अगर साउथ अफ्रीका इन 5 बातो पर ध्यान रखती है, तो न्यूज़ीलैंड को हरा सकती है - Sportzwiki
क्रिकेट

अगर साउथ अफ्रीका इन 5 बातो पर ध्यान रखती है, तो न्यूज़ीलैंड को हरा सकती है

  • अब हम सिर्फ तीन मैच दूर है, जब हमें पता चल जाएगा की इस साल का विश्वकप कौन जीतेगा?. पहलें सेमीफाइनल में कल न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका का मुकाबला होगा. और पहली बार कोई एक टीम फाइनल में पहुंचेगी, लेकिन कोई एक टीम फिर सें चोक करेगी. हम इस आर्टिकल में बता रहें हैं, कि अगर अफ्रीका को फाइनल में पहुंचना है, तो उन्हें क्या करना होगा.
    1.चोक करनें सें बचना होगा:
    पहली चीज हमारे दिमाग में यही आती है, कि कही अफ्रीका फिर सें चोक ना करें. 1999 का वो एलेन डोनाल्ड का आँस्ट्रेलिया कें खिलाफ रन आऊट, 2011 विश्वकप में न्यूजीलैंड कें खिलाफ क्वार्टर फाइनल मैच में 222 रन का लक्ष्य चेस ना कर पाना, अफ्रीका सिर्फ इस मैच को एक ही तरीके सें जीत सकती हैं, और वो ये है, कि वो सिर्फ इस मैच को एक सामान्य वनडे की तरह खेलें तो.
    2.सही टीम चुनना:
    अफ्रिका को सेमीफाइनल में टीम चुननें में, खिलाडीयों कें कद को नहीं बल्कि उनकें हालिया फाँर्म को देखकर चुनना चाहिए. एक तो एबाट को फिलेंडर की जगह खिलाना होगा, और पांचवें गेंदबाज कें रुप में आकलैंड जैसी शार्ट ग्राउंड पर बेहारडीन को खिलाना खतरनाक होगा.
    3.मंध्यक्रम को डिविलीयर्स का साथ देना होगा:
    ग्रुप दौर में भारत और पाकिस्तान कें खिलाफ हार की वजह अफ्रिकन मंध्यक्रम था, और उनका डिविलियर्स को साथ ना देना था, उनको इससें सीख लेकर खेलना होगा, और 2011 कें क्वार्टर फाइनल में भी अफ्रीका के हार की वजह उनका मंध्यक्रम था.
    4.न्यूजीलैंड कें सलामी बल्लेबाजों को जल्दी आऊट करना होगा:
    अफ्रीका का श्रीलंका कें उपर जीत का राज यें था, कि उन्होंने दिलशान को जल्दी आऊट किया. अगर स्टेन और उनकें साथी मैकुलम और गुपिटल को जल्दी आऊट करनें में नाकाम रही, तो उन्हें बहुत परेशानी होगी. दोनो सलामी बल्लेबाजों नें इस विश्वकप में ऐसा करकें भी दिखाया है, और गुपिटल का दोहरा शतक सबको याद होगा ही. तो अफ्रिकन गेंदबाजों को न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाजों को जल्दी आऊट करना ही होगा.
    5.पांचवें गेंदबाज पर आक्रमण करना होगा:
    पांचवा गेंदबाज न्यूजीलैंड की एक कमजोरी हैं, कोरी एंडरसन वैसें एक अच्छे गेंदबाज हैं, लेकिन स्पिड कम होनें कि वजह सें उन्हें रन गवाने पड़ते है. अफ्रिका को सिर्फ शुरुआत कें कुछ ओवर खेलने होंगे बाद मे वे पांचवे गेंदबाज पर आक्रमण कर सकतें है, और उनकें पास कोई छटा गेंदबाज भी अच्छा नहीं हैं.
    उपर जो पांच बातें बताई गयी है, उस पर अफ्रीका को अमल करना चाहिए, और अगर वें इसमें कामयाब होतें है, तो वें फाइनल में पहुंच सकतें है.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Most Popular

    Top