भारतीय टीम के स्टार ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गये पांचवे वनडे मैच में अपने शानदार शतक के चलते भारतीय टीम 73 रनों से जीत दिला दी और साथ ही रोहित शर्मा ने भारतीय टीम को सीरीज में भी 4-1 बढ़त दिलवा दी है.

पांचवे वनडे मैच में जमकर गरजा रोहित का बल्ला

भारतीय टीम के स्टार ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा शुरूचार वनडे मैच में बुरी तरह फेल रहे थे. वह भारतीय टीम के लिए शुरूआती चार वनडे मैच में मात्र 40 रन ही बना पाये थे, लेकिन चौथे वनडे मैच में स्टार ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने शानदार बल्लेबाजी की और भारतीय टीम के लिए एक शानदार 126 गेंदों में 115 रन का शतक लगाया रोहित की शतक की बदौलत ही भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 275 रन बनाने में कामयाब रही.

कुलदीप की फिरकी के आगे अफ़्रीकी बल्लेबाजों ने टेके घुटने 

जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ अफ्रीका की टीम भारत के स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव की फिरकी में फंस गई कुलदीप यादव की शानदार फिरकी गेंदबाजी का किसी भी साउथ अफ्रीका के बल्लेबाज के पास कोई जवाब नहीं था जिसके चलते साउथ अफ्रीका की पूरी टीम 42.2 ओवर में 201 रन पर आल आउट हो गई और भारतीय टीम ने यह मैच 73 रन से जीत लिया. कुलदीप यादव ने अपने कोटे के 10 ओवर में 57 रन देकर साउथ अफ्रीका टीम के चार महत्वपूर्ण विकेट लिए.

रोहित को शानदार शतक के लिए मिला ‘मैन ऑफ़ द मैच’

भारत के स्टार ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा को उनके शानदार दोहरें शतक के लिए ‘मैन ऑफ़ द मैच’ चुना गया. रोहित ने मात्र 126 गेंदों में 11 शानदार चौके व 4 गगनचुम्बी छक्कों की मदद से 115 रन की शानदार शतकीय पारी खेली.

ये कहा रोहित ने ‘मैन ऑफ़ द मैच’ लेते हुए 

भारत के स्टार ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने मैंन ऑफ़ द मैच लेते हुए कहा, यह शतक मेरे लिए एक लम्बे समय बाद चेहरें में मुस्कराहट लाया है. जैसे-जैसे यह खेल आगे बढ़ रहा था यह विकेट धीमी और धीमी होती जा रही थी इसलिए इस विकेट में बल्लेबाजी करना आसान नहीं था.

आपकों हमेशा अच्छा महसूस होता है जब आप 100 रन प्राप्त करते है और आपके शतक से आपकी टीम मैच जीतती है तो हमेशा और भी अच्छा महसूस होता है.

मुझे खुशी है, कि मैंने वापस अपनी फॉर्म पाई है आपको अपने आप को अपनी फॉर्म पाने के लिए मानसिक रूप से फिट रखना होता है.

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट खेलने के लिए एक अच्छी जगह है और मैं खुद का सही मन में रखने की कोशिश कर रहा हूं. मुझे पता था, कि मुझे अपने गेम पर बहुत ज्यादा बदलाव नहीं करने है. मैं यहाँ भी रन बना सकता हूं. 

मैं आज मैदान पर एक ही काम कर रहा था, मै गेंद को अच्छी तरह से देखकर मार रहा था और मुझे खुद पर विश्वास था कि मैं आज स्कोर करूँगा.

जब मुझे मेरे शतक के बाद एक जीवनदान मिला तो मैं और ज्यादा उत्साह में आ गया था. मेरे लिए महत्वपूर्ण था कि मैं लंबे समय तक बल्लेबाजी करू और टीम के लिए एक अच्छा स्कोर बनाऊ और मुझे खुशी है, कि हमने जितना भी स्कोर बनाया उसका बचाव किया है. 

जब तक आप कोई खराब शॉट नहीं खेलते हैं, तब तक आप वास्तव में आउट नहीं होते हैं. शीर्ष तीन को खेलने के लिए सबसे अधिक संख्या में गेंदें मिलती हैं और आपको इसे गिनती करना पड़ता है बाकी के लोगों ने पिछले कुछ मैचों में हमारे लिए रन बनाये थे और आज मेरा दिन था.

  • SHARE

    Related Articles

    अगले शीतकालीन ओलम्पिक मेंभी संयुक्त कोरियाई आइस हॉकी टीम!

    गांगनेयुंग (दक्षिण कोरिया), 19 फरवरी; आइस हॉकी की वैश्विक संस्था ने सोमवार को कहा कि वह अगले शीतकालीन ओलम्पिक खेलों में दोनों कोरियाई देशों की...

    खेलों इंडिया स्कूल गेम्स को पहले संस्करण को मिले 10 करोड़ दर्शक

    मुंबई, 19 फरवरी; खेल मंत्रालय द्वारा आयोजित और स्टार स्पोर्ट्स द्वारा प्रसारित खेलो इंडिया स्कूल गेम्स के पहले संस्करण ने अद्वितीय सफलता हासिल की। इस...

    एफए कप : टॉटेनहम ने कड़े मुकाबले में रोचडाले से ड्रॉ खेला

    रोचडाले, 19 फरवरी; इंग्लिश क्लब टॉटेनहम हॉटस्पर ने एफए कप के पांचवें दौर में रविवार को रोचडाले एफसी से 2-2 से ड्रॉ ख्ेाला। बीबीसी के...

    डब्ल्यूटीए रैंकिंग : कतर ओपन जीतकर शीर्ष-10 में लौटीं क्वितोवा

    मेड्रिड, 19 फरवरी; चाकू से हुए हमले में चोटिल होने के कारण काफी समय तक टेनिस से बाहर रहने के बाद पिछले साल चेक गणराज्य...

    स्पोर्ट्स राउंड अप: एक नजर में पढ़े 19 फरवरी 2018 की खेल जगत से...

    हम आपके खेल के प्रति प्रेम को बहुत अच्छे से समझते है और इसलिए हम रोज की तरह आपकी भाग-दौड़ भरी जिन्दगी में अपने...