भारतीय टीम एक बार फिर टेस्ट की नम्बर 1 टेस्ट टीम बन गयी है, यह दूसरा मौका है जब भारतीय टीम टेस्ट में नम्बर 1 टीम बनी हो, इसके पहले भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम कों नम्बर 1 बनने का मौका मिला था. अब ऐसा करने वाले विराट कोहली दुसरे भारतीय कप्तान बन गये है.

भारत कों नम्बर 1 टेस्ट टीम बनाने में सिर्फ विराट कोहली का हाथ नहीं है, भारत कों नम्बर 1 बनाने में मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, रिद्धिमान साहा, अंजिक्य रहाने जैसे दिग्गज बल्लेबाजों के साथ अश्विन, इशांत शर्मा, उमेश यादव, अमित मिश्रा और हरभजन सिंह के साथ पूरी भारतीय टीम का अहम योगदान रहा है.

पुजारा तीसरे नम्बर पर बल्लेबाजी करने के लिए रोहित शर्मा और रहाने से बेहतर बल्लेबाज क्यों है???

अब जब भारतीय टीम नम्बर 1 टेस्ट टीम बन चुकी है, तो अब भारत के सामने सबसे बड़ी समस्या होगी अपनी टेस्ट टीम रैंकिंग कों सुरक्षित करने का, इसके लिए भारतीय टीम कों अपना अगला ही मैच वेस्टइंडीज से जीतना होगा अगर भारतीय टीम यह मैच हार जाती है या फिर किसी कारण वश यह मैच ड्रा हो जाता है, तो भारत के हाथ से नम्बर 1 का ताज छीन जायेगा और उसका चिरप्रतिद्वंदी पाकिस्तान इस पर अपना कब्जा जमा लेगा.

भारत ने चौथा और अंतिम टेस्ट मैच शुरू होने से पहले इसे जीतने की तैयारी शुरू कर दी है, आज शाम भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कांफ्रेंस में मिडिया के सामने अपनी तैयारियों के बारे में बताया, लेकिन इन सब के बीच आज फिर विराट कोहली ने यह संकेत दे दिया, कि चेतेश्वर पुजारा कों अगले टेस्ट में भी बाहर ही बैठना होगा.

चेतेश्वर पुजारा कों एक समय राहुल द्रविड़ की जगह भारत का अगला वाल कहा जाता था, पुजारा जब ठान ले, तो उन्हें आउट कर पाना किसी भी गेंदबाज के लिए मुश्किल हो जाता है, वर्तमान समय में पुजारा सबसे उम्म्दे भारतीय बल्लेबाज है, इस भारतीय खिलाड़ी के अंदर वो सभी गुण मौजूद है, जो एक खिलाड़ी कों टेस्ट क्रिकेट का महान खिलाड़ी बनाती है.

चेतेश्वर पुजारा की काबिलियत का पता इसी से चलता है, कि इस भारतीय खिलाड़ी ने लिस्ट A करियर में 82 मैचों में 81 मैचों में बल्लेबाजी किया, जिसमे वो 15 बार नॉट आउट रहे और इस बीच उन्होंने 54.12 की औसत से 3572 रन बनाये. तो प्रथम श्रेणी क्रिकेट के 127 मैचों में 209 पारी में उन्हें बल्लेबाजी का मौका मिला, इस बीच पुजारा ने 54.65 की औसत से 9784 रन बनाये, जिसमे 31 शतक और 32 अर्द्धशतक शामिल है.

बाल-बाल बचे रोहित शर्मा! खत्म हो सकता था क्रिकेट करियर

वहीं पुजारा ने जब भारतीय टीम के लिए खेलना शुरू किया, तो उनका प्रदर्शन एक टेस्ट बल्लेबाज के रूप में काफी अच्छा रहा, पुजारा ने महेंद्र सिंह धोनी और कोहली की कप्तानी में अब तक 34 टेस्ट मैच खेले, जिसमे 58 बार पुजारा को बल्लेबाजी का मौका मिला, जिसमे पुजारा ने 46.83 की औसत से पुजारा ने 2482 रन बनाये, जिसमे एक दोहरा शतक 206 नॉट आउट शामिल है, पुजारा ने भारत के लिए 7 शतक और 7 अर्द्धशतक भी लगाया.

