खेल डेस्‍क, अभी कुछ ही दिनों के भीतर टीम इंडिया को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ क्रिकेट मैच खेलने हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हाल ही में टीम को टेस्‍ट सीरीज में मिली सीधी जीत से सभी खिलाडि़यों में उत्‍साह है। हालांकि टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे व टी-20 सीरीज हार गई थी। अब जब ऑस्‍ट्रेलिया से आने वाले दिनों में मुकाबला होना है तो टीम इंडिया इन पांच चीजों पर सुधार करके विपक्षी टीम को आसानी से पराजित कर सकती है।

आइए जानते हैं वे पांच चीजे :

डेथ ओवरो में गेंदबाजी को करना होगा बेहतर

डेथ ओवर यानी की पारी के अंतिम कुछ ओवर। टीम इंडिया को अगर ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ जीत दर्ज करनी है तो डेथ ओवरों में गेंदबाजी को बेहतर करना ही होगा। अंतिम ओवरों में की गई बेहतरीन गेंदबाजी के बल पर टीम इंडिया ऑस्‍ट्रेलिया को उसी के घर पर हराने में कामयाब हो सकती है।

पिच कंडीशन के मुताबिक चुने ऑलराउंडर

ऑल राउंडर किसी भी टीम के लिए सबसे महत्‍वपूर्ण होते हैं। ऐसे में टीम इंडिया को भी ऑस्‍ट्रेलिया के साथ आगामी सीरीज में ऐसे ऑल राउंडर को चुनना होगा जो पिच कंडीशन के हिसाब से फिट बैठे। रविन्द्र जडेजा टीम के अच्छे ऑल राउंडर हैं लेकिन पिच कंडीशन के हिसाब से ही उन्हें टीम में लिया जाना चाहिए।

बल्लेबाजी क्रम के साथ न करें छेड़छाड़

बल्लेबाजी किसी भी टीम की ताकत होती है. अगर बल्लेबाज मैच में अच्छा खेल गए तो वह मैच आसानी से जीता जा सकता है. मालूम हो कि कोई भी बल्लेबाज तभी बेहतर प्रदर्शन कर सकता है जब वह लगातार एक ही स्थान पर खेले। लेकिन बीते साल हुई कई सीरीज में टीम इंडिया के कई खिलाडियों के बल्लेबाजी क्रम से लगातार छेड़छाड़ की गयी थी। ऐसे में उनकी बल्लेबाजी क्रम से छेड़छाड़ नहीं होती है तो यकीनन बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

 

गेंदबाजो का शुरआत में विकेट लेना बहुत जरुरी

अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज में जीत दर्ज करनी है तो उनके सलामी बल्लेबाजों को आउट करना बहुत आवश्यक है. टीम इंडिया के गेंदबाजों को अच्छी लाइन और लेंथ के अनुसार गेंदबाजी करनी होगी, जिससे भारत को शुरआती सफलता मिल सके।

मिडल ओवर में स्पिनर्स का करना होगा अच्छा उपयोग

ऐसा कहा जाता है कि जब विकेट नहीं मिल रहे होते हैं, तो ऐसे में मिडल ओवर में स्पिनर को गेंद थमा दी जाती है. हालाँकि यूँ तो ऑस्ट्रेलिया की पिचें तेज़ गेंदबाजों के लिए ज्यादा कारगर साबित होती हैं, लेकिन अगर स्पिन अच्छी की जाये तो विकेट मिल सकते हैं। इसी कारणवश मिडल के ओवेरों में टीम इंडिया को अच्छे स्पिनर से गेंदबाजी कराके विकेट झटकने होंगे। हालाँकि अश्विन पर संदेह नहीं किया जा सकता है, पिछले कुछ समय में उन्होंने अपने आपको सिद्ध किया है.

  • SHARE

    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    देश में खुला पहला निजी स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स..तो दीपिका पादुकोण ने किया यह ट्वीट

    भारत में सभी खेलों को नये आयाम देने के मकसद से देश का पहला निजी स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स का उद्घाटन किया गया है. इस केंद्र...
    virat-kohli-anushka-sharma MARRIAGE

    विराट-अनुष्का की रिसेप्शन पार्टी की खुशी में जैकलीन ने शेयर कर दी ये तस्वीर

    भारत के कप्तान विराट कोहली और बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा ने 11 दिसंबर को इटली में शादी कर ली है. जिसके बाद वो अपने...

    अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सिर्फ 114 रन बनाने वाले यह खिलाड़ी था सचिन तेंदुलकर का...

    मौजूदा समय में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के हर एक प्रारूप में टीम इंडिया विराट कोहली की अगुवाई में अपना नाम का डंका पिट रही हैं....

    हार से आप और भी मजबूत होंगी सिंधु : अमिताभ

    मुंबई, 18 दिसंबर; जापान की अकाने यामागुची से दुबई वर्ल्ड सुपरसीरीज का खिताब हारने वाली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु के लिए मेगास्टार अमिताभ बच्चन...

    ब्राजीलियाई फुटबाल दिग्गज काका ने संन्यास लिया

    रियो डी जनेरियो, 18 दिसंबर; ब्राजील फुटबाल जगत के दिग्गज काका ने 35 साल की उम्र में फुटबाल से संन्यास की घोषणा कर दी है।...