12 खिलाडी जिनकी मैदान पर चोट लगने के कारण हुई मृत्यु - Sportzwiki
क्रिकेट

12 खिलाडी जिनकी मैदान पर चोट लगने के कारण हुई मृत्यु

  • जब भी खिलाडी मैदान पर खेलने के लिए आते हैं तब बिना किसी डर के वे अपने प्रतिद्वंदी से मुकाबला करते हैं .लेकिन पिछले कुछ वर्षो से ऐसी घटनाएं सामने आ रही है जिसमे खिलाड़ियों ने मैदान पर गेंद से चोट लगने की वजह से अपनी जान गवां दी. हाल ही में इंग्लैंड में एक क्लब क्रिकेटर बवलन पदमनाथन का बल्लेबाजी करते हुए छाती पर गेंद लगने से निधन हो गया.

    फिल ह्यूजेस ( ऑस्ट्रेलिया) – 2014
    स्वर्गीय ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज फिल ह्यूजेस जोकि भारत के खिलाफ आगामी श्रृंखला के लिए एक टेस्ट में चुने जाने पर तर्क का विषय बने हुए थे ,उनकी एक घरेलू मैच में न्यू साउथ वेल्स के तेज गेंदबाज शॉन एबॉट की गेंद सिर पर लगने से मृत्यु हो गयी थी.

    डैरीन रैंडल (दक्षिण अफ्रीका) – 2013
    एक घरेलु मैच खेलने के दौरान एक घातक शॉट ने उनकी जान ले ली. एक पुल्ल शॉट लगाने की कोशिश करते वक़्त इनके सर में गेंद लगी और उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन इनकी ज़िन्दगी नहीं बचाई जा सकी.

    जुल्फिकार भट्टी (पाकिस्तान) – 2013
    जुल्फिकार को एक घरेलू मैच के दौरान बल्लेबाजी करते हुए गए सीने पर लगी और वह गिर गए .खिलाड़ी को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

    रिचर्ड बेऔमोंट (इंग्लैंड) – 2012
    इस क्रिकेटर की अपने क्लब के लिए पांच विकेट लेने के बाद पिच पर कुछ ही क्षणों में मृत्यु हो गयी थी. रिचर्ड ब्यूमोंट अपनी तेज़ गेंदबाज़ी से विरोधी बल्लेबाज़ों को ध्वस्त कर रहे थे की अचानक उन्हें दिल का दौरा पड़ा .उन्हें बर्मिंघम के क्वीन एलिजाबेथ अस्पताल ले जाया गया जहाँ पहुँचने के कुछ ही देर बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

    अलकवीन् जेनकींस ( इंग्लैंड) – 2009
    जेनकींस स्वानसी में सेंट हेलन मैदान में एक खेल में अंपायरिंग कर रहे थे उस दौरान एक क्षेत्ररक्षक द्वारा फेंकी गयी गेंद उन्हें लगी. उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया लेकिन बाद में 72 वर्षीय जेनकींस की मृत्यु हो गई.

    वसीम राजा ( पाकिस्तान) – 2006
    पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी एक सुरुचिपूर्ण बल्लेबाज और उपयोगी गेंदबाज था. सरे में एक 50 ओवर प्रतियोगिता में खेलते हुए वसीम का निधन हो गया था .कुछ ओवर गेंदबाजी करने के बाद उन्होंने बेचैनी की शिकायत की और फिर मैदान पर गिर गए ,दिल का दौरा पड़ने से उनकी मृत्यु हो गयी थी.

    रमन लांबा (भारत) – 1998
    हेलमेट पहने बिना शॉर्ट लेग पर क्षेत्ररक्षण करते हुए भारत के पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के सिर पर चोट लगने से मृत्यु हो गयी थी. दुर्भाग्यपूर्ण घटना के वक़्त रमन लांबा ढाका में एक क्लब मैच में खेल रहे थे. उन्हें घातक मस्तिष्क की चोटों का सामना करना पड़ा और मृत घोषित किए जाने से पहले वह कोमा में चले गए थे.

    इयान फोल्ली (इंग्लैंड) – 1993
    इस बड़ी घटना से पहले एक चोट ने उन्हें खेल से संन्यास लेने के लिए मजबूर किया हालांकि, उन्होंने 1991 में वापसी की लेकिन वर्किंगटन के खिलाफ डर्बीशायर के लिए एक घरेलू मैच में बल्लेबाजी करते हुए आंख के नीचे गंभीर चोट लगी .अस्पताल में एक संवेदनाहारी इलाज के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

    विल्फ़ स्लैक (इंग्लैंड) – 1989
    1988 अंग्रेजी क्रिकेट के मौसम के दौरान विल्फ़ मैदान पर कई बार बेहोश हुए लेकिन संपूर्ण परीक्षण भी इसका कारण पता लगाने में विफल रहा .जनवरी 1989 में गाम्बिया में एक खेल के दौरान 34 वर्ष की आयु में इस खिलाडी का निधन हो गया.

    अब्दुल अजीज (पाकिस्तान) – 1959
    958-59 में कायदे आजम ट्राफी के फाइनल के दौरान 17 वर्षीय इस खिलाडी ने अपनी ज़िन्दगी गवां दी. वह एक ऑफ स्पिनर का सामना कर रहे थे की यभी गेंद उनकी छाती पर लगी, अब्दुल गिर पड़ा और अस्पताल पहुंचने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया.

    एंडी दुकाट (इंग्लैंड) – 1942
    एंडी एक इंग्लैंड और सरे क्रिकेटर और इंग्लैंड के फुटबॉल खिलाड़ी थे. 1942 में उनकी अचानक मौत से पहले वह एक खेल संवाददाता भी थे .लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर एक खेल के दौरान दिल का दौरा पड़ने से इनकी मृत्यु हो गयी थी.

    जॉर्ज समर्स (इंग्लैंड) – 1870
    लॉर्ड्स में एमसीसी के खिलाफ नॉटिंघमशायर के लिए बल्लेबाजी करते हुए जॉर्ज के सिर पर गेंद लगी थी .हालत में सुधार के संकेत मिलने पर वह अस्पताल नहीं गए लेकिन चार दिन बाद चोट के प्रभाव से उनका निधन हो गया.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top