त्रिकोणीय सीरीज का पहला मैच ऑस्ट्रेलिया के हाथो गवाने के बाद भारत ने दुसरे मैच में इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिसबेन में जीत दर्ज कर फाइनल में जगह बनाने के इरादे से उतरी, लेकिन इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और स्टीवन फिन ने भारतीय बल्लेबाजो को अपने मकशद में नाकाम कर दिया और पूरी भारतीय टीम 153 रनों के मामूली स्कोर पर ढेर हो गयी. फिन ने 33 रन देकर 5 विकेट चटकाए, तो एंडरसन ने 18 रन देकर 4 विकेट लिया.

टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने एक बार फिर ओपनर शिखर धवन को सस्ते में गवां दिया, पिछले मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा मांसपेसियों में खिचाव की वजह से बाहर है, उनकी जगह अंजिक्य रहाने ने भारतीय पारी की शुरुआत की, धवन के जल्दी आउट होने के बाद अम्बायती रायडू बल्लेबाजी के लिए आये, रहाने और रायडू ने सम्भल कर खेलते हुए भारतीय पारी को सम्भालने की कोशिश की, लेकिन रहाने दुर्भाग्यशाली रहे और 33 के व्यक्तिगत स्कोर पर पवेलियन चल पड़े, दोनों बल्लेबाजो ने 56 रनों की साझेदारी निभाई, उसके बाद आये हुए टेस्ट कप्तान कोहली एक बार फिर लम्बी पारी खेलने में असफल रहे और सिर्फ 4 रनों के व्यक्तिगत स्कोर पर चलते बने, उसके बाद रायडू और रैना ने भारतीय बल्लेबाजी की कमान सम्भाली लेकिन दोनों बल्लेबाज जल्दी ही आउट हो गये और अब भारत 19 ओवर में 5 विकेट खोकर बहुत ही खराब स्थिति में नजर आ रहा था, रैना को मोईन अली ने स्टंपिंग कर के पवेलियन भेजा तो वहीं फिन ने रायडू को विकेट के पीछे कैच करा कर उन्हें लम्बी पारी खेलने से रोका.

अब बारी थी भारतीय कप्तान धोनी और आलराउंडर स्टुअर्ट बिन्नी की जिन्हें भारत को एक सम्मानजनक स्कोर तक ले जाना था, हालाँकि दोनों ने अपनी जिम्मेदारी निभाई, लेकिन सफल नहीं हो सके, दोनों बल्लेबाजो ने 70 रनों की साझेदारी निभाई, और 6 वाँ विकेट कप्तान के रूप में गिरा, भारत के लिए बैटिंग पॉवर प्ले काफी महंगा साबित हुआ, और सिर्फ 8 रनों में भारत ने कप्तान धोनी, भुवनेश्वर कुमार और अक्षर पटेल का विकेट गवां दिया.

और अगले तीन गेंदों पर इंग्लैंड के गेंदबाजो ने भारतीय पारी का अंत कर दिया, भारत की तरफ से कप्तान एम.एस धोनी ने 34 और आल राउंडर स्टुअर्ट बिन्नी ने 44 रनों की पारी खेली. और पूरी भारतीय टीम 153 रनों के मामूली स्कोर पर सिमट गयी.

जबाब में बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड टीम ने तेजी से खेलते हुए, सिर्फ 3 ओवर में 1 विकेट खोकर 25 रन बना लिए थे, इंग्लैंड का पहला विकेट मोईन अली के रूप में गिरा जिसे आल राउंडर स्टुअर्ट बिन्नी ने 8 रनों के निजी स्कोर पर विराट कोहली के हाथो कैच कराया.

 

 

  • SHARE

    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    एशेज सीरीज 2017- कल से शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच के लिए इंग्लैंड...

    कुछ ही घंटो में विश्व क्रिकेट की सबसे बड़ी द्विपक्षीय सीरीज का आगाज होने जा रहा है। इस द्विपक्षीय सीरीज का नाम है एशेज...

    कोलकाता में अपने शतकों के अर्धशतक पूरा करने के दौरान विराट ने बनाया एक...

    भारत और श्रीलंका के बीच पहला टेस्ट मैच कोलकत्ता में खेला गया था. इस टेस्ट मैच में भारत के कप्तान विराट कोहली ने दूसरी...

    वीडियो- श्रीलंका के पूर्व खिलाड़ी चमारा सिल्वा ने खेला ऐसा शॉट देखकर नहीं रुकेगी...

    विश्व क्रिकेट में जब से टी-20 क्रिकेट का चलन शुरू हुआ है तब से तेज  गति से रन बनाने के लिए बल्लेबाज तरह-तरह के...

    ये है भारत के वो 2 निःस्वार्थी क्रिकेटर जिन्होंने साथी खिलाड़ी के लिए क्रिकेट...

    क्रिकेट के मैदान में वैसे तो कई बार ऐसे किस्से देखने या सुनने के मिलते हैं जिससे कोई खिलाड़ी अपने एक बड़े काम से...

    IPL UPDATE: इन 2 आईपीएल टीमो ने भारत नहीं बल्कि इस देश में आईपीएल...

    आईपीएल 11 को लेकर अभी से तैयारी शुरू कर दी गई हैं. वही जहाँ इस बार ज्यादातर खिलाड़ियों को नीलामी में शामिल किया जाएगा....