क्रिकेट डेस्क। भारत ने सफलतापूर्वक टी-20 विश्‍वकप 2016 की मेजबानी को सम्पन कर लिया। इसका श्रेय खिलाडि़यों की गुणवता और प्रशंसकों के समर्थन को जाता है। अगर ऐसा कहा जाए कि यह टूर्नामेंट हर लिहाज से उम्मीदों पर खरा उतरा है तो गलत नहीं होगा। हम आपको ऐसे पांच कारणों के बारे में जानकारी देने वाले है जिन्होंने इस भब्य टूर्नामेंट को सफल बना दिया।

टीम और खिलाडि़यों को मिला निष्पक्ष समर्थन
भले ही टीम इंडिया फाइनल में नहीं पहुंची लेकिन इसके बावजूद अपने पसंदीदा खिलाडि़यों को समर्थन देने के लिए प्रशंसक मैदान पर पहुंचे। भारत के मैच में तो प्रशंसकों का होना स्वभाविक था लेकिन अन्य टीमों को भी निष्पक्ष समर्थन मिला। इसका सबसे अच्छा उदाहरण बंगलूरू में हुए वेस्टइंडीज और श्रीलंका के मैच में देखा गया जब प्रशंसक क्रिस गेल को समर्थन देने के लिए भारी संख्या में वहां पहुंचे। ऐसा ही कुछ नजारा मुंबई में आयोजित मैचों के दौरान देखा गया। इसी माहौल के कारण पहले सेमीफाइनल जो फिरोजशाह कोटला में न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड के बीच खेला गया देखने लायक था। इसके साथ ही इंग्लैंडऔर वेस्टइंडीज के बीच कोलकाता में खेले गए फाइनल को देखने के लिए 65000 दर्शक मौजूद थे।

रोमांचक मैच
टी-20 एक ऐसा फॉर्मेट है जिसमें किसी भी टीम के प्रदर्शन को लेकर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। इस फॉर्मेट में सबसे निचले स्तर की टीम भी टॉप टीम को हरा सकती है। इन मैचों को प्रशंसक रोमांच के कारण ही देखने के‍ लिए आते है। इस विश्वकप के दौरान भी ऐसे कई मैच हुए जिसमें दर्शक अपनी सीटों से उठने के लिए मजबूर हो गए। इसका सबसे शानदार उदाहरण है भारत और बांग्लादेश के बीच बंगलूरू में खेला गया मैच। बांग्लादेश को 3 गेंदों पर 2 रन की जरूरत थी लेकिन मैच भारत 1 रन से जीत गया। ऐसा ही रोमांच वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच फाइनल मैच के दौरान देखने को मिला। वेस्टइंडीज को अंतिम ओवर में 19 रन चाहिए थे और वो उसने 4 गेंदों पर ही बना डाले। इन मैचों ने टी-20 के उत्‍साह से लोगों को जोड़ने में अहम भूमिका निभाई है।

 

उच्च स्तरीय बल्लेबाजी
इस विश्वकप में शानदार बल्लेबाजी देखने को मिली। हम विराट कोहली, रूट या गेल किसी की भी बात करें सभी ने अपने बल्ले से लोगों का मनोरंजन किया है। विराट की तो इस विश्वकप में बात ही कुछ अलग रही और यही कारण है कि उन्हें ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ का खिताब मिला। इसके साथ ही अन्य बल्लेबाजो ने भी खूब मनोरंजन किया। इंग्लैंड के बल्लेबाज रूट ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ 230 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए जो पारी खेली वह कमाल की थी। क्रिस गेल का 48 गेंदों में शतक भी कमाल का था।

स्पिन गेंदबाजी का दिखा जादू
वैसे टी-20 खेल बल्लेबाजो का माना जाता है लेकिन इस टूर्नामेंट में स्पिन गेंदबाजों ने जिस प्रकार का प्रदर्शन किया वह कमाल का था। इस टूर्नामेंट की पिचें स्पिन गेंदबाजी के अनुकूल थीं। यहीं कारण है कि अफगानिस्तान के राशिद खान, साउथ अफ्रीका के इमरान ताहिर, न्यूज़ीलैंड के सोढ़ी, वेस्टइंडीज के सैमुअल बद्री ने कमाल की गेंदबाजी का प्रदर्शन किया। अगर सेमीफाइनल की बात छोड़ दी जाए तो भारतीय स्पिन गेंदबाज अश्विन की गेंदबाजी भी अच्छी रही है।

वेस्टइंडीज का जश्न मनाने का तरीका 
अपने क्रिकेट बोर्ड से विवादों के बाद भी वेस्टइंडीज टीम के प्रदर्शन और उनके खुशी जाहिर करने के तरीके ने प्रशंसकों को काफी आकर्षित किया। हालांकि यह टीम अपने कई प्रमुख खिलाडि़यों के बगैर इस टूर्नामेंट में आई थी जिनमें सुनील नरेन, पोलार्ड और ड्रेन ब्रेवो प्रमुख थे। किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि वेस्टइंडीज इस टूर्नामेंट को जीत सकती है। लेकिन वह जीते और जीतने के बाद उन्होंने अपना डांस भी दिखाया। भारत से सेमीफाइनल जीतने और इंग्लैंड से फाइनल जीतने के बाद उन्होंने खुशी का जमकर इजहार किया, कहीं से लग ही नहीं रहा था कि वह इतनी मुश्किलों के साथ यहां खेलने पहुंचे हैं।

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    तबरेज शम्सी के लिए विराट कोहली का विकेट बना खास, आज से पहले किसी...

    एक दौर था जब इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का विकेट हर किसी गेंदबाज के लिए एक बड़ा सपना हुआ...

    युवराज ने डिविलियर्स को जन्मदिन की बधाई देते हुए कह दिया कुछ ऐसा लोगो...

    क्रिकेट जगत के सबसे धाकड़ बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने अपना जन्मदिन 17 फरवरी को मनाया। 34 वर्ष के हो चुके ए बी डीविलियर्स के...

    ऑस्ट्रेलियाई टीम की इस महान क्रिकेटर ने किया संन्यास का ऐलान, अब नहीं खेलेगी...

    ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम की उप कप्तान एलेक्स ब्लैकवेल ने सोमवार को सिडनी में अपने शानदार 15 साल के अन्तर्राष्ट्रीय और 17 साल...

    इंटरनेशनल क्रिकेट में 382 दिन बाद उतरा ये दिग्गज खिलाड़ी, पकड़े 3 अविश्वसनीय कैच,...

    किसी खिलाड़ी के लिए अपनी राष्ट्रीय टीम से बाहर होने के बाद एक बार फिर से वापसी करना आसान नहीं होता। लेकिन जब किसी...

    सुरेश रैना ने कल साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले ही टी-20 में किया कुछ...

    भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पहला टी20 मैच जोहांसबर्ग में खेला गया है, जिसमें भारतीय टीम के शानदार प्रदर्शन करते हुए मेजबान टीम...