आज हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गये मैच में टॉस जीतकर दिल्ली ने पहले गेंदबाजी का फैसला किया, और हैदराबाद को पहले बल्लेबाजी का निमन्त्रण दिया.

हैदराबाद पारी की शुरुआत डेविड वार्नर और शिखर धवन ने किया, दोनों ने पहले विकेट के लिए शानदार 67 रनों की साझेदारी निभाया, इस साझेदारी का अंत जयंत यादव ने वार्नर को बोल्ड कर करके किया, वार्नर ने 30 गेंदों में 6 चौके और 1 छक्के की मदद से 46 रन बनाये. वार्नर के बाद केन विलियम्सन बल्लेबाजी के लिए आये, उन्होंने धवन के साथ अभी सिर्फ 31 रन ही जोड़े थे, कि मिश्रा ने धवन को संजू सैमसन के हाथों कैच करा कर धवन की पारी का अंत किया, धवन ने 3 चौके की मदद से 37 गेंदों में 34 रनों की धीमी पारी खेली, धवन के आउट होने के बाद तो हैदराबाद की विकेट गिरने ही शुरू हो गये. पहले युवराज 8, फिर हेनरिक्स बिना खाता खोले पवेलियन लौटे. दीपक हुड्डा ने 10 रनों का सहयोग दिया, लेकिन काल्टर नील ने उन्हें चलता किया, कुछ देर बाद दुसरे छोर से साथ न मिलने की वजह से विलियम्सन भी 24 गेंदों में 3 चौके की मदद से 27 रन बनाकर आउट हुये.उसके बाद पूरी टीम निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट खोकर मात्र 146 रन ही बना सकी.

पंजाब की तरफ से काल्टर नील और मिश्रा ने 6 की औसत से रन देकर 2 विकेट झटके, जबकि शमी, मोरिस और जयंत को 1-1 विकेट मिले.

हैदराबाद द्वारा दिए गये 147 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद की शुरुआत कुछ ख़ास नहीं रही, ओपनर मयंक अग्रवाल 9 गेंदों में 2 चौके की मदद से 10 रन बनाकर आउट हुए. अग्रवाल के आउट होने के बाद करुण नायर और क्विंटन डी कॉक के बीच दुसरे विकेट के लिए 55 रनों की साझेदारी हुई, ये साझेदारी खतरनाक साबित होती उसके पहले ही हेनरिक्स ने नायर को बोल्ड कर इस पारी का अंत किया, नायर ने 17 गेंदों में 3 चौके की मदद से 20 रन बनाये, नायर के आउट होने के बाद उसी ओवर में हेनरिक्स ने डी कॉक को भी विकेट के पीछे नमन ओझा से कैच कराया, डी कॉक ने 31 गेंदों में 5 चौके और 2 छक्के की मदद से 44 रन बनाये.

डी कॉक के आउट होने के बाद संजू सैमसन और ऋषभ पन्त ने दिल्ली की बागडोर सम्भाला और सम्भलकर खेलना शुरू किया, दोनों ने कोई जोखिम नहीं उठाया और धीरे-धीरे टीम के लिए रन जोड़ते रहे. दोनों ने चौथे विकेट के लिए 50 गेंदों में 72 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत दिलाया. ऋषभ पन्त ने 26 गेंदों में 2 चौके और 3 छक्के की मदद से 39 रन बनाये, तो संजू ने 26 गेंदों में 2 चौके की मदद से 34 रन बनाये और टीम को 7 विकेट से बड़ी जीत दिला दिया.

अगर इन सबके बीच हैदराबाद की हार की बात करे, तो हैदराबाद को हराने में शिखर धवन और युवराज सिंह ने मुख्य भूमिका निभाया, इन दोनों ने टीम के लिए नहीं खेला, जहाँ धवन दिल्ली के गेंदबाजो के खिलाफ टेस्ट खेल रहे थे, तो ऐसा ही कुछ हाल युवराज सिंह का भी रहा, जो टीम की हार का मुख्य कारण रहा, वहीं आज मुस्ताफिजुर का न चलना भी हार की बड़ी वजह रहा.

संछिप्त स्कोरबोर्ड:

हैदराबाद: 146/8, 20 ओवर में (वार्नर 46, धवन 34, मिश्रा 3-19-2)

दिल्ली: 150/3, 18.1 ओवर में (डीकॉक 44, ऋषभ 39, संजू 34)

परिणाम: दिल्ली 7 विकेट से विजयी.

  • SHARE

    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    श्रीलंका के तेज गेंदबाज सुरंगा लमकल की मां ने इस भारतीय खिलाड़ी को बताया...

    किसी भी गेंदबाज के लिए उनके दौर में चल रहे सबसे सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज को आउट करना एक बहुत बड़ा सपना होता है। एक बल्लेबाज...

    भारत के पूर्व कप्तान धोनी और कोहली नहीं बल्कि यह भारतीय खिलाड़ी पहनता है...

    भारत के खिलाड़ी मैदान पर अपने खेल का जिस तरह से ध्यान रखते हैं ठीक उसी तरह से वो अपना ध्यान निजी ज़िदगी में...

    एशेज अपडेट : चोटिल हुए वार्नर की जगह ऑस्ट्रेलिया ने लम्बे समय से टीम...

    कल मंगलवार 21 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया टीम को उस समय एक बहुत बड़ा झटका लगा. जब ऑस्ट्रेलिया टीम के स्टार ओपनर बल्लेबाज एशेज टेस्ट...

    शाकिब अल हसन को अम्पायर से उलझना पड़ा महंगा, आईसीसी ने उठाया ये कठोर...

    बांग्लादेश के हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब अल हसन ने अपने बल्ले और गेंद के दमदार प्रदर्शन के दम पर अर्न्तराष्ट्रीय क्रिकेट जगत में जो ख्याति...

    OMG: इस दिग्गज खिलाड़ी की मात्र 16 साल की बेटी ने पार किया हॉटनेस...

    अॉस्ट्रेलिया के महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न का दीवाना कौन नहीं हैं. शेन वॉर्न जब भी गेंदबाज़ी करने के लिए आते थे तब हमेशा...