खेल डेस्क, क्रिकेट हमेशा से जेंटलमैन खेल कहा जाता रहा है. कई ऐसे मौके आये जब खिलाडियों ने क्रिकेट में खेल भावना को दिखाते हुए विपक्षी टीम और प्रशंसकों के सामने हीरो बनकर उभरे. आज यहाँ हम आपको ऐसे ही कुछ मामले बताने जा रहे हैं, जब क्रिकेटरों ने बीच मैदान पर खेल भावना को दिखाकर सामने वाली टीम का मन मोह लिया है.

नॉट आउट दिए जाने के बावजूद खुद चल दिये गिलक्रिस्ट

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान बल्लेबाज व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट ने कई बार मैदान पर खेल भावना को दिखाया है. एक ऐसा ही वाकया 2003 विश्व कप के सेमी फाइनल मैच का है. ऑस्ट्रेलिया बनाम श्री लंका के इस मैच में जिस समय गिलक्रिस्ट कुल 20 गेंदों में 22 रन बनाकार पिच पर जमते हुए दिखाई दे रहे थे, उसी वक़्त अरविन्द डी सिल्वा की एक गेंद को खेलने के चक्कर में गिलक्रिस्ट विकेटकीपर संगकारा को कैच दे बैठे. इधर विकेट लेते ही श्रीलंकाई टीम ने ख़ुशी मनानी शुरू कर दी, लेकिन अम्पायर रूडी कर्टजन ने आउट नहीं दिया. चूंकि गिलक्रिस्ट को मालूम था कि वह आउट हैं, इसलिए वे अम्पायर के नॉट आउट दिए जाने के बावजूद भी मैदान से बाहर चल दिए.

सचिन तेंदुलकर ने 2011 विश्व कप में दिखाई खेल भावना

2011 विश्व-कप मैच में जब भारतीय टीम का मुकाबला वेस्टइंडीज टीम के साथ था, तब सचिन ने ऐसा कुछ किया जिससे उनके प्रति इज्ज़त और अधिक बढ़ गयी. दरअसल सचिन रवि रामपॉल की एक गेंद पर विकेट कीपर के हाथों में कैच दे बैठे. चूंकि वह गेंद सचिन के ग्लव्स से टकराकर गयी थी, इसलिए अम्पायर पशोपेश में पड़ गए. सचिन ने जब देखा कि अम्पायर ने उन्हें आउट नहीं दिया है, उन्होंने खुद ही मैदान से बाहर जाने का फैसला किया.

जब गुंडप्पा विश्वनाथ की वजह से अम्पायर को बदलना पड़ा अपना निर्णय

1979-80 के समय में भारत व इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज खेली गयी थी. इस मैच में इंग्लैंड खिलाडी बॉब टेलर को अम्पायर के गलत फैसले का शिकार होना पड़ा . दरअसल अम्पायर ने उन्हें आउट न होने के बावजूद भी आउट दे दिया था. इसके बाद जब बॉब मैदान से जाने लगे तो भारतीय क्रिकेटर गुंडप्पा विश्वनाथ उनके पास आये और पूछा कि क्या वह आउट थे. नहीं का जवाब सुनकर गुंडप्पा ने अम्पायर को उनके फैसले को रिव्यु करने को कहा. इसके बाद अम्पायर ने फैसला बदला और बॉब टेलर ने आगे अपनी बल्लेबाजी की. खेल भावना दिखाने के बाद गुंडप्पा विश्वनाथ की काफी प्रशंसा भी हुई.

 

एंड्रू स्ट्रॉस ने एंजलो मैथ्यूज को आउट होने के बाद बल्लेबाजी के लिए वापस बुलाया

2009 चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान श्रीलंकाई बल्लेबाज एंजलो मैथ्यूज रन चुराने के चक्कर में इंग्लैंड गेंदबाज ग्राहम अनियन से भीड़ गए. इसके बाद मैट प्रायर ने मैथ्यूज को रन आउट कर दिया. चूंकि एंजलो मैथ्यूज से ग्राहम जानबूझकर भिड़े थे, इसलिए एंड्रू स्ट्रॉस ने पवेलियन तक पहुँच चुके एंजलो मैथ्यूज को वापस बल्लेबाजी के लिए बुलाया. एंड्रू स्ट्रॉस की इस खेल भावना के बाद उनके प्रशंसकों ने काफी तारीफ भी की.

पूर्व श्रीलंकाई कप्तान मर्वन अट्टापट्टू ने दिखाई खेल भावना

2004 में श्रीलंका बनाम ऑस्ट्रेलिया मैच में जब एंड्रू साइमंड्स गलत तरीके से एलबीडब्ल्यू आउट दे दिए गए तो अट्टापट्टू ने उन्हें वापस खेलने के लिए बुलाया. दरअसल, गेंद एंड्रू साइमंड्स के बल्ले से लगकर उनके पैड पर लगी थी, जिसकी वजह से उन्हें अट्टापट्टू ने वापस खेलने के लिए बुला लिया.

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    ये है वो कारण जिसकी वजह से विराट कोहली ने सुरेश रैना से साउथ...

    भारत और साउथ अफ्रीका के बीच जोहनसबर्ग में खेले गये पहले टी20 मैच में उस समय सभी हैरान रह गये जब भारतीय टीम के...

    STATS: साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टी-20 मैच में ही हुई रिकॉर्ड की बारिश,...

    भारत और साउथ अफ्रीका के बीच आज टी-20 सीरीज का पहला मैच खेला गया. जहाँ आज एक बार फिर से साउथ अफ्रीका को हार...

    जाने भुवनेश्वर कुमार द्वारा फेंकी जाने वाली नकल बॉल क्या होती है और सबसे...

    भारतीय टीम को अपनी शानदार गेंदबाजी चलते भुवनेश्वर कुमार ने जीत दिला दी है. भुवनेश्वर कुमार ने पहले टी20 मैच में आज रविवार को...

    भारतीय टीम में विराट कोहली की भरपाई करने को तैयार है यह 18 वर्षीय...

    भारतीय जूनियर क्रिकेट टीम में आजकर अगर किसी की सबसे ज्यादा चर्चा होती है तो वो हैं शुभमन गिल। पंजाब के शुभमन गिल ने...

    साउथ अफ्रीकन कप्तान जेपी डुमिनी ने सीधे तौर पर इन खिलाड़ियों को ठहराया पहले...

    भारत और साउथ अफ्रीका के बीच चल रही तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला टी20 मैच आज रविवार को जोहनसबर्ग के वांडर्स स्टेडियम...