पुजारा के इतने शानदार प्रदर्शन के बाद भी इस समय पुजारा कों भारतीय टीम में जगह नहीं मिल पा रही है, जब से विराट कोहली भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान बने है, उन्होंने पुजारा कों लगातार भारतीय टीम में जगह नहीं दी है, पुजारा कों कभी रहाने, कभी धवन तो कभी मुरली विजय और रोहित शर्मा की वजह से बाहर बैठना पड़ा है.

इस समय भारतीय कप्तान अपने दोस्त रोहित शर्मा कों टीम में जगह देने के लिए पुजारा कों बाहर बैठा चुके है, तो खुद अपनी बल्लेबाजी क्रम मे परिवर्तन कर तीसरे नम्बर पर बल्लेबाजी के लिए आ गये है, जबकि तीसरे स्थान पर उनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा है, तो वहीं अंजिक्य रहाने का बल्लेबाजी क्रम परिवर्तित कर दिया है, जिससे रहाने के प्रदर्शन पर भी असर पड़ना स्वभाविक है, लेकिन इस समय वो रोहित शर्मा कों पुजारा की जगह टीम में जगह देने के लिए कुछ भी करने कों तैयार है.

रोहित शर्मा ने दूसरी पारी में बना डाला वो रिकॉर्ड जों आज तक दुनिया का सिर्फ एक बल्लेबाज के नाम था

वहीं जब महेंद्र सिंह धोनी टेस्ट कप्तान हुआ करते थे तो पुजारा की राहुल द्रविड़ की जगह तीसरे नम्बर पर जगह पक्की थी,  रोहित कों उनकी टेस्ट में नाकामयाबी की वजह से भारतीय टीम में जगह नहीं दी जाती थी, जबकि विराट कोहली की कप्तानी में इसका उल्टा हुआ है, भारतीय कप्तान ने अपनी कप्तानी में पहला सीरीज श्रीलंका के विरुद्ध खेली जहाँ उन्होंने पुजारा कों टीम के बाहर बैठाये रखा, उन्होंने पुजारा कों टीम में जगह तब दिया, जब मुरली विजय और शिखर धवन चोटिल हुए उस मैच में पुजारा ने शानदार बल्लेबाजी किया और ओपनिंग करते हुए शतक लगा उस मैच में भारतीय टीम कों जीत दिलाया था, जबकि अन्य बल्लेबाजों का प्रदर्शन उस मैच में काफी खराब रहा था.

उसके बाद साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारत में हुई टेस्ट सीरीज में भी विराट ने यही किया, और अब जब भारतीय टीम वेस्टइंडीज में खेल रही है, तो कोहली ने पुजारा कों बाहर कर रोहित शर्मा कों टीम में जगह दे दी है, जबकि रोहित शर्मा के टेस्ट करियर की बात करे, तो प्रथम श्रेणी मैचों में रोहित का प्रदर्शन शानदार रहा है, रोहित ने प्रथम श्रेणी में 76 मैचों की 119 पारियों में बल्लेबाजी किया जिसमे उन्होंने 53.77 की औसत से 5861 रन बनाये जिस दौरान रोहित ने 19 शतक लगाये, तो 24 अर्द्धशतक भी लगाया. रोहित का यह रिकॉर्ड पुजारा से काफी बेहतर है, लेकिन जब अन्तराष्ट्रीय मैच में प्रदर्शन की बात आती है, तो रोहित शर्मा पुजारा से पीछे रह जाते है, अन्तराष्ट्रीय टेस्ट मैचों में अब तक रोहित शर्मा कों 17 टेस्ट मैचों में मौका मिला है, जिसमे 31 बार रोहित शर्मा बल्लेबाजी के लिए आये है, इस दौरान रोहित शर्मा ने 32.62 के मामूली औसत से मात्र 946 रन बनाये है, रोहित ने इस दौरान 2 शतक और 4 अर्द्धशतक भी लगाये.

विराट कोहली ने दिया रोहित शर्मा कों चौथे टेस्ट में भी शामिल करने का संकेत

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तो रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा से बेहतर है, लेकिन जब बात अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट की आती है तो पुजारा, रोहित कों काफी पीछे छोड़ देते है, ऐसे में पुजारा कों भारतीय टीम में जगह मिलनी चाहिए, लेकिन भारतीय कप्तान शायद कुछ और ही सोच रहे है, भारतीय कप्तान रोहित शर्मा कों अपने आप कों साबित करने का और मौका देना चाहते है.

