सीरीज गंवा चुकी भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 20 जनवरी 2016 को चौथा वनडे क्रिकेट मैच जीतकर मेजबान को क्लीन स्वीप करने से रोकने की कोशिश करने उतरेगी. हालांकि इसके लिये उसके गेंदबाजों को अपने प्रदर्शन में काफी सुधार करना होगा. पांच मैचों की सीरीज के आखिरी दो मैचों में भारत के लिये प्रश्न सिर्फ प्रतिष्ठा का है. उसे इस निराशाजनक दौरे पर पहली जीत दर्ज करने के लिए अपने गेंदबाजों से बेहतरीन प्रदर्शन की उम्मीद करनी होगी.

1.गेंदबाज़ अपनी ज़िम्मेदारी निभाएं:

भारतीय बल्लेबाजों ने अपने काम को बखूबी अंजाम देते हुए बड़े स्कोर बनाये हैं. लेकिन गेंदबाजों ने निराश किया. पहले तीनों मैचों में बड़ा स्कोर बनाने के बावजूद महेंद्र सिंह धोनी की टीम को पराजय का सामना करना पड़ा. मानुका ओवल पर भारतीय टीम पहली बार ऑस्ट्रेलिया से खेलेगी. भारत ने यहां एकमात्र मैच 2007-08 की सीबी सीरिज में श्रीलंका के खिलाफ खेला था जिसमें पराजय का सामना करना पड़ा.

2.अंतिम एकादश पर कुछ इस तरह हो विचार:

पहले दो मैचों में भारत ने अपनी पहली पसंद की एकादश उतारी थी. लेकिन तीसरे मैच में मान और धवन को मौका दिया गया. पांडे ने सिर्फ एक मैच में बल्लेबाजी की लिहाजा उन्हें बाहर करना जल्दबाजी होगी. शिखर धवन ने मेलबर्न में सीरीज का पहला अर्धशतक जमाया जो आठ वनडे में उनका दूसरा अर्धशतक था. इसके मायने हैं कि आखिरी दो मैचों में भी टीम में उनकी जगह सुरक्षित है. उन्होंने हालांकि काफी धीमी पारी खेली जिसमें 54 डॉट गेंदें थी और गैर जिम्मेदाराना तरीके से अपना विकेट गंवा दिया. धोनी अगर समान एकादश को उतारते हैं तो इसमें कोई हैरानी नहीं होगी. इसमें मान और पांडे में से एक को चुनना होगा और ऐसे में मान का हरफनमौला होना उनके पक्ष में जायेगा.

3.आर आश्विन की हो वापसी:

एक मैच के बाद आर अश्विन की वापसी हो सकती है चूंकि चयनकर्ता टी20 सीरीज से पहले उन्हें पर्याप्त मैच अभ्यास देना चाहते होंगे. दो स्पिनरों को चुनने की दशा में ऋषि धवन को बाहर रहना पड़ सकता है और मान के खेलने की संभावना अधिक होगी. वैसे भी टीम प्रबंधन को स्वदेश भेजने से पहले इन युवाओं को एक दो मौके और देने चाहिये. इन तीनों में से कोई टी20 टीम का हिस्सा नहीं है.

4.फील्डिंग में हो सुधार:

भारतीय टीम की फील्डिंग इस टूर्नामेंट में उच्चकोटि की नहीं रही है. टीम में कोहली, जडेजा, रोहित और रहाने ही स्तरीय फील्डिंग करते हुए नजर आयें हैं. ऐसे में सभी खिलाड़ियों को एकजुट होकर अपनी फील्डिंग को अच्छी बनाने की जरूरत है. खासकर इशांत शर्मा और उमेश यादव को अपनी फील्डिंग को अच्छी करने की जरूरत है.

5.स्लॉग ओवरों में बल्लेबाज़ी में हो सुधार:

अंतिम 10 ओवरों में भारतीय टीम को अच्छी बल्लेबाज़ी करने की जरूरत है. पिछले तीनों मैचों में टीम के निचले क्रम के बल्लेबाजों ने स्लॉग ओवर में बड़े शॉट नहीं लगाये हैं. ऐसे में अगर टीम को जीतना है, तो उन्हें लास्ट ओवर में अपनी इस समस्या से निजात पाना बहुत ही जरूरी है. 

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    वीडियो- श्रीलंका के चमारा कपुगेदेरा के साथ हुआ पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान...

    पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच यूएई में इन दिनों जबरदस्त टक्कर देखी जा रही है। इन दोनों देशों के बीच पहले दो मैचों की...

    धोनी की वजह से आज तक भारतीय टीम में अपनी जगह बनाने के लिए...

    भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक ऐसा खिलाड़ी रहा है जिसका पूरा करियर ही कवर के तौर पर ही गुजर गया। इस खिलाड़ी और भारत...

    धोनी के उत्तराधिकारी ने बांधे राहुल द्रविड़ की तारीफों के पूल, कहा आज जो...

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी अब अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर हैं। ऐसे में अब तो ये कहा जा...

    घर छोड़ पत्नी और बेटी के साथ यहाँ दिवाली मनाने ड्राइव कर पहुँचे महेंद्र...

    पूरे भारत में इस समय दिवाली की धूम है। पूरा भारतवर्ष इन समय प्रकाश का पर्व दिवाली मनाने में व्यस्त है। भारत में दिवाली...

    एबी डीविलियर्स ने बांग्लादेश के खिलाफ खेली तूफानी पारी, तो सहवाग ने क्यों कहा...

    विश्व क्रिकेट के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में से एक दक्षिण अफ्रीका के अब्राहम बेंजिमिन डीविलियर्स लौट आया है। एबी डीविलियर्स ने चार महीनों के...