क्रिकेट में बल्लेबाज़ व् गेंदबाज़ी की तरह फील्डिंग भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. अगर बढ़िया फील्डिंग की जाए तो खेल का रुख ही बदला जा सकता है. कई खिलाडियों ने फील्डिंग में खुद को बखूबी साबित किया है खास कर फॉरवर्ड शॉर्ट लेग पर फील्डिंग करना कोई आसान काम नहीं. बल्लेबाज़ व् फील्डर के बीच थोड़ी दूरी होने के कारण ये काफी खतरनाक भी है क्योंकि गेंद एक दम तेज़ गति से हिट करती है. इस पोजीशन पर रहते हुए कई फील्डर्स ने कई बेहतरीन कैच पकड़कर बल्लेबाज़ों को आउट किया है. आइये देखते हैं क्रिकेट के इतिहास में क्रीज़ के पास के 7 सबसे बहादुर फील्डर्स कौन हैं-

# 1 एकनाथ सोलकर
अपने असाधारण क्षेत्ररक्षण के लिए जाने जाने वाले एकनाथ धोंडू सोलकर यकीनन भारत के सबसे बड़े फॉरवर्ड शॉर्ट लेग फील्डरों में से एक थे. 1970 के दशक में ये भारतीय टीम के एक सफल खिलाडी रहे. वीडियो में देखिये उनका एक ख़ास कैच.

# 2 ब्रायन क्लोज

फॉरवर्ड शॉर्ट लेग व् बल्लेबाज़ के नज़दीक फील्डिंग करने में ब्रायन बिलकुल नीडर किस्म के फील्डर थे और यहां तक कि उन्होंने एक हेलमेट या किसी अन्य सुरक्षा गार्ड पहनने की जहमत भी नहीं उठाई. जबकि बल्लेबाजी में भी इन्होने समान रवैया दिखाया और हेलमेट के बिना ही बल्लेबाजी की. इन्हे अक्सर अपनी बल्लेबाजी या क्षेत्ररक्षण के दौरान लगी चोट के निशान और घाव के साथ ड्रेसिंग रूम में देखा जाता था.

# 3 डेविड बून
बून एक पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर हैं जोकि 1984-1996 तक अपनी टीम के लिए खेले. फील्डिंग के दौरान अपनी गति और चपलता के साथ वह बल्लेबज़ो को ही अचंभित कर देते थे. डेविड बून ने शानदार 99 कैच के साथ अपना करियर समाप्त किया.

 

# 4 ऑगस्टाइन लोगी
यहाँ पेश है क्षेत्ररक्षण के लिए मैन ऑफ़ द मैच का पुरस्कार जीतने वाला एक फील्डर. वेस्टइंडीज के पूर्व खिलाडी ऑगस्टाइन लोगी एक शानदार फील्डर रहे हैं. जब यह फॉरवर्ड शॉर्ट लेग पर मौजूद हो तो बल्लेबाज़ शायद ही कोई बल्लेबाज़ पुल शॉट खेलने की हिम्मत करता होगा. वनडे क्रिकेट में भी लोगी एक शानदार फील्डर रहे और असंभव कोणों से भी स्टंप को हिट करने की क्षमता रखते थे.

# 5 टोनी लॉक

टोनी लॉक एक उत्कृष्ट गेंदबाज और इससे भी बेहतर एक क्षेत्ररक्षक थे. लॉक एक बाएं हाथ के स्पिनर के रूप में एक अंग्रेजी क्रिकेटर थे. वास्तव में वह मैदान पर कहीं भी क्षेत्ररक्षण कर सकते थे वो भी बहुत तेज और सटीकता के साथ. लॉक ने अपनी असाधारण गेंदबाजी के माध्यम से अधिक ख्याति हासिल की. इन्होने 1952-56 के बीच 250 से अधिक कैच लिए थे.

# 6 सर गैरी सोबर्स

सोबर्स आज भी क्रिकेट में सबसे बड़े ऑलराउंडर के रूप में जाने जाते हैं. सोबर्स 1954 और 1974 के बीच वेस्टइंडीज के लिए खेलने वाले एक पूर्व क्रिकेटर हैं. इनकी बल्लेबाज़ी व् गेंदबाज़ी की तरह इनकी फील्डिंग का भी कोई जवाब नहीं विरोधियों पर हावी होने के लिए ये हर तरह से बेहतरीन फील्डिंग को अंजाम देते थे.

# 7 यजुरविन्द्र सिंह

एक भारतीय क्रिकेटर जिन्होंने केवल चार टेस्ट खेले हैं वो पिछले महीने तक संयुक्त रूप से दो विश्व रिकॉर्ड रखने वाले खिलाडी थे. हालाँकि अब अजिंक्य रहाणे ने एक टेस्ट पारी में सबसे ज्यादा कैच का संयुक्त रिकॉर्ड तोड़ दिया है. भारत के लिए अपना पहला टेस्ट खेलने के दौरान सिंह ने 7 कैच पकडे थे.

  • SHARE

    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    नागपुर टेस्ट मैच में 3 विकेट लेने वाले रविन्द्र जडेजा ने नागपुर की पिच...

    भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच आज शुरू हुआ। नागपुर के जामठा मैदान में खेले जा रहे...

    RUMOUR: रोमन रेन्स नहीं बल्कि स्मैकडाउन का यह रेस्लर बनेगा अगले साल होने वाली...

    WWE हर महीने कोई ना कोई बड़ा पे पर व्यू इवेंट कराती ही है ताकि ज्यादा से ज्यादा फैन्स उनसे जुड़े रह सके. अगर...

    किसने क्या कहा: नागपुर टेस्ट के पहले दिन रविन्द्र जडेजा को नो बॉल फेंकना...

    आज शुक्रवार, 24 नवम्बर को भारत और श्रीलंका के बीच खेली जा रही तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच नागपुर के...

    IND v SL: नागपुर टेस्ट : भारतीय गेंदबाजों के फेर में फंसी श्रीलंकाई टीम

    नागपुर, 24 नवंबर (आईएएनएस)| श्रीलंकाई टीम यहां विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन भारतीय गेंदबाजों...

    लम्बे समय बाद अंतिम एकादश में वापसी करने वाले इशांत शर्मा ने विराट कोहली...

    भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन मैदान में शुक्रवार को शुरू हुआ।...