भारत और अफ्रिका के बीच सीरीज का सभी बेसब्री से इंतजार कर रहे है. इस सीरीज की शुरूआत तीन मैचों की टी ट्वेंटी सीरीज से होगी. पहला टी ट्वेंटी धरमशाला में होगा, तो दुसरा कटक में होगा. इन दोनों स्टेडियम में पहली बार टी ट्वेंटी मैच होगा. तो तीसरा टी ट्वेंटी कोलकाता में होगा.

भारतीय दर्शकों के लिए टी ट्वेंटी क्रिकेट एक मनोरंजन की तरह होता है. और ये सीरीज अगले साल होने वाले टी ट्वेंटी विश्वकप से पहले की बडी महत्वपूर्ण सीरीज होगी.

भारत में अब त्योहारों का मौसम शुरू होने वाला है, और ये सीरीज एक त्यौहार की तरह होगी.

इस टी ट्वेंटी सीरीज का आखिरी मैच, कोलकाता में है, तब उस समय कोलकाता में दुर्गा पूजा का त्यौहार होगा, और ये पूरी सीरीज में त्योहार होगा.

धरमशाला स्टेडियम:

धरमशाला की दर्शक क्षमता 23 हजार है. और ये विश्व का सबसे खूबसूरत स्टेडियम है. हिमालय की वादियों में बसा ये स्टेडियम आपको काफी प्रेरित करता है. ये स्टेडियम 1317 मीटर जमीन से ऊपर है. इस स्टेडियम में मौसम भी काफी शानदार होता है, और 10 डिग्री तक तापमान रहता है.

इस स्टेडियम में दो वनडे मैच हो चुके है. पहला वनडे इंग्लैंड के खिलाफ हुआ था, जब तापमान 6 डिग्री था. तो दूसरा वनडे वेस्टइंडीज के खिलाफ हुआ था. इस स्टेडियम में हर साल आईपीएल मैच होते है. और अगले साल टी ट्वेंटी विश्वकप के भी कुछ मैच इस स्टेडियम में होंगे. अब पहले टी ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय मैच के लिए ये स्टेडियम तैयार है.

 

बाराबटी स्टेडियम, कटक:

धरमशाला की तरह, कटक में भी ये पहला अंतरराष्ट्रीय टी ट्वेंटी मैच होगा. कटक में ही भारत ने 1982 में इंग्लैंड के खिलाफ पहली वनडे सीरीज जीती थी. इसी मैदान पर कपिल देव ने अपना 300वा विकेट लिया था. इस स्टेडियम में आखिरी टेस्ट 1995/1996 को हुआ था.

इस स्टेडियम में कुल 16 वनडे हुए है, जिसमे भारत ने 11 जीते है. आईपीएल के भी काफी मैच इस स्टेडियम में हुए है. भारत और अफ्रिका के बीच टी ट्वेंटी मैच 5 अक्तूबर को शाम 7 बजे होगा.

ईडन गार्डन, कोलकाता:

ईडन गार्डन में पहला टी ट्वेंटी भारत और इंग्लैंड के बीच 2011 में हुआ था, जो भारत ने जीता था. पहले इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1 लाख थी, जो अब 66 हजार हुई है. फिर ये स्टेडियम क्रिकेट दूसरा सबसे बडा स्टेडियम है. इस स्टेडियम से काफी इतिहास जुडा है. 1987 का विश्वकप फाइनल से लेकर 1996 का विश्वकप सेमीफाइनल मैच. काफी खिलाडियों को इसी स्टेडियम ने पहचान दिलाई. वीवीएस लक्ष्मण, हरभजन सिंह, सौरव गांगुली, एलेन बॉर्डर जैसे खिलाडियों को इसी स्टेडियम ने पहचान दिलाई.

2001 का टेस्ट मैच काफी ऐतिहासिक था. अफ्रीका के खिलाफ सीरीज का आखिरी टी ट्वेंटी मैच यहीं होगा, और अगले साल का टी ट्वेंटी विश्वकप का फाइनल भी ईडन गार्डन में होगा.

  • SHARE

    I am sagar an ardent fan of cricket. I want to become a cricket writer, i always suport virat kohli and ms dhoni in every international match, but not in ipl in ipl i always chear for mumbai indian and rohit sharma.

    Related Articles

    ये रहे वो कारण जिसके चलते भारतीय टीम को करना पड़ा पहले वनडे मैच...

    भारतीय टीम और श्रीलंकाई टीम के बीच आज रविवार को धर्मशाल के मैदान में पहला खेला गया वनडे मैच श्रीलंकाई टीम ने बड़ी आसानी...
    Suranga Lakmal

    सुरंगा लकमल ने तोड़ी चुप्पी बताया वो कारण जिसकी वजह से जल्दी-जल्दी विकेट देकर...

    कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा की अगुआई में धर्मशाला में श्रीलंका के खिलाफ पहला एकदिवसीय मुकाबला खेलने उतरी भारतीय टीम को...

    VIDEO: 113 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जब धोनी ने की खराब...

    भारत और श्रीलंका के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज का पहला अर्न्तराष्ट्रीय मुकाबला धर्मशाला स्टेडियम में आज,यानि 10 दिंसबर को खेला गया। खेले गए...

    पोर्न स्टार मिया खलीफा ने रोंडा राउजी के लिए बोल दिया कुछ ऐसा नहीं...

    WWE पूरी दुनिया में जानी जाती है और इसके रेस्लर्स भी पूरी दुनिया में ना केवल पहचाने बल्कि पसंद भी किये जाते हैं पर...

    रणजी ट्रॉफी : इस युवा भारतीय खिलाड़ी ने ठोका दोहरा शतक

    जयपुर, 10 दिसम्बर; रित्विक चटर्जी (नाबाद 213) के दोहरे शतक और अभिमन्यु ईस्वरन (114) की शतकीय पारी के दम पर बंगाल ने रणजी ट्रॉफी क्वार्टर...