क्रिकेट डेस्‍क। भारतीय जीवन में दो चीजों का बहुत महत्‍व है एक तो क्रिकेट का और दूसरा है फिल्‍मों का। आपने ये तो सुना ही होगा कि भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल गेंदबाज महेंद्र सिंह धोनी के ऊपर भी एक फिल्‍म बन रही है और इसका निर्देशक नीरज पांडे फिल्‍म में धोनी का रोल सुशांत सिंह राजपूत करेंगे। इससे पहले भी बहुत कुछ फिल्‍में बन चुकी है जिन्‍होंने खेल और खिलाड़ी के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया।

आज हम आपको ऐसी पांच फिल्‍मों की जानकारी देंगे जिन्‍होंने ना सिर्फ खेल बल्कि उस खिलाडि़यों को भी वो इज्‍जत दिलाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा की जो इसके सच्‍चे हकदार थे।

1 इकबाल
एक ऐसे लड़के की कहानी जो बोल और सुन नहीं सकता लेकिन क्रिकेट प्रति उसका समर्पण देखने लायक था। इस फिल्‍म ने उन लड़कों के लिए एक प्रेरणा का काम किया जो देश के दूर दराज के इलाकों में रहते हैं। इसके साथ ही इसमें दिखाया गया कि अगर आप किसी चीज को पाने के बारे में सोचते है तो उसके लिए कितने समर्पण की आवश्‍यकता होती है। इसके साथ ही एक किसान क्रिकेट के बारे में क्‍या सोचता है यह भी फिल्‍म में अच्‍छे से बताया गया।

2 लगान
यह एक काल्‍पनिक कहानी थी इसमें स्‍वतंत्रता के पहले भारतीय किस प्रकार की मुसीबतों का सामना करते थे इस बात को बताया गया है। लेकिन साथ ही इस फिल्‍म ने यह भी बता दिया कि किस प्रकार किसी भी खेल को जब पूरी शिद्दत के साथ खेला जाता है तो क्‍या परिणाम हो सकता है।

 

 

3 चक दे इंडिया
एक ऐसा देश जहां हर समय क्रिकेट ही सुर्खियों में रहता है वहां हॉकी के खेल को केंद्र में रखकर फिल्‍म बनाई गई और उसमें भी महिला टीम को केंद्र में रखते हुए। इस फिल्‍म ने ना सिर्फ हॉकी को बल्कि वूमन हॉकी को भी इज्‍जत दिलाई और इस खेल के प्रति लोगों का नजरिया भी बदला। इस फिल्‍म को 2002 में कॉमनवेल्‍थ खेल जीतने वाली टीम को ध्‍यान में रखकर बनाया गया था।

4 भाग मिल्‍खा भाग
यह फिल्‍म मिल्‍खा सिंह पर आधारित थी। एक एथलीट जिसने ओलंपिक और नेशनल चैंपियन के रूप में देश का नाम ऊंचा किया। दुनिया किन करणों से उन्‍हें फ्लाइंग सिख के नाम से जानना शुरू किया इस घटना को फिल्‍म में बहुत ही शानदार तरीके से बताया गया है। इस फिल्‍म को देखने के बाद आपके मन में एक खिलाड़ी और खासकर मिल्‍खा सिंह के लिए इज्‍जत जरूर बढ़ जाएगी।

5 मैरी कॉम
यह फिल्‍म भी एक खिलाड़ी की असली जिंदगी पर आधारित है। भारत के मणिपुर की बॉक्‍सर मैरी कॉम जिन्‍हें आज देश का बच्‍चा-बच्‍चा जानता है। इस खिलाड़ी के जीवन के संघर्ष और क्रिकेट के अलावा भारत में अन्‍य खेलों को किस प्रकार से संघर्ष करना पड़ता है उसका यह एक बेहतरीन उदाहरण है।

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    NEWS: 3-0 से सीरीज जीतते ही भारतीय चयनकर्ताओ ने बाकी बचे 2 मैचो से...

    मौजूदा समय में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच वनडे मैचों की श्रृंखला खेली जा रही हैं और रविवार, 24 सितम्बर को इस पेटीएम...

    प्रो कबड्डी लीग : रोमांचक मुकाबले में एक अंक से जीती थलाइवाज की टीम

    नई दिल्ली, 24 सितम्बर (आईएएनएस)| कप्तान अजय ठाकुर के अंतिम पलों में किए गए बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर तमिल थलाइवाज ने प्रो कबड्डी...

    प्रो कबड्डी: लगातार घर में तीसरा मैच हारी दिल्ली

    नई दिल्ली, 24 सितम्बर (आईएएनएस)| दबंग दिल्ली प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के सीजन-5 में अपने घर में भी हार के सिलसिले को नहीं तोड़...

    रोहित व रहाणे को नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को दिया विराट ने जीत का...

    भारत और ऑस्ट्रेलियाई टीम के बीच चल रही पांच मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा वनडे मैच आज रविवार को इंदौर के होल्कर क्रिकेट स्टेडियम...

    तीसरा वनडे जीतने के बाद खुद विराट कोहली ने बताया क्यों चौथे नम्बर पर...

    ऑस्ट्रेलियाई टीम को पहले चेन्नई में 26 रनों से फिर उसके बाद कोलकता में 50 रनों से करारी शिकस्त देने के बाद आज रविवार...