साउथ अफ्रीका का भारत से हारने के 5 मुख्य कारण - Sportzwiki
क्रिकेट

साउथ अफ्रीका का भारत से हारने के 5 मुख्य कारण

  • 22 फरवरी को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गये, भारत और साउथ अफ्रीका मैच में भारत ने साउथ अफ्रीका को 130 रनों से हरा कर, अपने ग्रुप में टॉप पर बना हुआ है, वही साउथ अफ्रीका यह मैच हार कर पाकिस्तान की तरह ही परेशान नजर आ रही है.

    यहाँ पर हम साउथ अफ्रीका के हारने के 5 मुख्य कारणों पर एक नजर डालते है:

    1.धवन का कैच छोड़ना:

    वैसे तो साउथ अफ्रीका शानदार फील्डिंग के मामले में विश्व विख्यात है, लेकिन कल साउथ अफ्रीका के अच्छे बल्लेबाजो में से एक गिने जाने वाले हासिम अमला ने शिखर धवन का कैच छोड़ दिया, जबकि ऐसा नहीं था, कि वो कैच न लिया जा सके, उस समय धवन 53 रनों पर खेल रहे थे, लेकिन उस जीवनदान का फायदा उठा कर उन्होंने 137 रनों का विशाल स्कोर बनाया.

    2.वर्नोन फिलैंडर की हैमस्ट्रिंग चोट:

    फिलैंडर, डेल स्टेन और मोर्कल के साथ साउथ अफ्रीका की तरफ से मजबूत गेंदबाजी के स्तम्भ माने जाते है, लेकिन चोट की वजह से फिलैंडर सिर्फ 4 ओवर ही गेंदबाजी कर सके, जिससे स्टेन और मोर्कल पुरे दिन गेंदबाजी करते हुये परेशान नजर आये, हालाँकि फिलैंडर बाद में बल्लेबाजी के लिये आये लेकिन कप्तान डिविलियर्स को उनकी कमी पुरे मैच के दौरान महशूस होती रही.

    3.साउथ अफ्रीकन बल्लेबाजो का न चलना:

    फाफ डूप्लेसिस को छोडकर कोई भी बल्लेबाज रन बनाने में कामयाब ना हो सका, कप्तान डिविलियर्स और मिलर का रन आउट होना भारत की जीत का मुख्य वजह बना, इन दोनों बल्लेबाजो ने अतिरिक्त रन लेने के चक्कर में अपने बहुमूल्य विकेट गवाये.

    4.एबाट की जगह पर्नेल को टीम में शामिल करना:

    कप्तान डिविलियर्स ने एबाट जैसे अच्छे खिलाड़ी के बाद भी पर्नेल को अंतिम एकादश में शामिल किया जिन्होंने 9 ओवर में 85 रन दिये, जबकि एबाट को उनके शानदार प्रदर्शन के लिये जाना जाता है, एबाट, स्टेन और मोर्कल के साथ अच्छी गेंदबाजी कर सकते थे.

    5.भारत को हल्के में लेना:

    साउथ अफ्रीका ने पुरे मैच के दौरान प्रोफेशनल मैच नहीं खेला, उनकी गेंदबाजी और फील्डिंग से साफ़ नजर आ रहा था, कि वो भारत को हल्के में ले रहे है, उन्हें लगता था, वो भारत से आसानी से जीत सकते है, उन्होंने भारत की बल्लेबाजी और गेंदबाजी को हल्के में लेने की कोशिश की.

     

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top