डिविलियर्स का रिकार्ड तोड़ने का कोई दबाव नहीं: मोमिनुल हक - Sportzwiki
क्रिकेट

डिविलियर्स का रिकार्ड तोड़ने का कोई दबाव नहीं: मोमिनुल हक

  • बांग्लादेश के स्टाइलिश बल्लेबाज मोमिनुल हक लगातार 11 टेस्ट अर्धशतक लगा कर राहुल द्रविड़, वीरेंद्र सहवाग और सर रिचर्ड्स जैसे महान खिलाड़ियों के साथ बराबरी पर खड़े है, लेकिन अगर वो भारत के खिलाफ इस एक मात्र टेस्ट में अर्धशतक लगा देते है, तो वो ऐसा करने वाले डिविलियर्स के बाद दुसरे बल्लेबाज बन जायेंगे और अगर वो इस रिकार्ड को तोड़ने में सफल रहे तो वो उनके लिए एक बड़ी उपलब्धी होगी.

    मोमिनुल हक ने “इएसपीएन क्रिकइन्फो” को दिए गये अपने इंटरव्यू में कहा, कि

    “आप लोगो ने मुझे इस रिकार्ड की याद दिलाई है, लेकिन मै इसके बारे में नहीं सोचता हूँ, मै इसे लेकर किसी तरह का कोई दबाव महशुस नहीं करता हूँ, आपके जाने के बाद मै इस रिकार्ड को एक बार फिर भूल जाऊंगा. और आगे से भी मै इस रिकार्ड को याद रखने की कोशिस नहीं करूंगा.”

    साथ ही इस महान बल्लेबाज ने डिविलियर्स की भी काफी प्रसंशा की और डिविलियर्स को क्रिकेट के हर फार्मेट का राजा बताया.

    मोमिनुल ने कहा:

    “डिविलियर्स से कभी मै अपनी तुलना की सोच भी नहीं सकता, वो क्रिकेट के तीनो फार्मेट में निपूर्ण है, मै उनके सामने कुछ भी नहीं हूँ, मै इस मैच को भी बाकी मैचो की तरह ही खेलूँगा और मैंने इस मैच की भी बाकि मैचो की तरह तयारी की है, मेरी पहली प्राथमिकता अपनी और अपने प्रसंसको की उम्मीदों को पूरा करने का है.”

    मोमिनुल का मानना है, कि टेस्ट के अलावा उन्हें क्रिकेट के दुसरे फार्मेट में अपने खेल को सुधारना है, उन्होंने कहा:

    “मै अपना स्वभाविक खेल ही खेलूँगा और उसमे कोई बदलाव नहीं होगा, मै टेस्ट में अच्छा कर रहा हूँ, तो लोग मुझे टेस्ट का खिलाड़ी मानते है, अगर मै बाकी दोनों फार्मेट में भी अच्छा करूंगा तो लोग मेरी वहां भी प्रशंसा करेंगे, अभी मुझे अपने खेल पर और भी ध्यान देने की जरूरत है.”

    मोमिनुल ने फतुल्लाह की पिच के बारे में बात करते हुए कहा, कि-

    “यहाँ की पिच थोड़ी धीरे है और खासकर बल्लेबाजो की मददगार होगी, हमे अच्छी बल्लेबाजी करने की जरूरत है.”

     

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top