ऐसे 5 खिलाडी जिनकी भारतीय टीम में वापसी नामुमकिन - Sportzwiki
क्रिकेट

ऐसे 5 खिलाडी जिनकी भारतीय टीम में वापसी नामुमकिन

  • एक समय में भारतीय टीम के मज़बूत खिलाडी रहे आज टीम में अपनी वो ही जगह पाने में नाकामयाब लग रहे हैं. इसका एक कारण ये कि बदलते वक़्त के साथ साथ नए उभरते युवा खिलाडी अपनी प्रतिभा व् कौशल से टीम में जगह बनाते जा रहे हैं जिसके चलते पुराने दिग्गजों को कुछ समय के लिए टीम में वापस लेने फायदे का सौदा नहीं लग रहा. ख़ैर यहाँ हम बात कर रहे हैं कुछ ऐसे दिग्गज भारतीय खिलाडियों की जिन्होंने अपने समय में बढ़िया मुकाम हासिल किया लेकिन अब उनकी वापसी की उम्मीद नहीं है.

    1 वीरेंद्र सहवाग
    सहवाग भारतीय टीम के एक बेहतरीन बल्लेबाज़ थे जिन्होंने अपने समय में अपनी बल्लेबाज़ी का खूब जादू चलाया. लेकिन अब वह दिन गए जब सहवाग का बल्ला बोलता था, अब घरेलु स्तर पर देखे गए उनके प्रदर्शन में कमी नज़र आती है . टेस्ट मैचों में सहवाग के प्रशंसकों को उनके लौटने की उम्मीद थी लेकिन ज़ाहिर तौर पर अब उनकी वापसी नहीं होगी.

    2. गौतम गंभीर
    जब इस खिलाडी ने भारत के लिए खेलना शुरू किया तब यह बल्लेबाज़ टीम के लिए बहुत आशाजनक लग रहा था और टीम इंडिया के भविष्य के कप्तान के रूप में देखा गया था. गौतम गंभीर 2011 में भारत की विश्व कप जीत के बाद के वर्षों में ख़राब प्रदर्शन में देखा गया. दूसरी ओर भारत पहले से ही वनडे में अपने सलामी बल्लेबाजों धवन और शर्मा व् टेस्ट मैचों में धवन और मुरली विजय के साथ सही चल रहा है . लेकिन कुछ साल पहले इंग्लैंड के खिलाफ गौतम को अपने बढ़िया प्रदर्शन को साबित करने का एक मौका मिला पर वह उसका फायदा उठाने में नाकामयाब रहा.

    3 . इरफ़ान पठान
    2003 -04 में बॉर्डर गावस्कर मैच से अपनी शुरुवात करने वाले इरफ़ान भारतीय दस्ते के एक बढ़िया गेंदबाज रहे हैं. लेकिन 2006 से उनका टीम में अनियमित सफर बना रहा. पठान ने अप्रैल 2008 में 24 वर्ष की उम्र में अपना आखिरी टेस्ट मार्च खेला. भविष्य  में इरफ़ान के राष्ट्रिय टीम से जुड़ने को लेकर सवाल बने ही हुए हैं.

    4. युवराज सिंह
    अपनी काबिलियत व् क्षमता से भारत को गौरव प्रदान करने वाले व् भारत को दो विश्व कप में जीत दिलाने में अपना भरपूर योगदान देने वाले युवराज भी अपना दम खम खो चुके हैं .कैंसर की बीमारी से उभरने के बाद युवराज ने एक बार फिर टीम में वापसी की लेकिन उसे लम्बे समय के लिए कायम नहीं रख सके. उनकी जगह युवा खिलाडी अम्बायती रायुडू ने ले ली . इसके अलावा सुरेश रैना ने अपनी क्षमताओं को साबित कर दिया. सब देखते हुए लगता है कि अब इस दिग्गज खिलाड़ी  की वापसी की उम्मीद नहीं की जा सकती.

    5. जहीर खान
    एक समय में भारत का तेज गेंदबाज और विश्व कप 2011 में भारत की सफलता के पीछे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाला यह खिलाडी अक्सर चोटों का शिकार होने लगा. जिसके बाद बीसीसीआई ने उन्हें घर पर रहने की हिदायत दी. काफी समय से गेंदबाज़ी में विराम के बाद उनकी गति में भी कमी आनी लाज़मी है.

     

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top