2010 के स्पॉट फिक्सिंग आरोप को सलमान बट ने किया कुबूल - Sportzwiki
क्रिकेट

2010 के स्पॉट फिक्सिंग आरोप को सलमान बट ने किया कुबूल

  • जेंटलमैन का खेल कहे जाने वाले क्रिकेट जैसे लोगप्रिय खेल को इस स्पॉट फिक्सिंग जैसी बीमारी ने अपनी गिरफ्त में फसा रखा है। आइये हम एक नज़र में जानने कि कोशिस करते है कि आखिर ये स्पॉट फिक्सिंग है क्या।  

    क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग, दरअसल, मैच फिक्सिंग से कुछ अलग होती है। जहां मैच फिक्सिंग के लिए पूरी टीम को राजी करना पड़ता है, वहीं स्पॉट फिक्सिंग किसी एक खिलाड़ी के जरिये भी हो सकती है। मैच फिक्सिंग पूरे मैच की हार या जीत के लिए होती है, जबकि स्पॉट फिक्सिंग आमतौर पर एक बॉल या एक ओवर के लिए भी हो सकती है।

    इसी तरह के स्पॉट फिक्सिंग मामले में 2010 के दौरान दोषी पाए गए थे पाकिस्तान के क्रिकेटर सलमान बट। पीसीबी के समक्ष स्वीकार करते हुए पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलमान बट ने बयान दिया है की 2010 के स्पाट फिक्सिंग मामले में बट शामिल थे। 2010 के इस स्पॉट फिक्सिंग मामले में सलमान बट, मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमिर पर प्रतिबंध लगाया गया था।

    पीसीबी के एक सूत्र इस मामले पर रौशनी डालते हुए कहा, बट ने लाहौर में पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान से मुलाकात के दौरान स्वीकार किया कि इंग्लैंड के खिलाफ लार्डस पर चौथे टेस्ट में स्पाट फिक्सिंग कि उन्हें जानकारी थी और वह इसमें शामिल थे । उन्होंने आसिफ और आमिर को नो-बाल डालने के लिये कहा था ।उन्होंने कहा ,‘ बट ने इस पर खेद जताया और कहा कि वह आईसीसी से पूरा सहयोग करने को तैयार है ।सूत्र ने बताया कि बट ने अपना गुनाह तब कबूल किया जब आईसीसी ने पीसीबी से कहा कि वह उसके पिछले बयान से संतुष्ट नहीं है।

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top