पूर्व कप्तान गांगुली ने किया द्रविड़ और चैपल को लेकर बड़ा खुलासा - Sportzwiki
क्रिकेट

पूर्व कप्तान गांगुली ने किया द्रविड़ और चैपल को लेकर बड़ा खुलासा

  • बाए हाथ के स्टाइलिश बल्लेबाज और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने खुलासा किया है, कि उनके साथी खिलाड़ी व पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ को इस बारे में सब पता था, कि ऑस्ट्रेलियाई कोच ग्रेग चैपल का भारतीय टीम को लेकर क्या उद्देश्य था,लेकिन फिर भी द्रविड़ चैपल पर काबू नहीं कर सके।

    इसके पहले सचिन तेंदुलकर ने भी अपनी आत्मकथा में ये खुलासा किया है, कि चैपल ने उनको चौंकाते हुए 2007 विश्व कप से कुछ महीनों पहले ही कप्तानी करने की पेशकश की थी। उस दौरान राहुल द्रविड़ ही भारतीय कप्तान थे।

    अब इसी बात को पूर्व दिग्गज कप्तान सौरव गांगुली ने दोहराया है, उन्होंने कहा, कि-

    “मैं अब पुरानी बातो को दोहराना नहीं चाहता, सभी ने 2007 के दौरान के नतीजे देखे थे। वो भारतीय क्रिकेट का एक बेहद खराब दौर था और एक क्रिकेटर के लिए भी, खासतौर जब खिलाड़ी मैं हूं। झूठ पर झूठ बोले गए और छह महीने बाद वो (चैपल) द्रविड़ को हटाकर सचिन को कप्तानी सौंपना चाहते थे। ये दिखाता है कि वो आदमी (चैपल) किस तरह अपने काम को अंजाम दे रहा था।“

    गांगुली नेआगे कहा, कि-

    “हालाँकि मैं भारत को 2007 के विश्व कप के दूसरे दौर में जगह बनाने को लेकर हैरान नहीं था। लेकिन जब मैं टीम में दोबारा आया तो मैंने द्रविड़ से इस बारे में चर्चा भी की लेकिन द्रविड़ ने मुझसे कहा वो सब जानते थे लेकिन ग्रेग पर उनका काबू नहीं था।“

    हालाँकि जब पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली से मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की नई किताब में किए गए उस खुलासे पर बात की गई जिसमें सचिन ने चैपल द्वारा उन्हें कप्तानी लेने की पेशकश की गई थी, तो इस पर पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली ने हैरानगी जताई और कहा कि उन्हें नहीं पता कि बंद कमरे में सचिन और चैपल के बीच क्या बातचीत हुई होगी लेकिन वो ऐसा मानते हैं, कि ये सच ही होगा क्योंकि चैपल पर कभी भरोसा नहीं किया जा सकता।

    पूर्व भारतीय कप्तान  ने सचिन द्वारा लिखी गई अपनी आत्मकथा पर खुशी जताते हुए कहा कि वह बेहद खुश हैं कि सचिन ने ये किताब लिखी और सच्चाई से उस दौर की कुछ ऐसी बातों को सामने रखा जिससे भारतीय क्रिकेट का भला हो सकता है और कई लोगों की आंखें भी खुल जाएंगी।

    गांगुली ने कहा कि वो भी इस तरह से किताब लिखकर अपनी बातें सामने रखना चाहते थे लेकिन अब तक उन्होंने खुद को रोके रखा है और उन्हें खुशी है कि सचिन के स्तर के खिलाड़ी ने ये काम किया

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Most Popular

    Top