हैलो सर,

मै आपके शानदार करियर के लिए बधाई देना चाहता हू. आप महान हो, सिर्फ भारत में ही नहीं, बल्कि विकेटकीपिंग बल्लेबाजी में विश्व में महान हो. मेरे जीवन में कई शानदार क्षणों में तुम शामिल रहे हो. आपका वो छक्का जिसने भारत को विश्वकप जीताया, वो मेरे हमेशा दिल में रहेगा. मै दुसरे लोगों की तरह नहीं हू, जो हार जीत पर एक खिलाडी को दोष देते है. मै हमेशा मानता हू कि, ये टीम गेम है, और हार जीत पर टीम ही जिम्मेदार रहती है.

मैनें आपको पहले मैच से देखा, और तब से लेकर अब तक आप में कमाल का बदलाव हुआ है. आप जब शुरूआती दिनों में थे, तब आप बडे हिटर थे, लेकिन सभी को पता था कि, इस तरह से आप ज्यादा दिनों तक अच्छा नहीं खेल सकते. लेकिन आपने अपने खेल में गजब का परिवर्तन किया, और सफल रहे.

आपकी कप्तानी का मै बडा फैन हू. और आपके कई फैसले ऐसे थे, जो गजब के थे, लेकिन जीत ज्यादा महत्वपूर्ण है. जैसे मै टीम को मानता हू. जैसे सहवाग गांगुली की देन है, तो रोहित शर्मा आपकी देन है. ओपनर के रुप में आपने ही उसे बनाया.

 

लेकिन अब आप में पहले जैसी बात नहीं रहीं. आपके 2 साल पहले के फैसलों और अबके फैसलों में जमीन आसमान का अंतर है. और इस बात को हर कोई जानता है.

1. पहले आप कई मैचो को आखिर तक खींच लेते थे, लेकिन हम जानते थे कि, आप कहीं से भी मैच जीतवा सकते है. लेकिन अब वो बात नहीं रहीं, और अब आपको भी खुद पर विश्वास नहीं रहा.

2. मुझे पता है कि, जब पीच स्पिनरों को मदद करती है, तब आप बेहतरीन कप्तान बनते हो. लेकिन जब स्पिनरों के लिए कुछ नहीं रहता, तब आपके पास कम आईडिया होती है. जैसे कि, पहले वनडे में उमेश यादव अच्छी गेंदबाजी कर रहें थे, तभी अचानक से उनको हटाकर स्पिनरों को लगाया. और दूसरे वनडे में भी स्पिनरों को लगाकर गलती की.

3. अब आप मैच फिनीश करने में नाकाम हो रहे है, तब क्यों ना बल्लेबाजी क्रम में उपर आकर बल्लेबाजी करे? 2008-2010 समय में जब आप उपर बल्लेबाजी करते थे, तब भारत को आपने कई मैच जिताये है. मुझे पता है कि, कोई फिनीशर टीम में नहीं है, लेकिन आप भी अच्छा नहीं कर पा रहे हो. मनीष पांडे को आपने पाचवें वनडे में देखा ही है, किकैसे उन्होंने मैच भारत को जिताया.

4. हमे पता है कि, आपकी कप्तानी और बल्लेबाजी अब पहले जैसे नहीं रहीं, और आप दोनों चीजों का भार नहीं उठा पा रहे हो. हमे पता है कि, आप इससे कई गुना बेहतर प्रदर्शन कर सकते है, और अब युवाओं को मौका दे सकते है. और भविष्य में युवा खिलाडी को मौके देने ही होंगे.

 

 

नोट: यह लेटर भारतीय कप्तान को लेखक द्वारा लिखा गया है, उसके अपने विचार है, अगर किसी को किसी भी प्रकार से आहत पहुंचता है, तो माफ़ करे.

  • SHARE
    I am sagar an ardent fan of cricket. I want to become a cricket writer, i always suport virat kohli and ms dhoni in every international match, but not in ipl in ipl i always chear for mumbai indian and rohit sharma.

    Related Articles

    फोटोज: लिक हुई हार्दिक पंड्या के बचपन की कुछ ऐसी तस्वीरे जिसे अब किसी...

    अगर इन दिनों भारतीय क्रिकेट का कोई खिलाड़ी सबसे ज्यादा सुर्खियों में छाया हुआ है, तो वह निश्चित रूप से हार्दिक पांड्या ही है. हार्दिक...

    महेंद्र सिंह धोनी के बाद अब कप्तान मिताली राज की बायोपिक की हुई घोषणा,...

    लाखों युवा महिलाओं की प्रेरणा स्त्रोत बनी भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज को लेकर उनके चाहने वालों के लिेए बड़ी खबर...

    WWE NEWS: अगले हफ्ते होने वाली रॉ में जोड़े गये दो धमाकेदार मैच, अबकी...

    WWE रॉ में लगातार बदलाव करती रहती है और इस सेगमेंट में नजर आने वाले रेस्लरो की स्टोरीलाइन भी बदलती रहती है ताकि फैन्स...

    भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच के दौरान हुआ अजीबोगरीब किस्सा, गेंदबाज ने डाली गेंद मगर नही पहुँची...

    क्रिकेट मैच के दौरान कई ऐसे घटनाक्रम घट जाते हैं, जो बाद में खबरों के रूप में सामने आते हैं. ऐसा ही एक घटनाक्रम...

    आईजेपीएल से बाहर हुईं दिल्ली, हरियाणा

    दुबई, 26 सितम्बर; हरियाणा हरिकेंस और दिल्ली डैशर्स के बीच खेला गया मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ और इस कारण दोनों टीमों को इंडियन जूनियर...