क्रिकेट के इतिहास में छह सबसे नि: स्वार्थ घटनाएं – Sportzwiki
क्रिकेट

क्रिकेट के इतिहास में छह सबसे नि: स्वार्थ घटनाएं

  • Prev1 of 6
    Use your ← → (arrow) keys to browse

    क्रिकेट एक जेंटेलमैन खेल हैं, और हर मैच में जीत और हार के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी एक दुसरे से हाथ मिलाते हैं. अब कई सवाल उठते हैं कि,क्या क्रिकेट अब भी जेंटेलमैन खेल हैं? लेकिन कई बार क्रिकेट इतिहास में नि: स्वार्थ की घटनाएं हमने देखी हैं.

    आइये अब हम आपको क्रिकेट इतिहास के कुछ ऐसे ही नि: स्वार्थ घटनाएं बताते हैं:

    1. रिचर्ड हैडली ने 10 विकेट लेने से इंकार किया:

    Richard Hedleyये टेस्ट मैच अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ साल 1985 में ब्रिसबेन में खेला जा रहा था. इस टेस्ट मैच को रिचर्ड हैडली की शानदार गेंदबाजी की वजह से हमेशा याद किया जाता हैं, लेकिन रिचर्ड हैडली ने इस मैच में जो नि: स्वार्थ भाव दिखाया था उसका कोई जवाब नहीं था. रिचर्ड हैडली अॉस्ट्रेलिया के 8 विकेट ले चुके थे, और उनके पास एक पारी में 10 विकेट लेने का अच्छा मौका था. 9वें विकेट का कैच रिचर्ड हैडली के पास आया, और हैडली वो कैच छोड़ भी सकते थे, लेकिन उन्होंने ऐसा किया नहीं और एक बड़े रिकॉर्ड से चुक गये. हैडली ने फिर आखिरी विकेट लेकर एक पारी में 9 विकेट लिए, लेकिन उस कैच ने उनको और भी महान बना दिया. हैडली ने फिर दुसरी पारी में 6 विकेट लिए और पुरे मैच में 15 विकेट लिए, और न्यूजीलैंड को जीत दिलाई.

    यह भी पढ़े : मैच के बाद बोले भारतीय कप्तान, आख़िरी गेंद पर मुझसे हुई चूक

    Prev1 of 6
    Use your ← → (arrow) keys to browse

    sw

    Most Popular

    Top