मैंने साउथ अफ्रीका को ऐसे हारते हुये कभी नहीं देखा: सौरव गांगुली - Sportzwiki
क्रिकेट

मैंने साउथ अफ्रीका को ऐसे हारते हुये कभी नहीं देखा: सौरव गांगुली

  • साउथ अफ्रीका पर भारत की 130 रनों की जीत के बाद कहा भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भारतीय टीम की प्रशंसा करते हुए कहा, कि मैंने साउथ अफ्रीका को कभी ऐसे हारते हुए नहीं देखा है. साथ ही ऐसी शानदार जीत के लिए भारतीय टीम का हौसलाअफजाई भी किया, गांगुली ने कहा “मुझे याद नहीं है, कि साउथ अफ्रीका ऐसे पहले कभी हारी हो.”

    भारतीय टीम के लिये सबसे अच्छी बात ये रही, कि शिखर धवन ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज और त्रिकोणीय सीरीज में खराब प्रदर्शन के बाद एक बार फिर अपने फ़ार्म में वापस आ गये है, गांगुली ने कहा:

    “पाकिस्तान के खिलाफ वह पारी (73 रन) ने उन्हें आत्मविश्वास दिया, जिसके बाद उन्होंने ये शानदार शतक लगाया है.”

    वैसे तो धवन द्वारा लगायी गयी उनके वनडे करियर का यह 7 वाँ शतक ही सबके आकर्षण का केंद्र रहा, लेकिन विराट (46) और अंजिक्य रहाने (79) ने भी शानदार बल्लेबाजी की, साथ ही गांगुली ने मध्यमक्रम के बल्लेबाजो को बल्लेबाजी में सुधार के सुझाव भी दिये, गांगुली ने कहा:

    “सुरेश रैना, धोनी और रविन्द्र जडेजा जैसे बल्लेबाजो को अपने बल्लेबाजी पर ध्यान केन्द्रित करने की जरूरत है, भारत मुख्य रूप से विराट कोहली और अंजिक्य रहाने के उपर रन स्कोर करने के लिये निर्भर है, लेकिन मध्यमक्रम बल्लेबाजी भी इस टूर्नामेंट में आगे अहम रोल निभा सकते है.”

    गांगुली ने कहा साउथ अफ्रीका की बल्लेबाजी ऐसी लग रही थी, कि कोई तास की गड्डी हो और उसके सारे पत्ते बिखर गये हो, ऐसे ही पूरी साउथ अफ्रीकन टीम 40.2 ओवर में 177 रनों पर बिखर गयी, उन्होंने कहा हासिम अमला और एबी डिविलियर्स जल्दी आउट होकर भारत की जीत में अहम रोल निभाये, “हाशिम अमला और एबी डिविलियर्स के जल्दी आउट होने से साउथ अफ्रीका की बल्लेबाजी कमजोर नजर आई, उसके बाद पर्नेल और फ्लिंडर 7 वें और 8 वें स्थान पर बल्लेबाजी इसे और कमजोर बना दी.”

    अगर अगले मैच को देखे तो भारत पुरे तरह से आत्मविश्वास से भरी हुयी है, और किसी भी टीम का सामना करने में सक्षम है, साथ ही हमे भविष्य के लिये विराट कोहली और शिखर धवन जैसे 2 मजबूत और अच्छे कप्तान मिल गये है.

     

     

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    क्रिकेट

    मैंने साउथ अफ्रीका को ऐसे हारते हुये कभी नहीं देखा: सौरव गांगुली

  • साउथ अफ्रीका पर भारत की 130 रनों की जीत के बाद कहा भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भारतीय टीम की प्रशंसा करते हुए कहा, कि मैंने साउथ अफ्रीका को कभी ऐसे हारते हुए नहीं देखा है. साथ ही ऐसी शानदार जीत के लिए भारतीय टीम का हौसलाअफजाई भी किया, गांगुली ने कहा “मुझे याद नहीं है, कि साउथ अफ्रीका ऐसे पहले कभी हारी हो.”

    भारतीय टीम के लिये सबसे अच्छी बात ये रही, कि शिखर धवन ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज और त्रिकोणीय सीरीज में खराब प्रदर्शन के बाद एक बार फिर अपने फ़ार्म में वापस आ गये है, गांगुली ने कहा:

    “पाकिस्तान के खिलाफ वह पारी (73 रन) ने उन्हें आत्मविश्वास दिया, जिसके बाद उन्होंने ये शानदार शतक लगाया है.”

    वैसे तो धवन द्वारा लगायी गयी उनके वनडे करियर का यह 7 वाँ शतक ही सबके आकर्षण का केंद्र रहा, लेकिन विराट (46) और अंजिक्य रहाने (79) ने भी शानदार बल्लेबाजी की, साथ ही गांगुली ने मध्यमक्रम के बल्लेबाजो को बल्लेबाजी में सुधार के सुझाव भी दिये, गांगुली ने कहा:

    “सुरेश रैना, धोनी और रविन्द्र जडेजा जैसे बल्लेबाजो को अपने बल्लेबाजी पर ध्यान केन्द्रित करने की जरूरत है, भारत मुख्य रूप से विराट कोहली और अंजिक्य रहाने के उपर रन स्कोर करने के लिये निर्भर है, लेकिन मध्यमक्रम बल्लेबाजी भी इस टूर्नामेंट में आगे अहम रोल निभा सकते है.”

    गांगुली ने कहा साउथ अफ्रीका की बल्लेबाजी ऐसी लग रही थी, कि कोई तास की गड्डी हो और उसके सारे पत्ते बिखर गये हो, ऐसे ही पूरी साउथ अफ्रीकन टीम 40.2 ओवर में 177 रनों पर बिखर गयी, उन्होंने कहा हासिम अमला और एबी डिविलियर्स जल्दी आउट होकर भारत की जीत में अहम रोल निभाये, “हाशिम अमला और एबी डिविलियर्स के जल्दी आउट होने से साउथ अफ्रीका की बल्लेबाजी कमजोर नजर आई, उसके बाद पर्नेल और फ्लिंडर 7 वें और 8 वें स्थान पर बल्लेबाजी इसे और कमजोर बना दी.”

    अगर अगले मैच को देखे तो भारत पुरे तरह से आत्मविश्वास से भरी हुयी है, और किसी भी टीम का सामना करने में सक्षम है, साथ ही हमे भविष्य के लिये विराट कोहली और शिखर धवन जैसे 2 मजबूत और अच्छे कप्तान मिल गये है.

     

     

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top