भारत बनाम पाकिस्तान क्रिकेट इतिहास में सबसे बड़ा मुकाबला साबित होता है. खास कर जब पिछले कुछ सालों से जब यह दोनों टीमें केवल आईसीसी के इवेंट में ही एक दुसरे के विरुद्ध खेलती नज़र आती है.

पिछले कुछ समय से पाकिस्तान का एकदिवसीय क्रिकेट में फॉर्म लगातार गिरता जा रहा है, और इसका डर पाकिस्तान से ज्यादा ब्रॉडकास्टर्स को लग रहा है.

यह भी पढ़े : भारत कों मात देकर पाकिस्तान बना नम्बर 1

पाकिस्तान हाल ही में भारत को पछाड़ कर टेस्ट में नंबर 1 टीम बना था, और ऐसा लग रहा था कि इस उपलब्धि का उनके एकदिवसीय फॉर्म पर भी प्रभाव पड़ेगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं देखने को मिला. पाकिस्तान मौजूदा एकदिवसीय सीरीज़ में 0-5 से हार की कगार पर खड़ी है और इस सीरीज़ में पाकिस्तान ने शुरू से ही हथियार डाल दिए, एक भी मैच में ऐसा मौका नहीं आया जब लगा हो कि पाकिस्तान वापसी कर सकता है.

2019 में इंग्लैंड में विश्वकप खेला जाना है, और सभी ब्रॉडकास्टर्स को केवल इसी बात की चिंता है की अगर पाकिस्तान विश्वकप की दौड़ से बाहर हो गया तो उन्हें बड़ा नुक्सान हो सकता है.

यह भी पढ़े : पाकिस्तान और इंग्लैंड ने तोड़े क्रिकेट इतिहास के 30 सबसे बड़े रिकार्ड्स

भारत बनाम पाकिस्तान ट्वेंटी ट्वेंटी वर्ल्ड कप मुकाबला जो कि कोलकाता में खेला गया था, उसे केवल भारत में 8 करोड़ 30 लाख लोगों ने देखा था, जो कि विश्व भर में अरबों से भी ज्यादा दर्शकों तक पहुँच जायेगा. जिससे टीवी कंपनियों को बेहद फायदा होगा और आईसीसी भी इससे अपनी वैल्यू बढ़ा सकता है.

इस साल की शुरुआत में आईसीसी के चीफ एग्जीक्यूटिव डेव रिचर्डसन ने बयान दिया था की इन दोनों टीमों के मुकाबले इस तरह से तय किये जाते है की सभी बड़े इवेंट्स जैसे चैंपियंस ट्राफी, ट्वेंटी ट्वेंटी विश्वकप और 50 ओवर का विश्वकप में यह दोनों टीमें एक दुसरे के विरुद्ध ग्रुप स्टेज में खेल सके.

ब्रॉडकास्टर्स के लिए चिंता की बात यह है कि, इस समय पाकिस्तान एकदिवसीय रैंकिंग में 9वें पायदान पर है, और वह वेस्टइंडीज़ से 10 अंक पीछे है. मौजूदा सीरीज़ में अगर पाकिस्तान रविवार को भी इंग्लैंड से हार गया तो उनके लिए 30 सितम्बर 2017 (जो कि आख़िरी तारीख़ है 2019 विश्वकप के लिए अपनी जगह पक्की करने के लिए) से पहले वापस टॉप 8 में आना मुश्किल हो जायेगा.

यह भी पढ़े : भारतीय क्रिकेट फैन्स ने दिया इस पाकिस्तानी गेंदबाज़ को समर्थन

आईसीसी ने इस साल यह एलान किया था कि आगामी विश्वकप में केवल 10 टीम ही हिस्सा लेंगी जिसपर एसोसिएट देशों ने नाराज़गी जताई थी कि आईसीसी उन्हें मौके नहीं दे रहा है.

पाकिस्तान पिछले कई सालों से कोई भी एकदिवसीय श्रृंखला जीतने में नाकाम रहा है, पाकिस्तान ने आख़िरी बार केवल श्रीलंका(दो बार) और ज़िम्बाब्वे को सीरीज 2013 में हराई थी.

अगर पाकिस्तान अंतिम 8 में जगह बनाने में नाकाम रहता है तो उसे 2018 में बांग्लादेश में कुआलिफ्यिंग राउंड खेलना पड़ेगा.

यह भी पढ़े : बीसीसीआई ने मैच शुरू होने से पहले किया यह बड़ा बदलाव, बदले गए ट्वेंटी ट्वेंटी कप्तान

पाकिस्तान को आने वाले समय में वेस्ट इंडीज़ और उसके बाद ऑस्ट्रेलिया के साथ भी सीरीज़ खेलनी है. अगले साल होने वाली चैंपियंस ट्राफी पाकिस्तान के लिए विश्व कप में एंट्री का आख़िरी मौका साबित हो सकता  है.

  • SHARE

    सभी खेलों में दिलचस्पी है लेकिन सबसे पसंदीदा खेल क्रिकेट, पसंदीदा खिलाड़ी विराट कोहली और नोवाक जोकोविच.

    Related Articles

    स्पोर्ट्स राउंड अप: एक नजर में पढ़े 20 नवम्बर की खेल से जुड़ी हर...

    इस लेख के माध्यम से हम आपके पास तक लेकर आये हैं, दिनभर का स्पोर्ट्स अपडेट. यहाँ आप सिर्फ एक ही नजर में खेलजगत...

    विडियो : साक्षी से दूर धोनी ने कुछ इस तरह से मनाया उनका जन्मदिन,...

    भारतीय क्रिकेट टीम इन दिनों श्रीलंका के खिलाफ तीम मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने में व्यस्त हो गई है। भारतीय टीम टेस्ट सीरीज खेल...

    कोलकत्ता की पिच को लेकर इस श्रीलंकाई गेंदबाज़ ने दी चेतावनी, कहा पाचवें दिन...

    श्रीलंका टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी रंगना हेराथ ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में बल्ले से गजब का प्रदर्शन किया. हालंकि, उन्होंने इसका...

    दिग्गज तेज़ गेंदबाज़ साइमन डुल ने साउथ अफ्रीका दौरे को लेकर दिया बड़ा बयान...

    भारतीय टीम के स्विंग के सुल्तान भुवनेश्वर कुमार के लिए पिछले दो साल क्रिकेट में काफी अच्छे रहे है. वनडे हो या टेस्ट क्रिकेट...

    अजिंक्य रहाणे के गोल्डन डक पर आउट होने के बाद श्रीलंकाई ड्रेसिंग रूम में...

    भारत और श्रीलंका के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला जा रहा पहला टेस्ट मैच ड्रा की ओर बढ़ रहा है. मैच के...