चौथा वनडे: टीम इंडिया को जीतने के लिए गेंदबाज़ी और फील्डिंग में करना होगा सुधार - Sportzwiki
क्रिकेट

चौथा वनडे: टीम इंडिया को जीतने के लिए गेंदबाज़ी और फील्डिंग में करना होगा सुधार

  • सीरीज गंवा चुकी भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 20 जनवरी 2016 को चौथा वनडे क्रिकेट मैच जीतकर मेजबान को क्लीन स्वीप करने से रोकने की कोशिश करने उतरेगी. हालांकि इसके लिये उसके गेंदबाजों को अपने प्रदर्शन में काफी सुधार करना होगा. पांच मैचों की सीरीज के आखिरी दो मैचों में भारत के लिये प्रश्न सिर्फ प्रतिष्ठा का है. उसे इस निराशाजनक दौरे पर पहली जीत दर्ज करने के लिए अपने गेंदबाजों से बेहतरीन प्रदर्शन की उम्मीद करनी होगी.

    1.गेंदबाज़ अपनी ज़िम्मेदारी निभाएं:

    भारतीय बल्लेबाजों ने अपने काम को बखूबी अंजाम देते हुए बड़े स्कोर बनाये हैं. लेकिन गेंदबाजों ने निराश किया. पहले तीनों मैचों में बड़ा स्कोर बनाने के बावजूद महेंद्र सिंह धोनी की टीम को पराजय का सामना करना पड़ा. मानुका ओवल पर भारतीय टीम पहली बार ऑस्ट्रेलिया से खेलेगी. भारत ने यहां एकमात्र मैच 2007-08 की सीबी सीरिज में श्रीलंका के खिलाफ खेला था जिसमें पराजय का सामना करना पड़ा.

    2.अंतिम एकादश पर कुछ इस तरह हो विचार:

    पहले दो मैचों में भारत ने अपनी पहली पसंद की एकादश उतारी थी. लेकिन तीसरे मैच में मान और धवन को मौका दिया गया. पांडे ने सिर्फ एक मैच में बल्लेबाजी की लिहाजा उन्हें बाहर करना जल्दबाजी होगी. शिखर धवन ने मेलबर्न में सीरीज का पहला अर्धशतक जमाया जो आठ वनडे में उनका दूसरा अर्धशतक था. इसके मायने हैं कि आखिरी दो मैचों में भी टीम में उनकी जगह सुरक्षित है. उन्होंने हालांकि काफी धीमी पारी खेली जिसमें 54 डॉट गेंदें थी और गैर जिम्मेदाराना तरीके से अपना विकेट गंवा दिया. धोनी अगर समान एकादश को उतारते हैं तो इसमें कोई हैरानी नहीं होगी. इसमें मान और पांडे में से एक को चुनना होगा और ऐसे में मान का हरफनमौला होना उनके पक्ष में जायेगा.

    3.आर आश्विन की हो वापसी:

    एक मैच के बाद आर अश्विन की वापसी हो सकती है चूंकि चयनकर्ता टी20 सीरीज से पहले उन्हें पर्याप्त मैच अभ्यास देना चाहते होंगे. दो स्पिनरों को चुनने की दशा में ऋषि धवन को बाहर रहना पड़ सकता है और मान के खेलने की संभावना अधिक होगी. वैसे भी टीम प्रबंधन को स्वदेश भेजने से पहले इन युवाओं को एक दो मौके और देने चाहिये. इन तीनों में से कोई टी20 टीम का हिस्सा नहीं है.

    4.फील्डिंग में हो सुधार:

    भारतीय टीम की फील्डिंग इस टूर्नामेंट में उच्चकोटि की नहीं रही है. टीम में कोहली, जडेजा, रोहित और रहाने ही स्तरीय फील्डिंग करते हुए नजर आयें हैं. ऐसे में सभी खिलाड़ियों को एकजुट होकर अपनी फील्डिंग को अच्छी बनाने की जरूरत है. खासकर इशांत शर्मा और उमेश यादव को अपनी फील्डिंग को अच्छी करने की जरूरत है.

    5.स्लॉग ओवरों में बल्लेबाज़ी में हो सुधार:

    अंतिम 10 ओवरों में भारतीय टीम को अच्छी बल्लेबाज़ी करने की जरूरत है. पिछले तीनों मैचों में टीम के निचले क्रम के बल्लेबाजों ने स्लॉग ओवर में बड़े शॉट नहीं लगाये हैं. ऐसे में अगर टीम को जीतना है, तो उन्हें लास्ट ओवर में अपनी इस समस्या से निजात पाना बहुत ही जरूरी है. 

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Most Popular

    Top