एशिया कप 2016: ये है एशिया कप इतिहास के अब तक के सबसे बेहतरीन मैच - Sportzwiki
क्रिकेट

एशिया कप 2016: ये है एशिया कप इतिहास के अब तक के सबसे बेहतरीन मैच

  • अगले हफ्तें एशिया कप की शुरूआत होगी. एशिया में ये बडा टुर्नामेंट है, और पहली बार ये टूर्नामेंट टी ट्वेंटी फॉरमेट में होगा. एशिया कप इतिहास की बात करे, तो भारत ने सबसे ज्यादा बार एशिया कप जीता है. एशिया कप इतिहास में कई रोमांचक मैच हुए है, जो आज तक दर्शक नहीं भूल पाए है.

    अब हम बता रहे है एशिया कप इतिहास के कुछ रोमहर्षक मैच:

    6. बांग्लादेश बनाम भारत, 2012

    ये मैच कोई भी भारतीय नहीं भुल पाएगा. इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने अपना 100वा अंतरराष्ट्रीय शतक लगाया था. लेकिन ये मैच बांग्लादेश ने जीता था. ये एक रोमांचक मैच था, और भारत को बडी शर्मनाक हार मिली थी.

    5. पाकिस्तान बनाम भारत, 2008

    ये वो मैच था जब आखिरी बार भारतीय टीम पाकिस्तान में खेली थी. एशिया कप के इस मैच में पाकिस्तान ने बडा स्कोर खडा किया था, लेकिन भारत ने 300 रनों का लक्ष्य 42 ओवर में धमाकेदार अंदाज में हासिल किया था.

    4. भारत बनाम पाकिस्तान, 2010

    ये मैच श्रीलंका, दंबुला में खेला गया था. पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान ने 267 रन बनाए थे, और भारत ने एक गेंद शेष रहते ये मैच जीता था. ये मैच गंभीर और अकमल, और अख्तर बनाम हरभजन के विवाद की वजह से सभी को याद है. हरभजन ने छक्का जडकर भारत को जीत दिलाई थी.

     

    3. बांग्लादेश बनाम पाकिस्तान, 2012

    ये 2012 एशिया कप का फाइनल मैच था. बांग्लादेश का हर दर्शक इस मैच के बाद रोया था. बांग्लादेश ने उस एशिया कप में बेहतरीन प्रदर्शन किया था, और फाइनल में जगह बनाई थी. बांग्लादेश ये मैच सिर्फ 1 रन से हारा था, और एशिया कप जीतने से वंचित रह गया था.

    2. भारत बनाम पाकिस्तान, 2014

    ये मैच पिछले एशिया कप का मैच था. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 245 रन बनाए थे, और इस लक्ष्य का पिछा पाकिस्तान ने 2 गेंद शेष रहते हासिल किया था. लेकिन अफरीदी के आखिरी ओवर में अश्विन को जडे 2 छक्कों ने इस मैच को यादगार बना दिया था.

    1. भारत बनाम पाकिस्तान, 2012

    ये मैच 2012 का एशिया कप का मैच था. पाकिस्तान ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 329 रन बनाए थे, और भारत ने ये रिकॉर्ड लक्ष्य शानदार तरीके से हासिल किया था. विराट कोहली की 183 रनों की पारी कोई नहीं भुल सकता. ये मैच सचिन तेंदुलकर के करियर का भी आखिरी मैच साबित हुआ.

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top