फुटबॉल और क्रिकेट दुनिया के दो सबसे लोकप्रिय खेल हैं…लोग इन खेलो के दीवाने हैं और खेल व् खिलाडियों से सम्बंधित जानकारी रखना भी पसंद करते हैं पर क्या आप जानते हैं कि फुटबॉल की कुछ ऐसी अनोखी विशेषतायें हैं जो कि क्रिकेट से गायब हैं …जानिए क्या है वो

अंतर्राष्ट्रीय और क्लब

फुटबॉल की दुनिया में क्लब एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं जबकि क्रिकेट ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय मैचों पर आधारित है , फुटबॉल में राष्ट्रिय टीम्स एक पूरे सीजन में पांच या छह बार खेलती हैं . फुटबॉल खिलाड़ी को उनके संबंधित क्लबों आमदनी मिलती है जबकि क्रिकेट खिलाड़ियों को उनके राष्ट्रीय शासी निकाय द्वारा भुगतान किया जाता है . इन दो खेल के बीच यह सबसे महत्वपूर्ण विशेषताओं में से एक है.फुटबॉल खिलाड़ी अपने व्यक्तिगत क्लबों के नियंत्रण में रहते हैं जिन्होंने उन्हें साइन किया होता है ,अनुबंध समाप्त होने के बाद फुटबॉल खिलाड़ी स्वतंत्र हो जाता है और अन्य क्लब में जा सकता है. लेकिन क्रिकेट एक राष्ट्र उन्मुख खेल है व् खिलाडियों के पार ऐसा कोई विकल्प नहीं है.

कप्तान की भूमिका

फुटबॉल में हर सामरिक निर्णय मुख्य रूप से मैनेजर या कोच द्वारा लिया जाता है जबकि क्रिकेट में यह कप्तान पर निर्भर होता है. इसके अलावा फुटबॉल में प्रबंधक आवश्यक के अनुसार मैच के दौरान प्रतिस्थापन करने के लिए प्रभारी होता है. वहीँ क्रिकेट में मैदान पर रणनीति टीम के कप्तान द्वारा निर्धारित की जाती है और एक टीम की सफलता कप्तान की क्षमताओं पर निर्भर होती है.

सत्र/ मैचों की निरंतरता
फुटबॉल के क्लब से जुड़े होने के कारन निरंतरता बानी रहती है. दुनिया भर में फुटबॉल लीग तक़रीबन 8-10 महीनो की अवधि के लिए चलता है. लीग आम तौर पर अगस्त के दौरान शुरू होती है और मई में समाप्त होती है. दूसरी ओर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट आम तौर पर एक श्रृंखला के आधार पर खेला जाता है और साल भर में कभी भी हो सकता है,क्रिकेट के लिए कोई विशेष मौसम/सत्र निर्धारित नहीं है.

खेल के दौरान बुकिंग

फुटबॉल में खिलाडी अक्सर शारीरिक संघर्ष में शामिल होते है व् गोल स्कोरिंग से प्रतिद्वंद्वी को रोकने के लिए शारीरिक रूप से उन्हें रोकना पड़ता है. इस दौरान कभी कभी मैदान पर खिलाडियों के बीच मामला गरमा जाता है और फिर रेफरी इसमें एहम भूमिका निभाता है . रेफरी के पास एक पीला कार्ड और लाल कार्ड होता है पीला कार्ड एक खिलाड़ी के लिए एक चेतावनी का प्रतीक है जबकि लाल कार्ड खिलाडी को तुरंत मैदान छोड़ने का निर्देश देता है .

ये वीडियो देखिये इसमें पाकिस्तानी क्रिकेटरों और क्षेत्र अंपायर के बीच क्षेत्र विवाद दिखाया गया है. फुटबॉल की तरह क्रिकेटरों को इस तरह की घटनाओं के लिए मैदान छोड़ने के लिए नहीं कहा जाता .

प्रारूप

क्रिकेट में जर्सी द्वारा खेल के तीन विभिन्न स्वरूपों को दर्शाया गया है. रंगीन जर्सी छोटे प्रारूप के लिए इस्तेमाल की जाती है टेस्ट क्रिकेट के लिए सफेद जर्सी .दूसरी ओर फुटबॉल का केवल एक प्रारूप है और यह 90 मिनट के लिए खेला जाता है. क्रिकेट में 50 -50 ओवरों का प्रारूप है, और टी 20 के 20 ओवरों का प्रारूप जबकि फुटबॉल में एक ही प्रारूप चलता आरहा है.

अतिरिक्त समय

फुटबॉल में 90 मिनट के बाद एक अतिरिक्त समय भी दिया जाता है जबकि क्रिकेट में ऐसा नहीं है. फुटबॉल में अक्सर खिलाडियों को छोटे लगती रहती है और कई फ़ाउल भी होते हैं जिसकी वजह से खेल प्रभावित होता है और इस खोये समय की भरपाई के लिए खेल के नियमों में अतिरिक्त समय का प्रावधान है.

क्षेत्र का आकार

फुटबॉल के मैदान के आकार रेक्टैंगुलर /आयताकार होता है जबकि क्रिकेट का मैदान भिन्न हो सकता है. एक फुटबॉल पिच का माप आम तौर पर बदलता हैं, लम्बी साइड्स क्षेत्र की टच लाइन्स होती हैं जबकि छोटी साइड्स गोयल लाइन्स होती हैं. टच लाइन्स 90-120 मीटर तक बदलती हैं जबकि गोयल लाइन 45-90 मीटर के बीच भिन्न होसकती हैं. क्रिकेट में मैदान गोल या अंडाकार हो सकता है

  • SHARE

    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    VIDEO: जब स्टोन कोल्ड, ब्रोक लेसनर की बीवी के साथ बाथरूम में कर बैठे...

    WWE के इतिहास में स्टोन कोल्ड और ब्रोक लेसनर सबसे बड़े रेस्लर समझे जाते हैं, जिन्होंने पूरी दुनिया में अपना नाम कमाया है, लेकिन...

    रिकी पोंटिंग ने चुनी अपनी ‘एशेज ड्रीम इलेवन ऑस्ट्रेलिया टीम’ ब्रैडमैन व खुद को...

    23 नवंबर गुरुवार से ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीम के बीच 2017-18 की एशेज सीरीज का आगाज होना है. इस एशेज सीरीज के आगाज...

    ….तो अब एशेज में भी खेलते दिखेंगे विराट कोहली?

    क्रिकेट में हमेशा से एशेज सीरीज का अपना ही महत्त्व हैं. हर क्रिकेट फैन एशेज का किसी न किसी वजह से फैन हैं. इसी...

    आंकड़े: वनडे में विराट कोहली से भी बेहतर है यह भारतीय खिलाड़ी लेकिन नहीं...

    भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवर के उपकप्तान और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा इन दिनों तो भारतीय टीम के लिए सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी बन...

    VIDEO: WWE के मालिक विन्स मैकमोहन ने पार की बेशर्मी की सारी हदे, इस...

    विन्स मैकमोहन आज के समय में जितने दिमाग वाले लगते हैं एक समय में उतने ही कम अक्ल वाले काम किया करते थे. आज...