भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर जाने से पहले भारतीय टीम के लिए ये दौरा आसान नहीं माना जा रहा था। भारतीय टीम को इस दौरे पर कड़ी चुनौती मिलने की पूरी संभावना थी, लेकिन जिस दक्षिण अफ्रीका की टीम ने टेस्ट सीरीज में भारत को हराया वो टीम 50 ओवर्स का फॉर्मेट आते ही इस तरह से हथियार डालेगी ये किसी ने नहीं सोचा था। मेजबान दक्षिण अफ्रीका को भारत के हाथों वनडे सीरीज में हार का सामना करना पड़ा है।

हम आपको दक्षिण अफ्रीका की विश्वस्तरीय टीम के भारत के हाथों वनडे सीरीज में हार का आकलन करके बताते हैं। जाने दक्षिण अफ्रीका की हार के पांच कारण….

खिलाड़ियों की चोट से पहुंचाई सीरीज हार की चोट

दक्षिण अफ्रीका की टीम भारत के खिलाफ वनडे सीरीज गंवा चुका है। इस हार का ट्रेलर सीरीज से पहले ही दिखने लगा था जब प्रोटीयाज टीम के सबसे बड़े खिलाड़ी एबी डीविलियर्स चोट के कारण सीरीज के पहले तीन मैचों से बाहर हो गए। एबी के झटके से अभी टीम उभरी भी नहीं थी कि पहले वनडे मैच के बाद कप्तान फाफ डू प्लेसीस भी चोटिल होकर सीरीज से ही बाहर हो गए। इसके बाद रही-सही कसर विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डीकॉक के दूसरे वनडे मैच में चोटिल हो जाने के बाद सीरीज हार तय हो गई।

स्पिनर्स नहीं छोड़ सके अपना प्रभाव

भारतीय स्पिन ट्विन्स युजवेन्द्र चहल और कुलदीप यादव ने इस सीरीज में शानदार गेंदबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी को तहस-नहस कर दिया। लेकिन जब बात करे दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर्स इमरान ताहिर और तबरेज शम्सी की तो वो इस सीरीज में बिल्कुल भी अपना प्रभाव नहीं छोड़ सके। इमरान ताहिर और तबरेज शम्सी की हालात तो ये हो गई कि वो एक अदद विकेट को भी तरसते दिखे जिससे उन्हें सभी मैच खेलने का मौका तक नहीं मिला।

अनुभव की कमी

टेस्ट सीरीज में दक्षिण अफ्रीका की पूरी प्रमुख टीम खेली थी जिससे उनका साफतौर पर दमखम दिखा था लेकिन जब वनडे सीरीज शुरू हुई तो दक्षिण अफ्रीका के एक-एक दिग्गज खिलाड़ी चोटिल होकर बाहर होता गया और टीम में नए चेहरों की एन्ट्री हुई। इन नए और अनुभवहीन खिलाड़ियोें के लिए दिग्गजों से लैस भारतीय टीम का सामना करना कतई आसान नहीं था। जो इस सीरीज नजर भी आया।

मिलर और डुमिनी में दिखा निरंतरता का अभाव

दक्षिण अफ्रीका के मिडिल ऑर्डर के धाकड़ बल्लेबाज डेविड मिलर और जेपी डूमिनी की ताकत से कौन वाकिफ नहीं है। इन दोनों खिलाड़ियों ने कई बार दक्षिण अफ्रीका को कई बार मुश्किलों से उबारकर जीत दिलायी है। लेकिन डेविड मिलर और जेपी डूमिनी इस सीरीज में कोई कमाल नहीं कर सके। इस सीरीज के पांच मैचों में अब तक दोनों ही बल्लेबाजों ने एक-एक पारी ही अच्छी खेली है लेकिन निरंतर रन नहीं कर सके।

प्रमुख खिलाड़ियों के नहीं होने पर अमला नहीं दिखा सके जिम्मेदारी

दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज फाफ डू प्लेसीस, एबी डीविलियर्स और क्विंटन डी कॉक इस सीरीज में एक-एक करके बाहर होते गए। ऐसे में जब इन प्रमुख बल्लेबाजों के बाहर होने पर दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी बल्लेबाज हाशिम अमला के कंधो पर एक बड़ी जिम्मेदारी आ गई। अमला को बल्लेबाजी के दौरान जिम्मेदारी दिखाने की जरूरत थी लेकिन अमला ने पांचवे वनडे में अच्छी पारी के अलावा पहले चार मैचों में कोई कमाल नहीं कर सके और पहले तीन मैचों में ही दक्षिण अफ्रीका की सीरीज हार की कहानी लिखी जा चुकी थी।

  • SHARE

    Related Articles

    अगले शीतकालीन ओलम्पिक मेंभी संयुक्त कोरियाई आइस हॉकी टीम!

    गांगनेयुंग (दक्षिण कोरिया), 19 फरवरी; आइस हॉकी की वैश्विक संस्था ने सोमवार को कहा कि वह अगले शीतकालीन ओलम्पिक खेलों में दोनों कोरियाई देशों की...

    खेलों इंडिया स्कूल गेम्स को पहले संस्करण को मिले 10 करोड़ दर्शक

    मुंबई, 19 फरवरी; खेल मंत्रालय द्वारा आयोजित और स्टार स्पोर्ट्स द्वारा प्रसारित खेलो इंडिया स्कूल गेम्स के पहले संस्करण ने अद्वितीय सफलता हासिल की। इस...

    एफए कप : टॉटेनहम ने कड़े मुकाबले में रोचडाले से ड्रॉ खेला

    रोचडाले, 19 फरवरी; इंग्लिश क्लब टॉटेनहम हॉटस्पर ने एफए कप के पांचवें दौर में रविवार को रोचडाले एफसी से 2-2 से ड्रॉ ख्ेाला। बीबीसी के...

    डब्ल्यूटीए रैंकिंग : कतर ओपन जीतकर शीर्ष-10 में लौटीं क्वितोवा

    मेड्रिड, 19 फरवरी; चाकू से हुए हमले में चोटिल होने के कारण काफी समय तक टेनिस से बाहर रहने के बाद पिछले साल चेक गणराज्य...

    स्पोर्ट्स राउंड अप: एक नजर में पढ़े 19 फरवरी 2018 की खेल जगत से...

    हम आपके खेल के प्रति प्रेम को बहुत अच्छे से समझते है और इसलिए हम रोज की तरह आपकी भाग-दौड़ भरी जिन्दगी में अपने...