आँकड़े: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक आउट करने वाले विकेट-कीपर - Sportzwiki
क्रिकेट

आँकड़े: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक आउट करने वाले विकेट-कीपर

  • अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में विकेट कीपिंग करना कोई आसान काम नहीं है. एक सफल विकेटकीपर बनने के लिए कौशल , तकनीक और निगरानी की जरुरत होती है. अपनी चुस्त स्टम्पिंग, रन आउट और कैच से एक विकेटकीपर खेल की दिशा बदल सकता है. आइये देखते हैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक आउट करने वाले विकेट-कीपर कौन रहे…

    1. मार्क बाउचर
    मार्क बाउचर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका के लिए एक उत्कृष्ट विकेटकीपर रहे हैं. उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 1997 में टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा था. टेस्ट मैचों में उन्होंने 532 कैच और 23 स्टंपिंग अपने नाम किये जबकि एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 403 कैच और 22 स्टंपिंग हासिल किये. इन्होने दक्षिण अफ्रीका के लिए 596 पारियों में कीपिंग की और 998 को आउट किया. आंख में चोट लगने के कारण इन्होने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था.

    2. एडम गिलक्रिस्ट
    एडम गिलक्रिस्ट ने 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी. टेस्ट मैचों में उन्होंने 379 कैच और 37 स्टंपिंग जबकि एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 417 कैच और 55 स्टंपिंग अपने नाम किये. वह 485 पारियों में ऑस्ट्रेलिया के लिए कीपिंग करते नज़र आये जिनमे इन्होने 905 डिसमीसल्स लिए. ऑस्ट्रेलियाई टीम का एक अभिन्न हिस्सा रहे गिल ने 2008 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था.

    3. कुमार संगकारा
    कुमार ने वर्ष 2000 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में अपनी शुरुवात की. टेस्ट मैचों में उन्होंने 134 मैचों में 182 कैच और 20 स्टम्पिंग अपने नाम किये जबकि एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 404 मैच खेलते हुए इन्होने 402 कैच और 99 स्टम्पिंग लिए. इस के अलावा टी 20 क्रिकेट में इन्होने 56 मैच खेले और इस दौरान 25 कैच और 20 स्टम्पिंग लेने में सफल रहे. श्रीलंका के लिए 499 पारी खेलते हुए कुल 678 आउट किये. विश्व कप 2015 के बाद इन्होने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया. वहीँ भारत और श्रीलंका के बीच दूसरे टेस्ट मैच के बाद से टेस्ट क्रिकेट को भी अलविदा कह दिया.

     

    4. महेंद्र सिंह धोनी
    धोनी ने 2005 में श्रीलंका के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की. टेस्ट में उन्होंने 90 मैचों में 256 कैच और 38 स्टम्पिंग लिए जबकि एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में धोनी ने अब तक 265 मैच खेले हैं और इस दौरान 246 कैच और 85 स्टम्पिंग लिए. भारत के लिए 476 पारियों में कीपिंग करते हुए धोनी ने 661 आउट किये.

    5. इयान हीली
    ऑस्ट्रेलिया के इस खिलाडी ने 1988 में पाकिस्तान के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की.टेस्ट में उन्होंने 119 मैचों में 366 कैच और 29 स्टम्पिंग अपने नाम किये जबकि एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इन्होने 168 मैच खेले और 194 कैच और 39 स्टम्पिंग आउट किये. ऑस्ट्रेलिया के लिए 392 पारियों में खेले और इस दौरान 628 आउट किये.

    6. रॉड मार्श
    ऑस्ट्रेलियाई खिलाडी मार्श ने 1970 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा था. टेस्ट में उन्होंने 96 मैचों में 343 कैच और 12 स्टंपिंग अपने नाम किये जबकि एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इन्होने 92 मैच खेले और 120 कैच और केवल 4 स्टंप आउट किये. ऑस्ट्रेलिया के लिए 274 पारियों में कीपिंग की और 479 को आउट किया.

    7. ब्रैड हैडिन
    एक और ऑस्ट्रेलियाई खिलाडी, ब्रैड ने 2009 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में अपनी शुरुवात की थी. टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 66 मैचों में 262 कैच और 8 स्टम्प आउट किये जबकि एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में इन्होने 126 मैच खेले और 170 कैच और 11 स्टंप आउट किये. वह ऑस्ट्रेलिया के लिए 274 पारियों में खेले और इस दौरान 474 को आउट किया . ब्रैड ने 2015 विश्व कप जीतने के बाद एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सेवानिवृत्त लेली और बाद में टेस्ट से भी रिटायर हो गए. इसके अलावा 34 टी -20 में ब्रैड ने 17 कैच और 6 स्टम्प आउट किये.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Most Popular

    Top