टीम इंडिया को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ इन पॉइंट पर जरूर करना होगा सुधार – Sportzwiki
क्रिकेट

टीम इंडिया को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ इन पॉइंट पर जरूर करना होगा सुधार

  • खेल डेस्‍क, अभी कुछ ही दिनों के भीतर टीम इंडिया को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ क्रिकेट मैच खेलने हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हाल ही में टीम को टेस्‍ट सीरीज में मिली सीधी जीत से सभी खिलाडि़यों में उत्‍साह है। हालांकि टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे व टी-20 सीरीज हार गई थी। अब जब ऑस्‍ट्रेलिया से आने वाले दिनों में मुकाबला होना है तो टीम इंडिया इन पांच चीजों पर सुधार करके विपक्षी टीम को आसानी से पराजित कर सकती है।

    आइए जानते हैं वे पांच चीजे :

    डेथ ओवरो में गेंदबाजी को करना होगा बेहतर

    डेथ ओवर यानी की पारी के अंतिम कुछ ओवर। टीम इंडिया को अगर ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ जीत दर्ज करनी है तो डेथ ओवरों में गेंदबाजी को बेहतर करना ही होगा। अंतिम ओवरों में की गई बेहतरीन गेंदबाजी के बल पर टीम इंडिया ऑस्‍ट्रेलिया को उसी के घर पर हराने में कामयाब हो सकती है।

    पिच कंडीशन के मुताबिक चुने ऑलराउंडर

    ऑल राउंडर किसी भी टीम के लिए सबसे महत्‍वपूर्ण होते हैं। ऐसे में टीम इंडिया को भी ऑस्‍ट्रेलिया के साथ आगामी सीरीज में ऐसे ऑल राउंडर को चुनना होगा जो पिच कंडीशन के हिसाब से फिट बैठे। रविन्द्र जडेजा टीम के अच्छे ऑल राउंडर हैं लेकिन पिच कंडीशन के हिसाब से ही उन्हें टीम में लिया जाना चाहिए।

    बल्लेबाजी क्रम के साथ न करें छेड़छाड़

    बल्लेबाजी किसी भी टीम की ताकत होती है. अगर बल्लेबाज मैच में अच्छा खेल गए तो वह मैच आसानी से जीता जा सकता है. मालूम हो कि कोई भी बल्लेबाज तभी बेहतर प्रदर्शन कर सकता है जब वह लगातार एक ही स्थान पर खेले। लेकिन बीते साल हुई कई सीरीज में टीम इंडिया के कई खिलाडियों के बल्लेबाजी क्रम से लगातार छेड़छाड़ की गयी थी। ऐसे में उनकी बल्लेबाजी क्रम से छेड़छाड़ नहीं होती है तो यकीनन बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

     

    गेंदबाजो का शुरआत में विकेट लेना बहुत जरुरी

    अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज में जीत दर्ज करनी है तो उनके सलामी बल्लेबाजों को आउट करना बहुत आवश्यक है. टीम इंडिया के गेंदबाजों को अच्छी लाइन और लेंथ के अनुसार गेंदबाजी करनी होगी, जिससे भारत को शुरआती सफलता मिल सके।

    मिडल ओवर में स्पिनर्स का करना होगा अच्छा उपयोग

    ऐसा कहा जाता है कि जब विकेट नहीं मिल रहे होते हैं, तो ऐसे में मिडल ओवर में स्पिनर को गेंद थमा दी जाती है. हालाँकि यूँ तो ऑस्ट्रेलिया की पिचें तेज़ गेंदबाजों के लिए ज्यादा कारगर साबित होती हैं, लेकिन अगर स्पिन अच्छी की जाये तो विकेट मिल सकते हैं। इसी कारणवश मिडल के ओवेरों में टीम इंडिया को अच्छे स्पिनर से गेंदबाजी कराके विकेट झटकने होंगे। हालाँकि अश्विन पर संदेह नहीं किया जा सकता है, पिछले कुछ समय में उन्होंने अपने आपको सिद्ध किया है.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Most Popular

    Top