न्यूज़ीलैण्ड के सबसे अच्छे क्रिकेटर रहे ब्रेडन मैकुलम ने हाल में अंतराष्टीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया हैं, क्रिकेट प्रसंशक और क्रिकेट पंडित की माने तो मैकुलम ने कुछ जल्दी ही अंतराष्टीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया हैं अभी मैकुलम के अंदर काफी क्रिकेट बचा हुआ है.

मैकुलम ने अपने शानदार करियर में 101 टेस्ट और 260 एकदिवसीय अंतराष्टीय मैचो में हिस्सा किया. मैकुलम ने 71 टी-ट्वेंटी मैच भी खेले. मैकुलम न्यूज़ीलैण्ड के वह खिलाड़ी है जिसने अपने बल्लेबाजी और कप्तानी से न्यूज़ीलैण्ड क्रिकेट को ऊंचाई तक पहुंचाया.

हाल ही में क्रिकबज वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में 34 वर्ष के मैकुलम ने अपनी बल्लेबाजी के बहुत से राज़ पर बात किया.

मैकुलम ने खुलासा किया, कि स्पोर्ट्स परिवार में जन्म लेने से उन्हें बहुत फायदा हुआ, वो और उनके भाई नाथन मैकुलम दोनों ने साथ बहुत खेला हैं.

मैकुलम ने कहा खेल हमारे खून में हैं, सिर्फ क्रिकेट नहीं, बाकि खेल भी, यह हमारे लिए गर्व की बात है हम दोनों न्यूज़ीलैण्ड के लिए क्रिकेट खेले. आप यह सकते हो कि यह सब हमे हमारे माता-पिता से मिला.

आक्रामक बल्लेबाजी से सभी क्रिकेट प्रसंशको का मनोरंजन करने वाले मैकुलम ने बल्लेबाजी करते वक़्त किस तरह दिमाग को संतुलित रखते है, उस विषय में बात करते हुए कहा कि अगर तुम अच्छा खेलते हो, तो तुम गेंदबाज़ पर दवाब बनाने में कामयाब होते हो.

जबकि, अगर तुम अपनी पारी की शुरुआत करने की कोशिस करते हो या तुम क्रीज पर असहज महसूस कर रहे  हो, तब तुम यह पूर्वानुमान लगाने की कोशिस करते हो, कि गेंदबाज़ क्या करने वाला है.

मैकुलम ने अपनी बल्लेबाजी के बारे में रोचक तथ्य बताएं.

इमानदारी से कहूँ तो मेरी ज्यादातर पारी पहले से सोची समझी होती हैं.

मैकुलम ने आगे कहा हमे ज्यादातर अपनी स्वाभाविक सोच पर विश्वास करना चाहिए, जब भी हम इसके विरुद्ध जाते है तब-तब संकट की स्थिति पैदा होती हैं.

34 वर्ष के मैकुलम जिस तरह आत्मविश्वास से राष्ट्रीय टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है, उम्मीद करते है कुछ इसी तरह वह आगे भी इसे  कायम रखने में कामयाब रहेंगे.

मैकुलम ने कहा यह एक विरासत हैं, मैंने कप्तान के द्रष्टिकोण से खेलना छोड़ा.

अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट से पहले से संन्यास ले चुके मैकुलम ने कहा, कि वह खुश है, उन्होंने ऐसे समय पर संन्यास लिया जब उनकी टीम शानदार प्रदर्शन कर रही थी.

अंत में मैकुलम ने कहा, कि उन्होंने इस खेल से बहुत कुछ सिखा हैं.

 

  • SHARE
    I am Gautam Kumar a Cricket Adict, Always Willing to Write Cricket Article. Virat and Rohit are My Favourite Indian Player.

    Related Articles

    राहुल या फिर रहाणे: आखिर कौन सलामी बल्लेबाज बन सकता है भारतीय टीम के...

    मौजूदा समय में टीम इण्डिया में गलाकाॅट प्रतिस्पर्धा चल रही है।अगर कोई भी एक खिलाड़ी अपनी फाॅर्म या फिटनेस को बरकरार नहीं रख पाता...

    विराट और धोनी को नहीं बल्कि इन दो भारतीय खिलाड़ियों को स्टीवन स्मिथ ने...

    चेन्नई में हुए पहले वनडे मैच के बाद अब दुसरे वनडे मैच के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें अब कोलकता पहुच गई है...

    ऑस्ट्रेलिया के कप्तान ने अपने 100वें वनडे मैच पर कही ये बात

    ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ ने अपने करियर की शुरुआत एक लेग स्पिनर की तौर पर की थी. आज वो अपने करियर में अपना...

    ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दुसरे वनडे से पहले भिड़ी विराट और धोनी की टीम, जाने...

    पहले वनडे में आसानी से ऑस्ट्रेलियाई टीम पर की जीत दर्ज के बाद आत्मविश्वास से लबरेज भारतीय टीम कोलकता के ईडन गार्डन मैदान में...

    स्टेन अब बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट से भी हुए बाहर, दक्षिण अफ्रीकी टीम पर...

    साउथ अफ्रीकी तेज़ गेंदबाज डेल स्टेन का बदकिस्मत साथ नही छोड़ रही. अब उनका बांग्लादेश के साथ 28 सितम्बर से होने वाले टेस्ट मैच...