डेल स्टेन ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया के माध्यम से भविष्य में कोच बनने की जताई इच्छा - Sportzwiki
क्रिकेट

डेल स्टेन ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया के माध्यम से भविष्य में कोच बनने की जताई इच्छा

  • कुछ दिन पहले डेल स्टेन टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने वाले गेंदबाजो की सूची में शामिल हो गये है. वो दूसरे सबसे तेज 400 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने. उन्होंने टाईम्स अॉफ इंडिया को इंटरव्यू दिया, उसमे उन्होंने भारत का कोच बनने की इच्छा जताई.

    यहाँ पर टाइम्स ऑफ़ इंडिया को डेल दवारा दिए गये इंटरव्यू के कुछ अंश प्रदर्शित किये गये है.

    Q.400 विकेट लेने के बाद क्या आपके उपर दबाव है?

    ये काफी खुशी की बात है, और 1 विकेट हो या 400 विकेट, दबाव तो रहता ही है.

    Q.क्या पहले से आपकी नजर 400 विकेट पर थी?

    नहीं, मै विकटों पर नजर नहीं देता, और सिर्फ अपना बेस्ट देने की कोशिश करता हू.

    Q.कौन सा विकेट आपके लिए सबसे बडा था?

    सभी बडे बल्लेबाज और कप्तान के विकेट मेरे लिए बडे थे, लेकिन सचिन का विकेट हमेशा सबसे उपर है.

    Q.सचिन को गेंदबाजी करना कैसा रहा?

    काफी मुश्किल बल्लेबाज थे सचिन, वे आपको गेल और डिविलियर्स की तरह नहीं मारेंगे, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में वे महान थे.

    Q.स्विंग गेंदबाजी एक कला है या पिच की मदद?

    स्विंग गेंदबाजी ही वो वजह है, कि मै इतने विकेट ले पाया.

    Q.आपको लगता है कि, स्टेमिना ही तेज गेंदबाजों की सबसे बडी शक्ति है?

    स्टेमिना सबसे महत्वपूर्ण है, जिससे आप पुरे दिन गेंदबाजी कर सकते है, लेकिन तेज गेंदबाजी से इसका कोई लेना देना नहीं है.

    Q.अब तेज गेंदबाजों को ज्यादा बचाया जाता है?

    मुझे नहीं लगता, 20 विकेट आपको तेज गेंदबाज ही दिलाते है.

    Q.भारत में अच्छे तेज गेंदबाज तैयार नहीं हो रहे इसका कारण क्या लगता है आपको?

    मै कुछ नहीं कह सकता.

    Q.आप काफी फिट हो, लेकिन विश्व और भारत में तेज गेंदबाज ज्यादा फिट क्यों नहीं रह पा रहे है?

    तेज गेंदबाजी काफी मुश्किल है, और मै अपनी फिटनेस पर काफी मेहनत करता हू, और मै लकी हू कि मै पुरी तरह फिट हू.

    Q.आईसीसी ने वनडे में नये नियम लाये, तो क्या इससे बल्ले और गेंद के बीच बराबर का मुकाबला होगा?

    नहीं, ये बल्लेबाजों का खेल है.

    Q.क्या ज्यादा टी ट्वेंटी मैच खेलना नये तेज गेंदबाजों के लिए खतरनाक है ?

    नहीं, टी ट्वेंटी में गेंदबाजी करने के लिए आपके पास अलग कला होनी चाहिए, और टेस्ट क्रिकेट अलग है.

    Q.अगर आपको मौका मिला, तो आगें क्या आप भारतीय टीम का कोच बनना पसंद करेंगे?

    जरूर मै भारतीय टीम का कोच बनना चाहुंगा. खिलाड़ियों को कोच करना एक मुश्किल काम है, लेकिन मै इसे अच्छे से निभाउंगा.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Most Popular

    Top