5 ऐसी टीमें जो घर में शेर, लेकिन विदेश में ढेर - Sportzwiki
क्रिकेट

5 ऐसी टीमें जो घर में शेर, लेकिन विदेश में ढेर

  • खेल डेस्क। क्रिकेट एक ऐसा खेल है जो आस-पास के वातावरण से भी काफी प्रभावित होता है। यही कारण है कि हर टीम अपने होम ग्राउंड पर खेलना पसंद करती है। मौसम की जानकारी तथा अपने प्रशंसकों की मौजूदगी में खेलना टीम के लिए ज्‍यादा आसान होता है। मगर कुछ टीमें इसका अपवाद भी हैं जैसे ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज, जिनका रिकॉर्ड होम ग्राउंड और विदेशी जमीन पर संतुलित है। अधिकतर पाया गया है कि टीमों के लिए उनके होम ग्राउंड की परिस्थितियां सुविधाजनक साबित होती हैं।

    यहां हम आपको ऐसी पांच टीमें और उनके जीत के प्रतिशत के बारे में बताने जा रहे हैं जो घरेलू मैदान पर बेहतर प्रदर्शन को साबित करती हैं-

    श्रीलंका
    घरेलू मैदान पर जीत- 61.21%
    विदेशी मैदान पर जीत- 41.28%
    श्रीलंका टीम को अगर एक पावर हाउस के रूप में देखा जाए तो बेहतर होगा। 1996 के आईसीसी विश्वकप को अपने नाम करने के बाद इस टीम ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। घरेलू मैदान का फायदा यह टीम सबसे बेहतर तरीके से उठाना जानती है। इस बात कहानी इनकी जीत का प्रतिशत भी बताता है जो 61.21 है। वही विदेशी जमीन पर इनकी जीत का प्रतिशत 41.28 है। विदेशी जमीन पर श्रीलंका ने 533 मैच में से 220 मैच में ही जीत हासिल कर सकी।

    भारत
    घरेलू मैदान पर जीत- 57.98%
    विदेशी मैदान पर जीत- 46.35%
    भारतीय टीम की घरेलू मैदानों पर स्थिति उतार-चढ़ाव वाली रही है। कभी वह कुछ ज्यादा  ही अच्‍छा प्रदर्शन करती है और विश्वकप  जैसा टूर्नामेंट अपने नाम कर लेती है, तो कभी-कभी दक्षिण अफ्रीका जैसी टीम से बुरी तरह शिकस्त झेलती है। हालांकि टीम इंडिया घरेलू मैदान पर काफी घातक हो जाती है, और यही कारण है कि उसका यहां जीतने का प्रतिशत 57.98 प्रतिशत है। वहीं अगर विदेशी जमी पर देखा जाए तो उसका प्रदर्शन औसत ही रहा है। विदेशी जमीन पर टीम इंडिया की जीत का प्रतिशत 46.35 है।

    साउथ अफ्रीका
    घरेलू मैदान पर जीत- 68.64%
    विदेशी मैदान पर जीत- 56.88%
    दक्षिण अफ्रीका टीम ने 1992 में अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की और उसके बाद से वह एक बहुत ही मजबूत टीम के रूप में जानी जाती है। हालांकि उन्होंने अभी तक आईसीसी विश्वकप नहीं जीता है, लेकिन कई यादगार वन-डे मैच अपने नाम कर चुकी है। उनकी क्षमता पर किसी को शक नहीं है और यह टीम घरेलू मैदान पर काफी सफल है, 220 एक दिवसीय मैच में से उसने 151 अपने नाम किए हैं। उनकी जीत का प्रतिशत 68.64% है और वहीं बाहरी मैदान पर यह प्रतिशत 56.88% है। विदेशी मैदान पर 327 मैच से 186 मैच में अफ्रीका ने जीत हासिल की हैं।

     

     

    बांग्लादेश
    घरेलू मैदान पर जीत- 40.13%
    विदेशी मैदान पर जीत- 23.13%
    बांग्लादेश क्रिकट टीम ने जिस तरह से अपने खेल में सुधार किया है उन्‍हें नजर अंदाज नहीं किया जा सकता। उसने कई अंतरराष्‍ट्रीय टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन से उथल-पुथल मचाई है। आईसीसी विश्वकप  2015 में शानदार प्रदर्शन इसके बाद पाकिस्तान को अपने घर में सीरीज हराना उनकी काबिलियत को साबित करता है। लेकिन बाहरी मैदान पर टीम को अपना प्रदर्शन सुधारने की जरूरत है। घरेलू मैदान पर उनकी जीत का प्रतिशत जहां 40.13 है और वह 152 मैच में से 61 में जीत हासिल करते है, लेकिन बाहरी मैदान पर यह प्रतिशत 23.13 में बदल जाता है और वह 160 में से सिर्फ 37 मैच जीत पाए हैं।

    न्यूज़ीलैंड
    घरेलू मैदान पर जीत- 54.91%
    विदेशी मैदान पर जीत- 36.88%
    क्रिकेट की दुनिया में न्यूज़ीलैंड की टीम का प्रदर्शन ठीक वैसा ही है जैसा मौसम का हाल रहता है। इस टीम में भी अच्‍छे खिलाडि़यों की कोई कमी नहीं है ओर यह कभी भी मैच का रुख बदलने में सक्षम है। उनकी प्रतिभा का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि वह आईसीसी विश्वकप के सेमीफाइनल में 6 बार पहुंच चुकी है और 2015 विश्वकप में रनरअप रही। मगर बाहरी मैदान पर उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। घरेलू मैदान पर जहां कीवी टीम के जीत का प्रतिशत 54.91 रहा वही बाहरी मैदान पर उसका प्रदर्शन 36.88 प्रतिशत का है।

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top