कोलकता के ईडन गार्डन मैच के चौथे दिन अगर भारत एक स्तिथि में खड़ा है, तो इसका मुख्य कारण भारतीय टीम के दो तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी रहे है.

भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी दोनों ने ही कोलकता के ईडन गार्डन की पिच पर श्रीलंका की पहली पारी के 4-4 विकेट लिए और श्रीलंका को 294 रन तक ही सीमित रखा. चौथे दिन का खेल खत्म होने के बाद भुवनेश्वर कुमार, अपने साथी गेंदबाज मोहम्मद शमी का इंटरव्यू लेते नजर आये जिसमे भुवनेश्वर ने मोहम्मद शमी से कई रोचक बातें पूछी.

भुवनेश्वर कुमार  : पहले दिन श्रीलंका ने जो बोलिंग की और तीसरे दिन जो हमारी बोलिंग आई तो दोनों दिनों में आपको विकेट में क्या डिफ़रेंस लगा?

मोहम्मद शमी : “हाँ जैसा हम देख रहे थे कि पहले दिन बार-बार बारिश हो रही थी और विकेट में मोइस्चर भी था तो ज्यादा मदद भी रही थी हम बाहर से यही सोच रहे थे, कि अगर हमारी जल्दी गेंदबाजी आती तो हम जल्दी आउट कर देते, लेकिन पहले दिन से तीसरे दिन की विकेट पर यह फर्क आ गया था, कि तीसर दिन धुप भी खिल गई थी और विकेट भी थोड़ा बल्लेबाजी के लिए काफी अच्छा हो गया था. हम लोगो के लिए हेल्प तो था लेकिन पहले दिन की तुलना में उतनी ज्यादा हेल्प नहीं था.”

भुवनेश्वर कुमार  : जब हमारी गेंदबाजी आई तो तीसरे दिन आप काफी अनलकी रहे, क्योंकि आप बल्लेबाजों को बीट कराये जा रहे थे, लेकिन विकेट नहीं मिल रहा था, इसलिए आप दुसरे दिन क्या सोच कर और किन तैयारियों के साथ मैदान में उतरे?

मोहम्मद शमी : “मुझे तीसरे दिन ऐसा लग रहा था कि क्या सीजन के सारे बीट आज ही होने है. अनलकी था मैं तीसरे दिन लेकिन मैंने सोचा कि चौथे दिन ज्यादा कोशिश करेंगे और ज्यादा कुछ ट्राई करेंगे.”

भुवनेश्वर कुमार : अच्छा जिस समय आप बल्लेबाजों को बीट करा रहे थे, तो उस समय दिमाग में क्या चल रहा था?

मोहम्मद शमी : “यार उस समय बहुत सारा कुछ दिमाग में आता है कभी फस्ट्रेशन होती है कभी खुद पर गुस्सा आ जाता है. बहुत सारी चीजे दिमाग में आ रही थी, लेकिन दिन के अंत में ही समझ में आया कि पेशंस बहुत बड़ी चीज है.”

भुवनेश्वर कुमार : विकेट पहले दिन के मुकाबले विकेट अलग था तो कुछ प्लानिंग थी विकेट को लेकर या उनके खिलाड़ियों को लेकर या खुद की ताकत व खामियों को लेकर?

मोहम्मद शमी : “हाँ, जैसे मैं तीसरे दिन बोलिंग किया था उसे मैंने थोड़ा चेंज किया, क्योंकि में पहले बहुत वाइड ऑफ़ द क्रीज डाल रहा था फिर मैंने मिक्स किया, लेकिन दुसरे एंड से भी मदद मिलना जरुरी था और तुमने बॉल डाला तो हेल्प भी मिली.”

भुवनेश्वर कुमार  : ऐसा इतिहास में सिर्फ तीसरी बार हुआ है कि सभी 10 विकेट तेज गेंदबाजो ने लिए है इस बारे में क्या कहेंगे?

मोहम्मद शमी : “हमारी ये नई जनरेशन चैलंजिंग विकेटो पर खेलना पसंद करती है और हमारी ये यूनिट काफी अच्छा भी कर रही है और मुझे लगता है कि हमें ऐसे रिकॉर्ड और ज्यादा आगे भी देखने को मिलेंगे.”

भुवनेश्वर कुमार  : अपना पिछला सीजन टर्निंग विकेट पर खेला था इसलिए इस सीजन में पहला ही मैच इस विकेट में खेलने पर कितना मजा आया?

मोहम्मद शमी : “बहुत दिन बाद ऐसा विकेट मिला है खासकर की हम भारत में ऐसा विकेट एस्पेक्ट भी नहीं करते है. धर्मशाला में कभी-कभी ऐसा विकेट देखने को मिलता है. लेकिन मैंने यहाँ पर ऐसा विकेट एस्पेक्ट नहीं किया था, इसलिए काफी एंजॉय किया इस विकेट में गेंदबाजी करने का. नहीं तो हम भारत में सिर्फ रिवर्स स्विंग का ही उम्मीद करते रहते है लेकिन  पिच पर स्विंग, सीम, बाउंस मिला.

वीडियो ऑफ़ द डे

  • SHARE

    Related Articles

    FACT: WWE दिग्गज रेस्लरो का कर रही है अपमान, जानबूझकर हरा रही है हर...

    WWE हमेशा ही अपने दिग्गज रेस्लरो को सम्मान देने के लिए जानी जाती है लेकिन मौजूदा समय में WWE कई ऐसे गलत काम कर...

    चार दिवसीय टेस्ट मैच में दिखेगा कई अनोखे नियम, 26 दिसंबर को होगा साउथ...

    जिम्बाब्वे और साउथ अफ्रीका के बीच खेले जाने वाले चार दिवसीय टेस्ट मैच में क्रिकेट प्रशंसकों को नए नियम देखने को मिल सकते हैं। अभी...

    बड़ी खबर : चयनकर्ताओं ने 20 दिसंबर से शुरू होने वाली भारत-श्रीलंका टी20 सीरीज...

    भारतीय टीम और श्रीलंकाई टीम के बीच वनडे सीरीज के बाद 20 दिसंबर से तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली जायेगी. जिसके लिए भारतीय...

    आज भी लोगो के सिर चढ़कर बोल रहा है सहवाग का जादू मैदान पर...

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग ने अपने करियर के दौरान दर्शकों का जमकर मनोरंजन किया है। वीरेन्द्र सहवाग की बल्लेबाजी...

    वीडियो : टी10 क्रिकेट में सहवाग की कप्तानी वाली भारतीय टीम के अफरीदी की...

    क्रिकेट का खेल साल 1877 में शुरू हुआ था, लेकिन क्रिकेट के पहले 94 सालों तक क्रिकेट में सिर्फ दो परियों में खेला जाने...