हर खेल में हर खिलाड़ी का ऐसा वक्त आता हैं जब वो अपने चरम पर होता हैं. क्रिकेट की बात करे, तो हर खिलाड़ी का एक साल तो ऐसा रहता ही हैं, जब वो अपने सबसे शानदार फॉर्म में होता हैं. जैसे सचिन तेंदुलकर 1998 में अपने करियर के पुरे चरम पर थे, जब उनको आउट करना मुश्किल हो गया था. ऐसे कई खिलाड़ीयों के साथ हुआ हैं, जब वे अपने सबसे शानदार फॉर्म में रहे हैं.

अब हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही 10 खिलाड़ी:

1. विराट कोहली (2016)

ये 2016 साल सिर्फ एक खिलाड़ी के नाम पर लिखा जाएगा, और वो हैं विराट कोहली. विराट कोहली ने इस साल टी ट्वेंटी क्रिकेट ऐसा प्रदर्शन किया हैं कि, हर कोई उनका दिवाना हो गया हैं. इस साल टी ट्वेंटी में कोहली का औसत 100 के उपर रहा हैं. टी ट्वेंटी विश्वकप में वे मैन अॉफ द सीरीज रहें, तो आईपीएल में भी वे मैन अॉफ द सीरीज रहें. और वे आउट होने का नाम नहीं ले रहे थे.

2. केन विल्यमसन (2015)

न्यूजीलैंड के नये कप्तान, और उभरते हुए बल्लेबाज, विल्यमसन के लिए 2015 साल काफी शानदार रहा. विल्यमसन ने साल 2015 में टेस्ट और वनडे दोनों में 1000 से ज्यादा रन बनाए, और सबसे बेहतरीन बल्लेबाज रहें.

3. कुमार संगाकारा (2014)

कुमार संगाकारा ने 2015 में क्रिकेट से सन्यास लिया हैं, लेकिन साल 2014 और 2015 के शुरूआत में संगाकारा ने कमाल का प्रदर्शन किया था. संगाकारा ने टेस्ट में उस दौरान 1400 से ज्यादा रन बनाए, तो वनडे विश्वकप के दौरान लगातार 4 शतक लगाने का नया रिकॉर्ड बनाया था.

4. हाशिम अमला (2010)

अमला फिलहाल विश्व क्रिकेट के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक हैं. अमला के करियर का सबसे शानदार साल 2010 रहा, जब उन्होंने टेस्ट और वनडे दोनों में 1000 से ज्यादा रन बनाए थे.

5. मिचेल जॉनसन (2013/2014)

जॉनसन ने 2013 ऐशेज सीरीज, और 2014 में दक्षिण अफ्रिका के खिलाफ सीरीज में जिस तरह गेंदबाजी की थी, उसका कोई तोड़ नहीं था. ऐशेज में उस साल जॉनसन ने 5 मैचों में 37 विकेट लिए थे, और इंग्लैंड के खिलाड़ी उनकी गेंदबाजी से काफी डरे हुए थे. तो अफ्रिका के खिलाफ सीरीज में भी जॉनसन ने 3 मैचों में 22 विकेट लिए थे.

6. माइकल क्लार्क (2012)

माइकल क्लार्क के लिए 2012 साल किसी सपने की तरह था. उस साल क्लार्क ने टेस्ट में 4 दोहरे शतक लगाए थे, और भारत के खिलाफ 329 रनों की पारी भी खेली थी. वो साल क्लार्क के लिए शानदार रहा था.

7. युवराज सिंह (2011)

युवराज सिंह के लिए साल 2011 कमाल का रहा था. युवराज ने 2011 विश्वकप में गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों से कमाल का प्रदर्शन किया था. युवराज उस टूर्नामेंट में मैन अॉफ द सीरीज भी रहे थे.

8. गौतम गंभीर (2008/2009)

गंभीर के लिए साल 2009 कमाल का रहा था. उस साल गंभीर ने 13 टेस्ट में 1861 रन बनाए थे, और गंभीर उस साल नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज भी बने थे.

9. मुथैया मुरलीधरन (2006)

साल 2006 मुरलीधरन का साल था. उस साल मुरलीधरन ने 11 टेस्ट में 90 विकेट लिए थे, जो कोई गेंदबाज ऐसा करने का सोच भी नहीं सकता. उस साल मुरलीधरन ने 4 बार 10 से ज्यादा विकेट लिए थे.

10. शेन वॉर्न (2005)

वॉर्न के लिए साल 2005 काफी बेहतरीन रहा था. उस साल वॉर्न ने 96 विकेट लिए थे. उस साल ऐशेज में 5 टेस्ट में वॉर्न ने 40 विकेट लिए थे.

  • SHARE

    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    गेंदबाजी में विराट कोहली के नाम दर्ज है ऐसा रिकॉर्ड जिसके आस-पास भी नहीं...

    क्रिकेट के खेल को आंकड़ो का खेल कहा जाता हैं. क्रिकेट का कोई मैच खेला जा रहा हो और रिकार्ड्स ना बने ऐसा भला...

    VIDEO: विराट कोहली की वजह से गौतम गंभीर ने सरेआम कर दिया था ‘मैन...

    क्रिकेट खेल के दौरान कभी-कभी खिलाड़ियों के बीच छीटाकंशी या फिर बहस की खबर आती रहती है। पर ऐसा भी देखने को मिलता है,जब...

    TOP 5: इन पांच WWE रेस्लरो को निकाल कर WWE ने मार ली है...

    WWE समय समय पर रेस्लरो को अपनी कंपनी से निकालती रहती है, निकाले जाने की वजह कुछ भी हो पर इससे फैन्स को बड़ा...

    किसी पाकिस्तानी या ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को नहीं बल्कि इस भारतीय खिलाड़ी को वर्तमान समय...

    पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कोहली की दिल खोलकर तारीफ की है. पाकिस्तान के दिग्गज तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का मानना है...

    वीरेंद्र सहवाग ने कहा सिर्फ इस एक शर्त पर ओलम्पिक में शामिल हो सकता...

    खेल के सबसे महाकुंभ दुनिया के ज्यादातर खेल शामिल किये गए हैं. खेल के इस सबसे बड़े समर में क्रिकेट और गोल्फ ही एक...