people have started calling me 2nd Munaf Patel of Indian cricket
इंटरव्यूज

लोग मुझे दूसरा मुनाफ पटेल कहकर बुलाने लगे है : नाथू सिंह

  • भारत में असल में तेज़ गेंदबाज़ बहुत ही कम देखने को मिलते है जो 140 की रफ़्तार से लगातार गेंदबाज़ी कर सके, हाल ही में भारत को ऐसे दो गेंदबाज़ मिले थे, उमेश यादव और वरुण एरोन. एरोन चोट के चलते टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर सके तो उमेश यादव टीम का हिस्सा है लेकिन उनके प्रदर्शन में भी स्थिरता अभी तक नहीं आई है.

    इसी बीच काफी समय से भारतीय क्रिकेट में सुर्खिया बटौर रहे एक 21 वर्षीय युवा तेज़ गेंदबाज़ का नाम काफी समय से चर्चा में है. हम बात कर रहे है नाथू सिंह की. नाथू सिंह अपने कद और गेंदबाज़ी की रफ़्तार के कारण बहुत चर्चा में आये.

    यह भी पढ़े : भारतीय टीम को मिला स्विंग का सुल्तान, विरोधी बल्लेबाजों की छुट्टी करने में महारथ हासिल

    उन्हें जल्द ही आईपीएल का भी कॉन्ट्रैक्ट मिल गया और इस साल उन्हें मुंबई इंडियंस ने अपनी टीम का हिस्सा बनाया था, जहाँ उन्हें 3.9 करोड़ रूपए में खरीदा गया लेकिन आईपीएल शुरू होने से ठीक पहले उनकी कोहनी में चोट लग गयी और वह आईपीएल में हिस्सा नहीं ले सके.

    इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में नाथू सिंह ने कहा कि, मुझे पैसो से फर्क नहीं पड़ता मुझे आईपीएल में खेल कर अच्छा प्रदर्शन करना था लेकिन मुझे चोट बेहद गलत समय लगी.

    जयपुर, राजस्थान के पास एक छोटे से शहर सीकर से आने वाले नाथू सिंह जब मुंबई इंडियंस के लिए चुने गए तो वह उनके लिए एक बिलकुल ही अलग माहौल था. उन्होंने बताया की विश्व के इतने बड़े दिग्गज खिलाड़ियों को देखना बेहद ही शानदार था. मुझे काफी समय लगा इस सब बदलाव को समझने में और सीजन के आखिर में मेरी दोस्ती इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज़ जोस बटलर से हुई.

    यह भी पढ़े : कौन है नाथू सिंह??

    नाथू सिंह ने बताया कि उनकी सबसे बड़ी समस्या थी कि उन्हें अंग्रेजी नहीं आती थी. और जोस बटलर ब्रिटिश थे तो उनकी अंग्रेजी समझ पाना और भी कठिन था लेकिन थोड़े समय बाद नाथू बटलर की बात समझने लगे और उनसे अपनी टूटी फूटी इंग्लिश के साथ बात चीत करने लगे. नाथू ने कहा कि

    “थोडा अजीब लगता है. मुझे भी इंग्लिश सीखनी है, अगर समय मिला तो मैं इंग्लिश बोलने की क्लास में जाना चाहूँगा.”

    नाथू ने माना कि कई लोग उन्हें दूसरा मुनाफ पटेल कहते है. मुनाफ भी बड़ोदा से भारतीय टीम में आये थे और वो भी अपने कद और रफ़्तार के लिए जाने जाते थे. नाथू ने बताया ” कई लोग मुझे कहते है तू तो मुनाफ जैसे दीखता है और मुनाफ जैसा ही तेज़ गेंदबाज़ भी बन गया.” मैंने कभी इस तरह की तुलना की अपेक्षा नहीं की थी.

    यह भी पढ़े : दुलीप ट्राफी के पहले दिन रहा गेंदबाजों का दबदबा, हुआ कमाल

    नाथू चोट के चलते इस साल आईपीएल में हिस्सा नहीं ले सके थे, और इस पर उन्होंने बताया कि मुझे सभी सीनियर खिलाड़ियों ने एक ही सलाह दी है कि मैं अपनी फिटनेस पर पूरा ध्यान रखू. मेरी ट्रेनिंग से लेकर खाने पीने तक सब कुछ देखा जा रहा है. सब कुछ एक तय समय पर और कितनी मात्रा में करना सब कुछ हिसाब से किया जा रहा है.

    sw

    Most Popular

    Top