वेस्ट इंडीज़ को हराना नहीं दर्शाता की टीम है अच्छी : मैकग्राथ - Sportzwiki
इंटरव्यूज

वेस्ट इंडीज़ को हराना नहीं दर्शाता की टीम है अच्छी : मैकग्राथ

  • ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज तेज़ गेंदबाज़ ग्लेंन मैकग्राथ भारतीय टीम की सीरीज़ जीत से कुछ खास प्रभावित नहीं है, मैकग्राथ जिन्होंने वेस्ट इंडीज़ के दिग्गजों के साथ क्रिकेट खेला है, उनका मानना था कि यह वो वेस्ट इंडीज़ टीम नहीं है जिसने विश्व क्रिकेट पर राज किया था और मौजूदा भारतीय टीम बहुत बेहतर है.

    भारतीय टीम ने हाल ही में श्रीलंका और साऊथ अफ्रीका जैसी टीमों के खिलाफ सीरीज़ जीती और अब वेस्टइंडीज़ का नाम भी विराट कोहली की कप्तानी में मिली सीरीज़ जीत में जुड़ गया है, भारतीय टीम ने इस श्रृंखला में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन, ग्लेन मैकग्राथ इससे प्रभावित नहीं है और वो इस भारतीय टीम से और अच्छा प्रदर्शन देखना चाहते है.

    यह भी पढ़े: शास्त्री पर बीसीसीआई का गम्भीर आरोप, देश नहीं बल्कि इसके लिए बनना चाहते थे भारतीय कोच

     

    “भारतीय टीम ने बेशक शानदार प्रदर्शन किया है और वो इस सीरीज़ जीत से उनका आत्मविश्वास भी काफी बढ़ेगा लेकिन उन्हें यह समझना होगा कि ये वो ताकतवर वेस्ट इंडीज की टीम नहीं है और इस टीम को हरा कर सीरीज़ जीतना ये बिलकुल भी नहीं दर्शाता कि भारतीय टीम कितनी मज़बूत है, और अब भारतीय टीम को न्यू ज़ीलैण्ड और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ खेलनी है जो कि भारत में ही होनी है जहाँ उन्हें हराना बेहद मुश्किल होने वाला है.”

     

    भारतीय कप्तान विराट कोहली के बारे में बात करते हुए मैकग्राथ का कहना था कि विराट एक लाजवाब खिलाड़ी है और इस सीरीज़ में उनके बल्ले से इतने रन नहीं निकले जितने हम चाहते थे. अनिल कुंबले के ड्रेसिंग रूम में होना इन युवा खिलाड़ियों के लिए बहुत अच्छी बात है, क्यूंकि कुंबले एक बहुत बड़े दिग्गज है और उनकी पूरी टीम इज्ज़त करती है.

    यह भी पढ़े: विराट कोहली और टीम इंडिया कों मिला घर का विभीष्ण, भारत करेगा वेस्टइंडीज फतेह

    “मुझे लगता है कि विराट इस सीरीज में अपना सर्वश्रेष्ट नहीं दे पाए है लेकिन वो एक बेहतरीन खिलाड़ी है. कुंबले का टीम से जुड़ना इस टीम के लिए बहुत फायदेमंद साबित होने वाला है, क्यूंकि आपको जोश के साथ फाइटिंग स्पिरिट भी चाहिए. कुंबले और विराट दोनों अभी अभी अपने करियर के इस नए पड़ाव पर आये है और दोनों में काफी उर्जा है टीम को नई ऊंचाई तक पहुँचाने में. भारतीय टीम के लिए आगे की राह बेहद अच्छी नज़र आ रही है.”

    यह भी पढ़े: धोनी के कारण बहार हुए टीम इंडिया के तीन दिग्गज खिलाड़ी, एम एस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी में हुआ खुलासा

    ऑस्ट्रेलिया में हमे अभी पता चला कि अगर हम विकेट पर थोड़ी घांस न छोड़े तो पिंक गेंद ज्यादा देर तक नहीं टिक पाती. हमे ये देखना होगा कि पिंक गेंद किस तरह से उपमहाद्वीप जैसी विकेटों और परिस्थितियों में कैसे रहती है, पिंक गेंद ही टेस्ट मैच को बचाए रख सकता है और अगर पिंक गेंद से टेस्ट मैच भारत में सफल रहा तो यह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के लिए बड़ी उपलब्धि होगी.

    यह भी पढ़े: बॉलीवुड की ये 5 अभिनेत्रीयाँ आज भी विराट कोहली की दीवानी है, अनुष्का कों है सतर्क रहने की जरूरत

    sw
    Top