भारतीय क्रिकेट बोर्ड और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउन्सिल के बीच काफी समय से मन मुटाव चलता आ रहा है. बीसीसीआई ने बुधवार को धमकी दी कि टीम इंडिया अगले साल होने वाली चैंपियंस ट्राफी से नाम वापस ले लेगी. दरअसल बीसीसीआई को आईसीसी ने कुछ दिन पहले हुए दुबई में फाइनेंस कमिटी की बैठक से बाहर रखा था, इसलिए बीसीसीआई की तरफ से यह बड़ा बयान दिया गया है.

यह भी पढ़े : न्यूज़ीलैण्ड ने भारत दौरे के लिए टीम का किया ऐलान, कीवी ऑल राउंडर की हुई टीम में वापसी

हाल फिलहाल में बीसीसीआई और आईसीसी के विचारों में काफी अंतर था, बीसीसीआई ने पहले ही आईसीसी के ‘बिग थ्री’ को हटाने को लेकर अपनी नाराज़गी जताई है. जिसके मुताबिक भारत को सबसे ज्यादा रेवन्यू मिलना था इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के साथ.

अजय शिर्के, बीसीसीआई के सेक्रेट्री ने Indianexpress को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि कमिटी से बाहर करना हमारे लिए शर्मनाक है.

“यह ऐसी कमिटी हैजहा सभी बड़े निर्णय लिए जाते है, फाइनेंस कॉमर्स और चीफ एग्जीक्यूटिव की मीटिंगस, इसमें अगर भारत का कोई प्रतिनिधित्व करने वाला नहीं होगा तो यह हामरे लिए शर्मनाक है. हम आईसीसी से कहेंगे की या तो इसे ठीक करा जाये या फिर हम खुद यह तय करेंगे की क्या किया जाये जिससे भारतीय क्रिकेट विश्व में बना रहे. और यह कुछ भी हो सकता है शयद हम चैंपियंस ट्राफी में हिस्सा ना ले, लेकिन अगर सब सही निर्णय लिए गए तो हमे ऐसा कदम उठाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी. लेकिन अभी और भी कई रास्ते है.”

रिपोर्ट्स के अनुसार शिर्के ने आईसीसी से यह भी कहा कि अगर भारतीय क्रिकेट बोर्ड को इसी तरह से अनदेखा किया गया तो फिर हमे अलग रास्ते ढूंढने होंगें.

यह भी पढ़े : न्यूज़ीलैंड के खिलाफ अपना पहला डे-नाइट टेस्ट खेलेगा भारत : अनुराग ठाकुर

“मौजूदा समय में हमे आईसीसी से जो शिकायत है वो यह है कि आजकल आईसीसी एक डिक्टेटर की तरह व्यव्हार कर रही है.बिग थ्री मॉडल की बात ना करे तो आईसीसी धीरे धीरे बीसीसीआई को अलग करता जा रहा है” एक बीसीसीआई सूत्र ने यह कहा.

“दुर्भाग्यपूर्ण है कि बीसीसीआई को आईसीसी की फाइनेंस कमिटी में जगह नहीं दी गयी जबकि आईसीसी का 70 प्रतिशत आमदनी हमारे कारण ही होती है. तो हमे क्यों जगह नहीं दी गयी? यह कोई दादागिरी की बात नहीं है लेकिन क्या आईसीसी रोबिन हुड बनने की कोशिश कर रही है, अमीरों से पैसे लूट कर गरीबों में बात रही है?”

बीसीसीआई पहले ही इंग्लैंड को चैंपियंस ट्राफी के लिए 135 मिलियन डॉलर के बजट दिए जाने से नाराज़ है जबकि भारत को इसी साल हुए ट्वेंटी ट्वेंटी विश्वकप आयोजित करने के लिए 45 मिलियन डॉलर दिए गए थे.

बीसीसीआई के सूत्र ने बताया कि बोर्ड इस बात से भी नाराज़ है कि चैंपियंस ट्राफी में केवल 15 मैच खेले जाने है जबकि भारत ने 58 मैच आयोजित कराये थे.

यह भी पढ़े : महेन्द्र सिंह धोनी की बायोपिक में भाई और भाभी को नहीं मिली जगह, जाने कैसी है अब उनकी लाइफ

बीसीसीआई और आईसीसी के बीच रेवन्यू को लेकर काफी समय से अनबन चल रही है, पहले ही बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर यह कह चुके है कि रेवन्यू के मामले में कोई भी ढील नहीं छोड़ी जाएगी.

  • SHARE
    सभी खेलों में दिलचस्पी है लेकिन सबसे पसंदीदा खेल क्रिकेट, पसंदीदा खिलाड़ी विराट कोहली और नोवाक जोकोविच.

    Related Articles

    FACTS: ये हैं WWE से जुड़े वो काले सच जिन्हें जानकार आपका भी बदल...

    अगर आप WWE के फैन हैं तो ये बात अच्छी तरह से जानते होंगे कि इस तरह की रेस्लिंग स्क्रिप्टेड कैटेगरी में आती है...

    सनराइजर्स हैदराबाद के कोच मूडी ने पाकिस्तान की इस टीम से मिलाया हाथ, मिली...

    वकार और वसीम अकरम की घातक जोड़ी के पुनर्मिलन के प्रयास में पाकिस्तान सुपर लीग की फ्रेंचाईजी टीम मुल्तान सुल्तान ने अपने कोच के...

    तीसरे वनडे से पहले भारत के लिए आई बुरी खबर, तीसरे वनडे में खेलेगा...

    भारत और ऑस्ट्रेलियाई टीम के बीच खेली जा रही पेटीएम सीरीज में भारतीय टीम ने अभी 2-0 की बढ़त बना रखी है और अब...

    TOP 5: WWE के इन रेस्लरो को मास्क के साथ करनी चाहिए अपनी वापसी,...

    WWE में वापसी को लेकर फैन्स हमेशा ही उत्साहित दिखते हैं क्योंकि वापसी से उन्हें हर बार रेस्लरो के नये रूप देखने में मिलते...

    WWE NEWS: नो मर्सी के इवेंट मैच को लेकर बड़े कंफ्यूजन में हैं विन्स...

    WWE का अगला पे पर व्यू इवेंट नो मर्सी है और यह इवेंट 24 सितम्बर ( भारत में 25 सितम्बर ) को टेलीकास्ट किया...