आईपीएल के इतिहास में कौन रहे ‘पर्पल कैप’ के विजेता !… देखिये यहाँ – Sportzwiki
क्रिकेट

आईपीएल के इतिहास में कौन रहे ‘पर्पल कैप’ के विजेता !… देखिये यहाँ

  • आईपीएल के इतिहास में ऐसे कई खिलाडी रहे जिन्होंने अपनी गेंदबाज़ी के धमाके से विरोधियों के छक्के छुड़ा दिए. उनके बेहतरीन प्रदर्शन ने टीम को जीतने में मदद की. यहाँ हम लेकर आये हैं आईपीएल के सभी सत्रों के पर्पल कैप विजेता खिलाडियों के नाम …

    2015 – ड्वेन ब्रावो -चेन्नई सुपर किंग्स
    माध्यम गति के इस गेंदबाज ने 2015 आईपीएल मव अपना जादू बिखेरा और इस स्तर में सबसे बेहतरीन गेंदबाज कहलाया व् पर्पल कैप का हकदार बना. ब्रावो ने 8 .13 के इकॉनमी रेट के साथ 17 मैचों में कुल 26 विकेट लिए.

    2014 – मोहित शर्मा- चेन्नई सुपर किंग्स
    युवा भारतीय खिलाडी 2014 में चेन्नई की टीम के लिए एक बढ़िया गेंदबाज साबित हुआ. उस दौरान मोहित ने 16 मैच खेले और 8 .39 के इकॉनमी रेट के साथ 23 विकेट लिए और 4 विकेट हॉल अपने नाम किये.

    2013 – ड्वेन ब्रावो – चेन्नई सुपर किंग्स
    2013 में भी ब्रावो ने कमाल का प्रदर्शन किया और चेन्नई की टीम के लिए खेलते हुए इस गेंदबाज ने 18 मैचों में 7 .95 की इकॉनमी रेट के साथ 32 बल्लेबाज़ों पर भरी पड़ा. इस दौरान इस खिलाडी ने 4 -विकेट हॉल लिए.

    2012 – मोर्ने मोर्केल – दिल्ली डेयरडेविल्स
    आईपीएल 2012 में दक्षिण अफ्रीका का ये तेज़ गेंदबाज दिल्ली की टीम का खिलाडी रहा और 16 मैचों में 7 .19 के इकॉनमी रेट के साथ कुल 25 विकेट लेकर पर्पल कैप का विजेता बना.

    2011 – लसिथ मलिंगा- मुंबई इंडियंस
    “यॉर्कर का राजा” मलिंगा मुंबई इंडियंस के लिए महत्वपूर्ण हिस्सा रहा इस दौरान मलिंगा ने 5 विकेट हॉल के साथ 6 की इकॉनमी रेट पर कुल 28 विकेट झटके.

    2010 – प्रज्ञान ओझा- डेक्कन चार्जर्स
    2010 में प्रज्ञान अपनी टीम का एक उभरता सितारा था. ओझा ने डेक्कन चार्जर्स के लिए 16 मैचों में 7 .29 की इकॉनमी रेट के साथ 21 विकेट लिए.

    2009 – रूद्र प्रताप सिंह- डेक्कन चार्जर्स
    यह तेज़ गेंदबाज 2009 में डेक्कन चार्जर्स के लिए खेल उस दौरान यह टीम आईपीएल विजेता बनी थी. रूद्र ने 16 मैचों में 6 .98 की अकनॉमी रेट के साथ 23 विकेट लिए थे.

    2008 – सोहेल तनवीर-  राजस्थान रॉयल्स
    पाकिस्तान का बाएं हाथ का कुशल गेंदबाज का अपनी टीम राजस्थान रॉयल्स को जीताने में महत्वपूर्ण योगदान रहा. उस दौरान सोहेल ने 11 मैचों में 6 .46 की इकॉनमी रेट के साथ 22 बल्लेबाज़ों की विकेट ली और 4 -विकेट और 5 -विकेट हॉल लेने में भी कामयाब रहा.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Most Popular

    Top