यहाँ हम बेशक बात क्रिकेट की करने जा रहे हैं लेकिन इसमें न ही किसी मैच की चर्चा है न ही किसी खिलाडी के रिकॉर्ड की. यहाँ पेश है कुछ क्रिकेटरों की आप बीती, यानि कुछ ऐसी घटनाएं जिसने इन खिलाडियों को इतना डरा दिया कि वह उस लम्हे को कभी नहीं भूल पाये.

1 हैरिस सोहेल

यह किस्सा पाकिस्तान के खिलाडी हैरिस सोहेल से जुड़ा है. क्राइस्टचर्च के होटल में सोहेल अपने कमरे में सो रहे थे, कि तभी उनका बिस्तर अचानक हिलने लगा. घबराये हैरिस  ने बिना समय गवाए टीम के मैनेजर नावीद चीवा को बुलाया. नावीद चीवा के आने तक भी सोहेल सदमे में लग रहे थे. सोहेल यकीन से कह रहे थे कि उनके कमरे में कोई न कोई अदृश्य शक्ति जरूर थी. यह क्रिकेट के इतिहास की सबसे डरावनी घटनाओ में से एक थी.

2 इंग्लैंड क्रिकेट टीम

यह मामला लंदन के लैंघम होटल का है जोकि इंग्लैंड की सबसे डरावनी जगहों में से एक है. इस होटल में आत्माओं के होने की बात से लोगो का जीना मुश्किल हो रहा था. इन लोगों में इंग्लैंड के कुछ क्रिकेटर भी शामिल थे. खिलाडी स्टुअर्ट ब्रॉड ने खुद एक बार कहा था ,”वहां ठहरते हुए एक रात वे तकरीबन डेढ़ बजे उठे तो कमरे में किसी के होने का एहसास हुआ. बाथरूम में पानी भी अपने आप चालू-बंद हो रहा था.” इसके अलावा अन्य खिलाडियों एलिस्टेयर कुक और बेन स्टोक्स भी उस होटल में ठहरे हैं. बुरी शक्तियों के प्रभाव व् उनसे डर के कारण मोइन अली की पत्नी सहित इंग्लैंड के कई क्रिकेटरों की पत्नियों ने उस होटल में रहने से मना कर दिया था. कहा जाता है कि इस 150 साल पुराने होटल में कई आत्माएं हैं जिस कारण इसे इंग्लैंड का डरावना होटल कहा जाता है.

3 शेन वाटसन

ये घटना ऑस्ट्रेलियाई खिलाडी से सम्बंधित है. शेन वाटसन ने खुद कहा था कि उन्होंने लुम्ली कैसल में कुछ देखा था लेकिन फिर कहते हैं कि शायद ये उनका वहम हो. ख़ैर जो भी हो पर किस्सा क्या है आइये जानते हैं. लुम्ली कैसल में लिली की कहानी सुन सुन कर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी परेशान हो गए थे. ये घटना 14वें सदी की है, लिली के बारे में कहा जाता है कि उन्हें दो पादरियों ने कुएँ में फ़ेंक दिया था क्योंकि वो कैथोलिक नही बनना चाहती थी. इस दौरान उसके पति युद्ध में लड़ रहे थे. तब से कहा जाता है कि उसकी आत्मा रोज़ कुएँ से निकल कर कैसल में घूमती है.

कहा जाता है कि यहाँ रहने के दौरान डर के कारण शेन वाटसन अपने कमरे को छोड़कर ब्रेट ली के कमरे में जाकर सो गए थे फिर उसके बाद उन्हें 46 नंबर का कमरा दिया गया. ये 46 नंबर कमरा वही है जहाँ लिली को मारने से पहले परेशान किया गया था. अन्य सूत्रों का कहना है कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को शुरू से ही 46 नंबर का कमरा मिला था जहाँ उन्होंने अपने बिस्तर के पास लिली की आत्मा को देखा और वो बेहद डर गए जिसके बाद ही वह अपने साथी के कमरे में जाकर सोये.

4 फिरोजशाह कोटला के जिन्न

फिरोजशाह कोटला भारत के प्रमुख स्टेडियम में से एक है. इस एतिहासिक स्टेडियम के पास ही सुल्तान फ़िरोज़ शाह तुगलक के किले के अवशेष हैं. ऐसी अफवाहें हैं कि इस स्टेडियम के आसपास कुछ अदृश्य शक्तियों का वास है. इन अदृश्य शक्तियों को कोटला का जिन्न कहा जाता है जिनके पास लोग अपनी प्राथनाये करते हैं और अपनी समस्याओं को एक कागज़ पर लिखकर देते हैं. ये प्रथा 1970 से शुरू हुई थी जब एक फ़क़ीर लड्डू शाह उन अवशेषों में आकर रहने लगे थे. इसके बाद से ही हर वीरवार को लोग यहाँ आकर जिन्नों के सामने अपनी समस्याएं रखते हैं.

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    वीडियो: यॉर्कशायर ने शेयर किया इस सदी के सर्वश्रेष्ठ कैच की वीडियो, 130 साल...

    क्रिकेट के इतिहास में हमेशा से कई हैरान कर देने वाले कैच लिये है. वही हाल में ही बिग बैश में । मेलबर्न रेनीगेड्स के...

    बल्ले पर सिएट के लोगो के साथ खेलेंगी हरमनप्रीत

    नई दिल्ली 22 जनवरी; सिएट लिमिटेड ने सोमवार को महिला क्रिकेट में ऑलराउंडर के तौर पर सर्वाधिक सफल खिलाड़ी- हरमनप्रीत कौर के साथ आगामी दो...

    WWE NEWS: हॉल ऑफ फेमर बनाये जाने के बाद गोल्डबर्ग ने खोला कंपनी के...

    गोल्डबर्ग WWE के इतिहास के सबसे धाकड़ रेस्लरो में गिने जाते हैं, हाल ही में WWE ने इस बात की घोषणा की थी कि...

    किसने कहा: “अंडरटेकर 4000 साल तक लड़ते रहेंगे और मैं उनकी सबसे ज्यादा इज्जत...

    अंडरटेकर ना केवल WWE के बल्कि पूरे रेस्लिंग जगत के सबसे सम्मानित रेस्लरो में गिने जाते हैं, उन्होंने अपने लम्बे रेस्लिंग करियर में बहुत...

    भारतीय मूल के इस कनाडाई क्रिकेटर ने किया ऐसा कारनामा, जो आज से पहले...

    वर्तमान में न्यूजीलैंड के देश में अंडर-19 विश्व कप खेला जा रहा है. जहां आज 22 जनवरी को भी कनाडा की अंडर-19 टीम और...