खेल डेस्क, क्रिकेट को हमेशा से ही जेंटलमेंट खेल माना जाता रहा है. इसमें ऐसे नियम बनाये गए जिससे खेल की मर्यादाएं कभी न टूटे और मैच हारने के बावजूद भी खिलाडियों के मन में विपक्षी टीम के खिलाडियों के लिये बुरी भावनाएं न रहें. लेकिन कई बार इन नियमों के बावजूद भी क्रिकेटरों ने विपक्षी खिलाडियों पर भड़क उठे हैं. इससे भी ज्यादा आश्चर्यजनक यह रहा है कि ऐसे खिलाडी भी रहे हैं जो बेहद शांत माने जाते रहे लेकिन उनका भी गुस्सा कई बार मैदान में देखा गया. आइये जानते हैं ऐसे ही पांच क्रिकेटरों को-

राहुल द्रविड़ बनाम शोएब अख्तर

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और द वाल के नाम से मशहूर पूर्व खिलाडी राहुल द्रविड़ बेहद शांत खिलाडी माने जाते हैं. राहुल द्रविड़ के बारे में इतिहास में ज्यादा कंट्रोवर्सी सामने नहीं आती है. लेकिन अपनी छवि के एकदम विपरीत राहुल द्रविड़ ने सन 2004 में पाकिस्तानी गेंदबाज शोएब अख्तर को करार जवाब दे दिया था. दरअसल शोएब मैच में गेंदबाजी कर रहे थे और राहुल द्रविड़ ने शॉट खेला तो शोएब ने कुछ कमेंट पास कर दिया. इसके बाद द्रविड़ ने अपनी छवि से उलट जाते हुए शोएब को उसका जवाब दिया. हालाँकि फिर कप्तान इंजमाम और अंपायर ने बीच बचाव जल्द ही करा लिया.

महेंद्र सिंह धोनी और अंपायर

महेंद्र सिंह धोनी को हमेशा कूल कप्तान कहा जाता है. माना जाता है कि धोनी भी बहुत शांत खिलाडी हैं जल्दी किसी से उलझते नहीं हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच में धोनी की स्टंपिंग पर तीसरे अंपायर ने हसी को गलत आउट दे दिया, लेकिन ग्राउंड अंपायर ने हसी को रुकने के लिए कहा तो धोनी पहली बार अंपायर से उलझाते हुए दिखे. धोनी के इस अंदाज को साथी खिलाडियों ने पहली बार ही देखा था.

किमर रोच ओर जैक कैलिस

दक्षिण अफ्रीका के महान पूर्व खिलाडी जैक कैलिस हमेशा से ही शांत खिलाडी की तरह माने जाते रहे हैं. लेकिन एक मैच में कैलिस की यह छवि पूरी तरह बदली हुई दिखी. साल 2010 में हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज के नए गेंदबाज किमर  रोच ने एक बाउंसर गेंद फेंक कर कप्तान ग्रीम स्मिथ को चौंका दिया. इसके बाद जब बारी बल्लेबाजी की कैलिस की आई तब भी कई गेंदें किमर ने अच्छी फेंकी लेकिन एक गेंद के बाद उन्होंने कुछ कमेंट्स कर दिए. यह देखकर कैलिस ने भी किमर को जवाब देने में देरी नहीं की.

 

वीवीएस लक्ष्मण और प्रज्ञान ओझा

टीम इंडिया के राहुल द्रविड़ के बाद सबसे शांत और बेहतर व्यवहार करने वालों में से लक्ष्मण एक थे. वीवीएस लक्ष्मण के साथ कई बार खिलाडियों ने उलझने की कोशिश की लेकिन हर बार वे लक्ष्मण के व्यवहार की वजह से नाकाम हो गए. साल 2010 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली में होने वाले मैच में जब अंतिम विकेट बचे थे और क्रीज पर लक्ष्मण के सामने ओझा थे, उस समय ओझा से विकेटो के बीच दौड़ को लेकर कुछ गलती हो गयी. इसी बात को लेकर लक्ष्मण ने तेज़ी से चिल्लाते हुए ओझा को समझाने का प्रयास किया. हालाँकि इस मैच के आखिर में टीम इंडिया ने एक विकेट से शानदार जीत दर्ज की थी.

मैच देखने आये दर्शक और इंजमाम उल हक़

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंज़माम उल हक़ ने सन 1997 में मैच देखने एक दर्शक से उलझ गए. टोरंटो के मैदान में हुए इस वाकये में इंजमाम उल हक़ ने दर्शक के साथ शारीरिक बल का भी प्रयोग किया था. हालाँकि इसके लिए उन्हें गिरफ्तार भी किया गया लेकिन कुछ समय में ही छोड़ दिया गया.

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    NEWS: 3-0 से सीरीज जीतते ही भारतीय चयनकर्ताओ ने बाकी बचे 2 मैचो से...

    मौजूदा समय में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच वनडे मैचों की श्रृंखला खेली जा रही हैं और रविवार, 24 सितम्बर को इस पेटीएम...

    प्रो कबड्डी लीग : रोमांचक मुकाबले में एक अंक से जीती थलाइवाज की टीम

    नई दिल्ली, 24 सितम्बर (आईएएनएस)| कप्तान अजय ठाकुर के अंतिम पलों में किए गए बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर तमिल थलाइवाज ने प्रो कबड्डी...

    प्रो कबड्डी: लगातार घर में तीसरा मैच हारी दिल्ली

    नई दिल्ली, 24 सितम्बर (आईएएनएस)| दबंग दिल्ली प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के सीजन-5 में अपने घर में भी हार के सिलसिले को नहीं तोड़...

    रोहित व रहाणे को नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को दिया विराट ने जीत का...

    भारत और ऑस्ट्रेलियाई टीम के बीच चल रही पांच मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा वनडे मैच आज रविवार को इंदौर के होल्कर क्रिकेट स्टेडियम...

    तीसरा वनडे जीतने के बाद खुद विराट कोहली ने बताया क्यों चौथे नम्बर पर...

    ऑस्ट्रेलियाई टीम को पहले चेन्नई में 26 रनों से फिर उसके बाद कोलकता में 50 रनों से करारी शिकस्त देने के बाद आज रविवार...