विशाखापत्तनम। मंगलवार को आईपीएल-नौ में खेले गए मैच में सनराइजर्स हैदराबाद ने पुणे सुपरजायंट्स को 4 रन से हरा दिया। सनराइजर्स हैदराबाद ने पुणे को 138 रनों का लक्ष्‍य दिया था लेकिन पुणे टीम हासिल नहीं कर सकी। इस मैच में कई टर्निंग पॉइंट्स भी सामने आए हैं। आइए जानें :

पावरप्ले ओवरों में पुणे की बेहतरी गेंदबाजी

टॉस जीतकर सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी की। टीम के दोनों ओपनिंग खिलाडियों ने धीमी शुरुआत देते हुए पहले दो ओवरों में महज 11 रन ही बनाए। आरपी सिंह और अशोक डिंडा ने धारदार गेंदबाजी करते हुए धवन और वॉर्नर को लगातार परेशान रखा। इसके बाद चौथे ओवर में आर पी को डेविड वॉर्नर के रूप में पहला विकेट मिला। पहले छह ओवरों में हैदराबाद के बल्‍लेबाजों महज 34 रन ही जोड़ सके।

शिखर धवन और विलियमसन के बीच हुई शानदार पार्टनरशिप

चौथे ओवर में डेविड वॉर्नर के रूप पहला विकेट खोने के बाद विलियमसन और शिखर धवन ने पारी को संभाला। पुणे के गेंदबाज इस दौरान शानदार गेंदबाजी करते रहे लेकिन दोनों बल्‍लेबाजों ने धैर्य के साथ खेलते हुए दूसरे विकेट के लिए 45 रनों की भागेदारी की।

एडम जम्पा द्वारा शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन

ऑस्‍ट्रेलियाई युवा स्पिन गेंदबाज एडम जम्पा को कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 8 वें ओवर में गेंद थमाई थी। इसके बाद पहले ओवर में जम्‍पा ने महज 5 रन ही दिए। उन्‍होंने क्रीज पर जम रहे युवराज सिंह को आउट कराके महत्‍वपूर्ण विकेट झटका। अपने तीसरे ओवर में जम्‍पा ने दो लगातार गेंदों में क्रमश : विलियमसन और हेनरीकस को आउट करके हैदराबाद को बैकफुट पर धकेल दिया। अंतिम ओवर में उन्‍होंने तीन विकेट झटके और इस तरह से जम्‍पा ने अपने चार ओवरों में महज 19 रन खर्च करते हुए 6 महत्‍वपूर्ण विकेट ले लिए।

दो विकेट गिरने से पुणे आई दबाव में

138 रनों के टार्गेट का पीछा करने उतरी धोनी के पुणे ने खराब शुरुआत की। पहले ही ओवर में भुवनेशवर की गेंद पर रहाणे आउट हो गए। इसके बाद कुछ ओवरों बाद ही उस्‍मान ख्‍वाजा भी रन आउट हुए फिर शुरुआती क्रम में बल्लेबाजी करने आए अश्विन का विकेट भी पुणे ने गंवा दिया। पहले छह ओवर की समाप्‍ती पर पुणे का स्‍कोर दो विकेटों पर महज 25 रन ही था।

महेंद्र सिंह धोनी की खराब बल्लेबाजीTSRH Vs RPS

पुणे सुपरजायंट्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जब क्रीज पर आए थे तो उस समय टीम को जीत के लिए 36 गेंदों में 58 रनों की दरकार थी। इसके बाद धोनी से एक कप्तानी पारी की उम्‍मीद थी और वे अपने करियर में ऐसी पारियां खेलते भी आए हैं। हालांकि, इस मैच में धोनी ने 20 गेंदों का सामना करते हुए 30 रन बनाए और रन आउट हो गए।

  • SHARE
    I am ankur tiwari an ardent fan of cricket. I want to become a cricket writer, i always suport ms dhoni and suresh raina in every international match, but not in ipl in ipl i always chear for delhi and ms dhoni.

    Related Articles

    टी20 विश्वकप-2007 स्पेशल: भारतीय टीम के विजेता कोच ने बताया विश्वकप का सफल आखिर...

    भारतीय क्रिकेट इतिहास के लिए आज के दिन यानि 24 सितंबर के बहुत मायने हैं। एक भारतीय युवा टीम ने एक नए नवेले कप्तान...

    भारत-ऑस्ट्रेलिया के इंदौर वनडे से ठीक पहले मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन ने उठाया ये बड़ा...

    भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा वनडे मैच आज इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेला जाना है। भारतीय...

    अगर ब्रोक लेसनर अंडरटेकर की रेसलमेनिया की विनिंग स्ट्रीक खत्म ना करते तो WWE...

    WWE में अंडरटेकर का मुकाम किसी से छुपा नहीं है और सभी उनकी काफी इज्जत भी करते हैं. वे अपने शानदार करियर के लिए...

    वीरेंद्र सहवाग ने तीसरे वनडे के दौरान किया भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज की भविष्यवाणी, बताया कितने...

    भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग कभी भी युवाओं को एक्सपीरियंस से बड़ा नही मानते. सहवाग ने बीसीसीआई की युवाओं को सीनियर से...

    शेन वार्न के ऊपर पॉर्न स्टार ने लगाए गंभीर आरोप, कहा जमीन में पटक...

    ऑस्ट्रेलियाई के दिग्गज स्पिनर रहे शेन वॉर्न शेन वॉर्न क्रिकेट की दुनिया में बैड ब्यॉय के नाम से भी चर्चित हैं. आप सोच रहे...