कुछ क्रिकेट विशेषज्ञों की माने तो उनका कहना है, कि विराट कोहली अपनी कप्तानी बचाने के लिए चेतेश्वर पुजारा कों भारतीय टीम से दूर रखना चाहते है, क्योंकि अगर वर्तमान समय में भारतीय टेस्ट टीम में कोहली के बाद कप्तानी का कोई प्रबल दावेदार है, तो वो चेतेश्वर पुजारा है, अगर बात कोहली के टेस्ट प्रदर्शन की किया जाये तो अब तक विराट कोहली ने 44 टेस्ट मैच के 76 पारियों में 45.06 की औसत से 3245 रन बनाये है, जिस दौरान विराट कोहली ने 12 शतक और 12 अर्द्धशतक लगाये है, तो अभी हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गयी 200 रनों की पारी उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी है, ऐसे में पुजारा भारतीय कप्तान कों कड़ी टक्कर दे रहे है, और कोहली नहीं चाहते है कि भारतीय टीम में कोई उनसे उनकी कप्तानी छीने, हालाँकि ऐसी होने की कोई उम्मीद नहीं है ये सिर्फ कोरी कल्पना है.

मुझे पता है विराट क्या चाहता है : चेतेश्वर पुजारा

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा कों लेकर एक ऐसी टीम बनाना चाहते है, जों टेस्ट, टी-20 और वनडे में भारत कों नम्बर 1 टीम बना सके, क्योंकि जिस तरह से रोहित का टेस्ट में प्रदर्शन अच्छा नहीं है, ठीक उसी प्रकार पुजारा टी-20 और वनडे में अब तक अपने आप कों भारतीय टीम में स्थापित नहीं कर पाये है.

  • SHARE
    मै कृष्णा सिंह sportzwiki में एडिटर के तौर पर कार्यरत हूँ, स्पोर्ट्स से शुरू से ही मेरा काफी लगाव रहा है, और तभी से मैंने इसी फिल्ड में अपना करियर बनाने का फैसला किया था, जिससे मै और लोगों के बिच स्पोर्ट्स कों और प्रसिद्ध बनाने में सफल हो पाऊ, और यह मौका मुझे sportzwiki से मिला.

    Related Articles

    WWE SMACKDOWN RESULTS 18 अक्टूबर 2017: ये रहे मैचो के रिजल्ट्स

    इस बार स्मैकडाउन की शुरुआत डेनियल ब्रयान ने की, उन्होंने कुछ बड़े मैचो की अनाउंसमेंट की. अनाउंसमेंट करते हुए सेमी जेन रिंग में आ...

    वार्मअप मैच- बोर्ड प्रेसीडेंट इलेवन ने कीवि टीम के कतरे पर, 30 रनों की...

    न्यूजीलैंड की क्रिकेट टीम के भारत दौरे की शुरूआत हो गई हैं जहां उसे मंगलवार को मुंबई के ऐतिहासिक मैदान ब्रेबॉर्न स्टेडियम में खेले...

    पाकिस्तानी क्रिकेटर का पीसीबी पर गंभीर आरोप, जगह बनाने के लिए करना पड़ता है...

    पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर सकलैन मुश्ताक ने मगंलवार को एक न्यूजपेपर को दिए साक्षात्कार में अपनी टीम को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा...

    SMACKDOWN PREDICTION: यहां जानिए स्मैकडाउन में किस मैच में किसका होगा किससे मुकाबला

    यहां पढ़िये कल होने वाली स्मैकडाउन में रेस्लर्स कौन सी स्टोरीलाइन में नजर आयेंगे. 1.बैरन कोर्बिन vs एजे स्टाइल्स  हेल इन द सेल में यूनाइटेड स्टेट्स...

    न्यूजीलैंड की टीम को अभ्यास मैच में ही लगा बड़ा झटका, ये खिलाड़ी चोट...

    भारतीय क्रिकेट टीम के सामनें अब न्यूजीलैंड की चुनौती है। भारतीय टीम की हालिया फॉर्म को देखकर तो आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता...