आईसीसी विश्वकप 2015 नजदीक आ चूका है, और सबकी निगाहें इस टूर्नामेंट पर लगी हुई है, ऐसे में हम विश्व क्रिकेट इतिहास के टॉप-5 रोमांचक मैचो के बारे में एक विस्तार चर्चा करते है:
1. 1983 का विश्वकप फाइनल (भारत बनाम वेस्टइंडीज): 25 जून 1983, भारतियों के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है, इसी दिन भारत ने अपना पहला विश्वकप कपिल देव की अगुवाई में जीता था, वेस्टइंडीज ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया, और पूरी भारतीय टीम को महज 183 रनों के मामूली स्कोर पर आउट कर दिया, वेस्टइंडीज टीम अब विश्वकप का यह टाइटल अपने नाम करने को लेकर पुरे तरह निश्चिंत थी, रिचर्ड ने वेस्टइंडीज के लिए शानदार तरह से 50 रन बनाये, लेकिन मोहिंदर अमरनाथ और मदन लाल ने गेंद से शानदार प्रदर्शन किया और पुरी वेस्टइंडीज टीम को 108 रनों पर समेट कर विश्वकप अपने नाम किया.

2. 1999 विश्वकप सेमी-फाइनल (साउथ अफ्रीका बनाम ऑस्ट्रेलिया): यह मैच क्रिकेट इतिहास में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है, साउथ अफ्रीका ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाजी करने का निश्चय किया, और ऑस्ट्रेलिया ने स्टीव वाँ के 56, मिशेल विवेन के 65 और कप्तान पोंटिंग के 37 रनों की मदद से 213 रन बनाने में सफल रहा, लेकिन यह मैच हर 5 ओवर बाद कभी ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में तो कभी साउथ अफ्रीका के पक्ष में जाता रहा, और अंत में यह मैच ड्रा हो गया, और इसके साथ ही अफ्रीका पर चोकर का ठप्पा भी लग गया.

3. 2003 विश्वकप का 36 वाँ मैच (भारत बनाम पाकिस्तान): पाकिस्तान टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने उतरा और पूरी टीम अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रही लेकिन, पाकिस्तानी बल्लेबाज सईद अनवर ने इस मैच में शतक जमाया और अकेले दम पर भारत के सामने 273 रनों का विशाल स्कोर रखा, भारत की तरफ से निस्वार्थ भाव से खेलते हुए मास्टर ब्लास्टर ने 98 रनों की पारी खेली उसके बाद राहुल द्रविड़ और युवी की साझेदारी ने मैच को भारत की झोली में डाल दिया.

4. 2011 विश्वकप का 2nd क्वाटर-फाइनल (भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया): यह मैच अहमदाबाद के मोटेरा में सरदार पटेल स्टेडियम में खेला जा रहा था, ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का निश्चय किया, ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने अकेले 104 रन बना कर टीम को एक सुरक्षित स्थिति में पहुँचाया, उसके बाद सचिन और गंभीर ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजो की अच्छे से खबर लेते हुए उनकी लाइन लेंथ से उन्हें दूर रखा, बाद में युवराज और रैना की जोड़ी ने भारत को जीत दिला कर एक और मैच भारत की झोली में डाला.

5. 2007 विश्वकप का 9 वाँ मैच (पाकिस्तान बनाम आयरलैंड): यह मैच जमैका के किंग्स्टन के सबीना पार्क में खेला जा रहा था, आयरलैंड ने बोयाड रैंकिन और जॉन बोथा की गेंदबाजी की मदद से पाकिस्तान को 132 रनों के मामूली स्कोर पर रोक लिया. जब आयरलैंड ने बल्लेबाजी की शुरुआत की तो ऐसा लगता था, पाकिस्तान अपने 2 शुरूआती गेंदबाज मोहम्मद शामी और अंजुम की मदद से जीत लेगा, लेकिन बाद में नेल ओ ब्रायन ने आयरलैंड को अकेले जीत दिलाई.

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने बताया उसका नाम जिसकी वजह से मिला श्रेयष अय्यर...

    भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ रविवार से शुरू हुई तीन मैचों की वनडे सीरीज के बाद ही कीवि टीम से तीन मैचों की ही...

    भारतीय टीम में शामिल हुआ है ऐसा खिलाड़ी जो लगातार उगल रहा था अपने...

    भारत और न्यू ज़ीलैण्ड के बीच तीन एकदिवसीय मैचों के बाद होने वाले तीन टी20 मैचों के लिए बीसीसीआई ने टीम की घोषणा कर...

    डेब्यू के 426 दिन बाद ही यह खिलाड़ी बना दुनिया का नम्बर 1 गेंदबाज,...

    पाकिस्तान क्रिकेट टीम की नई सनसनी युवा तेज गेंदबाज हसन अली इन दिनों विश्व क्रिकेट में छाए हुए हैं। पाकिस्तान क्रिकेट में इन दिनों...

    INTERESTING FACTS: एक ऑटो चालक का बेटा आखिर कैसा बना टीम इंडिया का हिस्सा,...

    आज सोमवार, 23 अक्टूबर का दिन पूरे हैदराबाद और खासकर सिराज परिवार के लिए एकदम खास और कभी ना भुलाए जाने वाला दिन बन...

    INDvNZ:पहले वनडे मैच के दौरान हुआ एक हैरान करने वाली घटना, जाधव ने किया...

    भारत और न्यूजीलैण्ड के बीच खेले गए तीन वनडे मैचों की सीरीज का पहला वनडे मैच मुम्बई के वानखेडे़ क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया।...