आईसीएल ने ख़त्म कर दिया इन 5 क्रिकेट खिलाडियों का करियर - Sportzwiki
क्रिकेट

आईसीएल ने ख़त्म कर दिया इन 5 क्रिकेट खिलाडियों का करियर

  • खेल डेस्क, कई सालों पहले क्रिकेट के खेल में एक ऐसी क्रिकेट लीग शुरू की गयी थी जिसमे कई देशों के खिलाडी शामिल हुए थे. इस लीग का नाम था इंडियन क्रिकेट लीग. शुरूआती समय में इस लीग को काफी प्रशंसक मिले लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया वैसे ही इस लीग के बुरे दिन शुरू हो गए. पहले भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने इस लीग पर बैन लगाया फिर आईसीसी ने और अंततः कई देशों ने इस लीग पर अपने खिलाडियों के शामिल होने पर रोक लगा दी. रोक के बावजूद भी जिन खिलाडियों ने इसमें हिस्सा लिया उन्हें अंतर्राष्ट्रीय टीम से निकाल दिया गया. यहाँ आइये ऐसे ही पांच क्रिकेट खिलाडियों के नाम के बारे में जानते हैं जिनका करियर आईसीएल ने बर्बाद कर दिया –

    आफताब अहमद

    बांग्लादेश के अफ्ताभ अहमद एक अच्छे खिलाडियों में शामिल थे. उन्होंने बांग्लादेश के लिए महज 19 वर्ष की उम्र में पदार्पण किया था. इसके साथ ही आफताब ने 85 वनडे और 16 टेस्ट मैच खेले लेकिन आईसीएल में खेलने की वजह से उन्हें फिरसे बांग्लादेश की अन्तराष्ट्रीय टीम में मौका नहीं दिया गया.

    रोहन गावस्कर

    लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर के बेटे रोहन गावस्कर का करियर भी आईसीएल ने बर्बाद कर दिया. रोहन ने भारतीय टीम के लिए साल 2004 में खेलना शुरू किया था. ऑस्ट्रेलिया टीम के विरूद्ध मैच में उन्होंने अर्धशतक भी जमाया लेकिन ज्यादा रन बनाने में कामयाब नहीं हो सके. कई मैच खेलने के बाद रोहन ने आईसीएल में खेलने का निर्णय किया.

    जस्टिन केम्प

    दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान जस्टिन केम्प ने आईसीएल में उस समय हिस्सा लिया जब वे अपने अच्छे प्रदर्शन से गुज़र रहे थे. हालाँकि आईसीएल में दो साल बर्बाद करने के बाद उनपर से दक्षिण अफ्रीकी बोर्ड ने बैन हटा लिया लेकिन वे फिरसे कामयाबी चखने में नाकामयाब रहे.

    मोहम्मद समी

    पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज मोहम्मद समी उन पाकिस्तानी खिलाडियों में से एक थे जिन्होंने अपनी गेंदबाजी से पूरे विश्व में छाप छोड़ी थी. उन्होंने अपने पूरे इंटरनेशनल करियर में कुल 220 विकेट चटकाए थे. इसके बाद आईसीएल में हिस्सा लेने के बाद उनके खेल में ब्रेक लगा गया जिससे वे कभी फिर उबर नहीं सके.

    शेन बांड

    शेन बांड एक समय न्यूज़ीलैण्ड के सबसे सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज माने जाते थे. उन्होंने अपनी तेज़ गेंदों से कई दफे टीम को जीत दर्ज करवाने में अहम् भूमिका निभाई थी. हालाँकि उन्होंने आईसीएल में हिस्सा लेने के बाद टीम के लिए उपलब्ध हो सके थे लेकिन चोट के चलते उनका करियर पूर्णतः समाप्त हो गया.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top