कोई अन्य खिलाड़ी इतने लंबे समय तक एक टीम के लिए नहीं खेला होगा जितना की स्टीवन गेरार्ड ने लिवरपूल और काउंटिंग के लिए खेला है इन्होने 29 नवंबर 1998 को 16 साल पहले अपने कैरियर की शुरुआत की थी वह लगभग हर फुटबॉल अनुयायी द्वारा चाहे वह लिवरपूल का का समर्थक हो या प्रतिद्वंदी एक महान खिलाड़ी के रूप में माने जाते है गेरार्ड ने अपने कैरियर का अधिकांश समय लिवरपूल के लिए पदक जितने में ही लगा दिया
 
1999-2000 : गेरार्ड पहली बार रोबी बहेलिया को बदलने के लिए बेंच से आये थे , लेकिन कुछ ही मिनट बाद एक बेईमानी के कारण एक लाल कार्ड दिखाया गया और उन्होंने एवर्टन के खिलाफ अपना पहला मैच  डर्बी में खेला । वह शेफील्ड के खिलाफ 4 -1 से जीत में अपना पहला गोल किया, हालाँकि गेरार्ड का युवा कैरियर चोटों से भरा रहा लेकिन जल्द ही वो चोट से उभर कर अच्छी वापसी की
 
2000-2001 :यह साल लिवरपूल प्रशंसकों के लिए काफी अच्छा रहा क्यूंकि इस साल लिवरपूल ने तीन सीरीज एफए कप , लीग कप और यु.ई.एफ.ए कप ( यूरोपा लीग ) अपने नाम किये, इस समय गेरार्ड अपने चोट की समस्या से उभर चुके थे और उन्होंने लिवरपूल के लिए 50 परियो में 10 गोल किये
 
2001-2002 : इस साल लिवरपूल ने चैरिटी शील्ड कप और यु.ई.एफ.ए सुपर कप जीता इस साल गेरार्ड ने 45 परियो में 4 गोल किये और सीनियर इंग्लिश टीम के लिए जेर्मनी फूटबाल विश्वकप के क्वालीफ़ायर मैच में इंग्लिश टीम को 5-1 से जीत दिलायी
 
2002-2003: भविष्य के कप्तान के रूप में उदय

इस साल लिवरपूल ने लीग कप फिर जीता और गेरार्ड को लिवरपूल का उपकप्तान बनाया गया उन्होंने 54 परियो में 7 गोल किये
 
2003-2004 : सबसे अच्छे कप्तान के रूप में 
लिवरपूल के प्रबंधक स्टीवन ने गेरार्ड को लिवरपूल का कप्तान बनाया लेकिन लिवरपूल इस साल सीरीज हर गया और गेर्रार्ड ने स्वयं इसकी जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया लेकिन गेर्रार्ड ने इस सीरीज में भी 47 परियो में 6 गोल किये थे
 
 
 
2004-2005: इस्तांबुल में पागलपन के 6 मिनट

इस समय राफेल बेनिटेज़ लिवरपूल के प्रबन्धक थे और टीम 2004 चैम्पियनशिप से बाहर हो चुकी थी गेरार्ड भी चोट की वजह से टीम से बाहर थे और वापस आते ही लिवरपूल के लिए अगला चैम्पियनशिप जीता
 
2005-2006: एफए कप
इस साल गेर्रार्ड के पास बहुत सारे पेशकश आये लेकिन वो लिवरपूल के साथ ही रहने का फैसला लिया इस साल का उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा और उन्होंने लीवरपूल के लिए एफए कप जीता ।

2006-2007: पहला विश्व कप
चोट से उभरने के बाद गेरार्ड को इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला उन्होंने इस ग्रुप चरण में 2 गोल किये लेकिन फिर भी पुर्तगाल के द्वारा मिली हर से उन्हें इस सीरीज से बाहर  होना पड़ा
 
2007-2008: 400 पारिया 
इस साल उन्होंने 52 मैचो में 21 गोल किये और आर्सेनल के खिलाफ अपनी पारी की शुरुआत करते ही 400 परियो में उपस्थिथि दर्ज करने वाले इंग्लैंड के जॉन एल्डरिज के बाद दुसरे खिलाड़ी बने
 
2008-2009 : लिवरपूल के लिए 100 गोल 
यह गेरार्ड के गोल की दृष्टि से सबसे अच्छा समय था इस साल 44 पारियों में उन्होंने 21 गोल किये था पीएसवी के खिलाफ 100 गोल करने वाले तथा पीएफए टाइटल जितने वाले लिवरपूल के पहले खिलाडी बने
 
  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    तीसरे वनडे में इन 11 खिलाड़ियों के साथ मैदान पर श्रृंखला जीतने के इरादे...

    चेन्नई और कोलकाता एकदिवसीय जीतने के बाद मेजबान भारतीय टीम के हौसले एकदम बुलंद दिखाई दे रहे हैं. भारतीय टीम का प्रदर्शन भी तक...
    विराट कोहली

    युवराज सिंह के 2 बहुत ही खास रिकॉर्ड को तीसरे वनडे में तोड़ देंगे...

    भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं. विराट कोहली ऐसे बल्लेबाज हैं, जो अपनी नाकामियों से लगातार सीखते हैं....

    इस दिग्गज भारतीय खिलाड़ी ने बताया ऑस्ट्रेलिया को उसकी गलती, बताया क्यों करना पड़...

    यदि किसी चीज में विविधताएं होती हैं तो वह जीवन में खाने में मसाले की तरह काम करती हैं. साथ ही वह कई दिक्कतों...

    डेनियल ब्रायन कर रहे है रिंग में वापसी खुद ट्विट कर दी जानकारी, इस...

    डब्लूडब्लूई में कब क्या हो जाये, ये कहना बहुत ही मुश्किल रहता है. आयेदिन हमें डब्लूडब्लूई में ऐसा कुछ देखने को मिल ही जाता है,...

    PREDICTION: नो मर्सी के मेन इवेंट मैच को लेकर आई बड़ी खबर, क्या...

    WWE में ब्रोक लेसनर की अहमियत किसी से छुपी नहीं है और अकेले उनकी ही वजह से कंपनी को भारी मुनाफा होता है और...