खेल डेस्क, बीते वर्ष तक आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स टीम की कमान सँभालने वाले टीम इंडिया के सीमित ओवेरों के कप्तान एम एस धोनी वर्तमान आईपीएल में पुणे सुपरजायंट्स टीम के कप्तान हैं. धोनी की कप्तानी में पहली बार ऐसा हुआ है जब आईपीएल में उनकी टीम ने इतना ख़राब प्रदर्शन किया हो. मालूम हो कि इस बार पुणे लगभग-लगभग आईपीएल से बाहर हो गयी है.

जबसे आईपीएल -9 शुरू हुआ है तबसे धोनी के कई फैसलों को लेकर भी सवालिया निशान खड़े होते रहे हैं. धोनी ने इरफ़ान पठान को भी कम मौके दिए हैं. आईपीएल में इरफ़ान पठान ने अभी तक महज एक ही मैच खेला है और सिर्फ एक ओवर की गेंदबाजी करते हुए 7 रन दिए हैं. ज्ञात हो कि इरफ़ान पठान पिछले कई आईपीएल में शानदार गेंदबाजी करते रहे हैं इसलिए उनको टीम में जगह न दिए जाने पर प्रश्न उठाना स्वाभाविक है.

पुणे सुपरजायंट्स के गेंदबाज इरफ़ान पठान को टीम में जगह न मिलने की कई वजह बताई जा रही हैं. कई लोगों का मानना है कि चूंकि पुणे में रजत भाटिया पहले से ही मौजूद हैं इसलिए पठान को जगह नहीं मिल रही है. वही, कई क्रिकेट पंडितों का यह भी कहना है कि धोनी कि रणनीति का यह हिस्सा है. धोनी हमेशा से ही अनुभव के बजाये कम उम्र के खिलाड़ियों को मौका देते हैं. इसका उदहारण धोनी ने साल 2007 के टी-20 विश्व कप में भी दिया था. उन्होंने अंतिम ओवर में जोगिन्दर शर्मा को गेंद थमा कर सभी को चौंका दिया था. हालाँकि, उस समय टीम ने जीत हासिल की थी लेकिन इस बार दांव उल्टा पड़ गया.

माध्यम गति के तेज़ गेंदबाज इरफ़ान पठान को अंतिम 11 में मौका न दिए जाने के पीछे एक तर्क यह भी दिया जा रहा है कि धोनी हमेशा ही 11 बेस्ट खिलाड़ियों को टीम में चुनते हैं और फिर उनपर भरोसा दिखाते हैं. ऐसे में अगर वह खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं भी करता है तो भी उसको बाहर करने के बजाये टीम में और मौके देते हैं. ऐसा इंटरनेशनल क्रिकेट में रैना, जडेजा, रोहित शर्मा आदि के साथ होता आया है. पिछले कई आईपीएल टूर्नामेंट में रजत भाटिया ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, इसलिए उन्हें टीम में धोनी ने जगह दी.

इरफ़ान पठान अभी तक आईपीएल में कई टीमों का हिस्सा रह चुके हैं. पहले तीन सत्र किंग्स इलेवन पंजाब टीम की ओर से खेलने वाले पठान उसके बाद दिल्ली टीम का हिस्सा बने और फिर हैदराबाद की तरफ से भी आईपीएल में खेले. पिछले सीजन में इरफ़ान पठान को चेन्नई सुपरकिंग्स ने खरीदा लेकिन पूरे सत्र के दौरान एक मैच में भी नहीं खिलाया. अब पठान पुणे टीम का हिस्सा हैं लेकिन यहाँ पर भी उनकी हालत पिछले सीजन जैसी ही है. इस बार भी पठान को ज्यादा मैच में बाहर ही बैठे रहे हैं.

बताते चलें कि इरफ़ान पठान ने बीते दिनों सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बेतरीन प्रदर्शन करके दिखाया था. उन्होंने 10 मैच खेलते हुए 17 विकेट हासिल किये थे. इसके अलावा पठान ने आईपीएल में भी बढ़िया प्रदर्शन किया है.

यहाँ देखे भाटिया का प्रदर्शन:

यहाँ देखे पठान का प्रदर्शन:

  • SHARE
    I am ankur tiwari an ardent fan of cricket. I want to become a cricket writer, i always suport ms dhoni and suresh raina in every international match, but not in ipl in ipl i always chear for delhi and ms dhoni.

    Related Articles

    VIDEO: भारत ने अपने अंतिम एकादश में जोड़ा एक और लेग स्पिनर 300 से...

    आज रविवार, 24 सितम्बर को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच वनडे मैचों की श्रृंखला का तीसरा मुकाबला खेला जायेगा. दोनों टीमों के बीच...

    आज ही के दिन पाकिस्तान को हरा कर पहला टी-20 वर्ल्ड कप अपने नाम...

    भारतीय टीम के लिये 2007 साल की शुरुआत कुछ खास नही रही थी. भारत को 2007 में खेलें गए 50 ओवर के  वर्ल्ड कप...

    तीसरे वनडे में इन 11 खिलाड़ियों के साथ मैदान पर श्रृंखला जीतने के इरादे...

    चेन्नई और कोलकाता एकदिवसीय जीतने के बाद मेजबान भारतीय टीम के हौसले एकदम बुलंद दिखाई दे रहे हैं. भारतीय टीम का प्रदर्शन भी तक...
    विराट कोहली

    युवराज सिंह के 2 बहुत ही खास रिकॉर्ड को तीसरे वनडे में तोड़ देंगे...

    भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं. विराट कोहली ऐसे बल्लेबाज हैं, जो अपनी नाकामियों से लगातार सीखते हैं....

    इस दिग्गज भारतीय खिलाड़ी ने बताया ऑस्ट्रेलिया को उसकी गलती, बताया क्यों करना पड़...

    यदि किसी चीज में विविधताएं होती हैं तो वह जीवन में खाने में मसाले की तरह काम करती हैं. साथ ही वह कई दिक्कतों...