महेंद्र सिंह धोनी कि कप्तानी में पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका के पतन का राज़ - Sportzwiki
क्रिकेट

महेंद्र सिंह धोनी कि कप्तानी में पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका के पतन का राज़

  • 2011 विश्व कप में मिली जीत के बाद से लेकर अबतक 50 ओवर के खेल में टीम इंडिया के साथ महेंद्र सिंह धोनी का नाम एक सक्षम नेतृत्व करने वाले कप्तान के रूप में जुड़ा है. टीम इंडिया ने धोनी के नेतृत्व में कई कीर्तिमान स्थापित किये है. हाल हीं में जीते गए आईसीसी विश्वकप 2015 के 2 मैचो को मिला कर टीम इंडिया ने धोनी कि अगुवाई में अब तक 11 बड़े मैचो में से 9 मैच जीते है, जिनमे एक मैच इंग्लैंड के बिरुद्ध बंगलोर में टाई रहा था.

    आईसीसी विश्वकप 2015 में टीम इंडिया कि पहली भिड़ंत में पाकिस्तान के पतन का कारण रहा

    लगातार जीत:

    पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप विजय अभियान में भारत का उल्लेखनिय (6-0) से जीत का रिकॉर्ड. अगर हम साधारण भाषा में कहे तो विश्व कप मैच में पाकिस्तान कि टीम इंडिया से लगातार हो रही शिकस्त. इसकी शुरुआत 1992 आईसीसी विश्वकप के दौरान सिडनी में हुई थी और यह विश्वकप 2003 तक यू हीं बरकरार रहते हुए (4-0) तक आ पहुचा. ठीक इसी तरह कप्तान धोनी कि अगुआई में आईसीसी विश्वकप 2011 के दौरान भी टीम इंडिया के खिलाफ सेमीफाइनल में पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा और 2015 विश्व कप में भी यह सिलसिला यू हीं बरकरार रहा. इसका सीधा कारण है पाकिस्तान टीम पर अतिरिक्त दबाव, और इसी दबाव ने उनके प्रदर्शन को प्रभावित किया है.

    आईसीसी विश्वकप 2015 में टीम इंडिया कि दूसरी भिड़ंत में दक्षिण अफ्रीका के पतन का कारण रहा:

    हार की समाप्ति:

    हार की समाप्ति का सीधा अर्थ है, लगातार चल रहे सिलसिले का अंत. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मेलबर्न में खले गए आईसीसी विश्वकप 2015 से पहले टीम इंडिया ने विश्व कप में इनके खिलाफ 3 मैचो में हार का सामना किया था. पर 22 फरवरी 2015 में हुए विश्व कप मच के दौरान दक्षिण अफ्रीका को 130 रनों कि बढ़त से परास्त कर पिछली हार के सिलसिले को टीम इंडिया ने यही समाप्त कर दिया. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस मैच में सक्षम रणनीति का इस्तेमाल करते हुए धोनी ने अपने 3 तेज़ और 2 स्पिनरों कि मदद से अफ्रीकन बल्लेबाजी को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था.

    अबतक विश्व कप में कप्तान धोनी ने टीम इंडिया का सही मार्ग दर्शन किया है, और हम उम्मीद करते है कि आगे भी यह जीत का सिलसिला यू हीं बरकरार रहेगा और टीम इंडिया विश्व कप जीत कर कीर्तिमान स्थापित करेगी.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top