टीम इंडिया से लंबे समय से बाहर चल रहे ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह और लेग स्पिनर अमित मिश्रा की एक के बाद एक वापसी हो गई है लेकिन बायें हाथ के धुरंधर ओपनर गौतम गंभीर पर चयनकर्ता कतई ‘गंभीर’ नहीं है।
          
राष्ट्रीय चयनकर्ता प्रमुख संदीप पाटिल और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव अनुराग ठाकुर श्रीलंका दौरे के लिए गुरुवार को यहां भारतीय टीम घोषित कर रहे थे। सवालों के बीच पाटिल से पूछा गया कि क्या ओपनर गौतम गंभीर पर कोई विचार किया गया, पाटिल ने दो शब्दों में इसका जवाब दिया ‘‘गंभीर पर कोई विचार नहीं किया गया।’’
          
इससे जाहिर होता है कि गंभीर इस समय राष्ट्रीय चयनकर्ताओं की योजनाओं से पूरी तरह बाहर हो चुके हैं। हरभजन को लंबे समय बाद बांग्लादेश दौरे में भारतीय टीम में शामिल किया गया जबकि मिश्रा को श्रीलंका दौरे के लिए भारतीय टेस्ट टीम में जगह मिली है। दो पुराने स्पिनरों की वापसी को देखते हुए यह उम्मीद की जा रही थी कि आईपीएल टीम कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान गंभीर पर टीम में वापसी के लिए कोई विचार किया जाएगा।
          
लेकिन जिस तरह का जवाब पाटिल ने दिया इससे यह स्पष्ट होता है कि गंभीर के लिए अब टीम इंडिया में वापसी काफी मुश्किल हो गई है। गंभीर ने अपना फॉर्म वापस करने के लिए ऑस्ट्रेलिया में पूर्व धाकड़ बल्लेबाज जस्टिन लेंगर के मार्गदर्शन में हाल में कड़ा अभ्यास भी किया था। 

मिश्रा की वापसी पर पाटिल ने कहा कि वह हमेशा हमारी योजनाओं का हिस्सा थे। पिछले वर्ष वह रिजर्व में थे। हमने श्रीलंकाई परिस्थितियों को देखते हुए इस दौरे के लिए उन्हें टीम में चुना है। लेफ्ट आर्म स्पिनर प्रज्ञान ओझा पर भी विचार हुआ था लेकिन हमें 15 खिलाड़ी ही चुनने हैं और परिस्थितियों को देखते हुए हमने मिश्रा को प्राथमिकता दी।
                 
33 वर्षीय बायें हाथ के ओपनर गंभीर ने भारत के लिए 56 टेस्टों में 42.58 के औसत से 4046 रन बनाए हैं जिनमें नौ शतक और 21 अर्धशतक शामिल हैं। आईसीसी के टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर रह चुके गंभीर की वीरेंद्र सहवाग के साथ काफी सफल जोड़ी रही थी लेकिन लंबे समय से दोनों ही नजरअंदाज हैं।
                 
गंभीर ने अपने 56 टेस्टों में से आखिरी टेस्ट गत वर्ष अगस्त में ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। उस दौरे में गंभीर का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था और वह मैनचेस्टर टेस्ट में चार और 18 तथा ओवल टेस्ट में शून्य और तीन रन ही बना पाये।
                 
इस दिग्गज बल्लेबाज को यदि अब टीम इंडिया में वापसी करनी है तो उन्हें अगले घरेलू सत्र में करिश्माई प्रदर्शन कर चयनकर्ताओं का ध्यान आकर्षित करना होगा। हालांकि गंभीर हमेशा कहते रहे हैं कि वह टीम चयन को ध्यान में रखकर नहीं खेलते हैं और उनका एक ही लक्ष्य होता है कि जिस टीम के लिए खेलो उसे जिताने की कोशिश करो।

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    कुछ ही घंटे बाद शुरू होने जा रहे एलिमिनेशन चैम्बर में अगर हुई ये...

    इस आर्टिकल में जानिए उन चीजो के बारे में जो इस बार एलिमिनेशन चैम्बर मैच में नहीं होने चाहिए. 5. रोमन करे ब्रोन को पिन फैन्स...

    चोट से परेशान क्रिस गेल हुए भावुक, नम आँखों से ये तस्वीर पोस्ट करने...

    ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीम की जब टी-20 क्रिकेट की बात आती है तो वैसे तो इसमें एक से एक विस्फोटक बल्लेबाज हैं जिनका कद...

    ट्राई सीरीज: भारतीय टीम की हुई त्रिकोणीय सीरीज के लिए घोषणा, इन 5 को...

    साउथ अफ्रीका के दौरे पर सफलता पूर्वक खत्म करने के बाद अब टीम इण्डिया को अगले मिशन पर जाना है। टीम इण्डिया का अगला...

    इस खास अंक की वजह से सचिन बने क्रिकेट के भगवान, वर्ना हो जाते...

    भारत में क्रिकेट की पहचान किसी से बनी है,तो वो हैं मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर। ये सचिन की प्रतिभा का ही कमाल है कि...

    VIDEO: तीसरे टी-20 के दौरान गब्बर शिखर धवन का गुस्सा शांत करने के लिए...

    भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन टी20 मैचों का निर्णायक मुकाबला शनिवार,यानि 24 फरवरी को केपटाउन में खेला गया।हो चुके इस रोमांचक मुकाबले...