेले लेकिन वह केवल 1992-93 में जिम्बाब्वे के खिलाफ बुलावायो में एक शतक (119) लगाने में कामयाब रहे. जबकि उनके बेटे टॉम ने अब तक अपने कैरियर में दो टेस्ट शतक लगाये हैं.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top