खिलाड़ी

एक खिलाड़ी जो इतिहास का हिस्‍सा बन जाता है या बनने की ओर होता है, वो ऐसे ही नहीं खास मुकाम हासिल कर लेता। उसे कामयाब बनाने में सारी कायनात अपनी ताकत झोंक देती है। उसके साथ हुई हर घटना खास बन जाती है क्‍योंकि वो दुनिया में महान बनने के लिए जन्‍मा होता है। हम आपका बताने जा रहे हैं “हसीब हमीद” के बारे में जो लंकशायर के युवा बल्‍लेबाज हैं। हाल ही में उन्‍हें इंग्लैंड की टीम में जगह मिली और उन्‍होंने अपने कैरियर की शुरुआत की। अद्भुत ढ़ग से हुई उनकी यह शुरुआत महज 19 साल की उम्र में हुई है। हसीब नियमित सलामी बल्लेबाज एलेक्स हेल्स की जगह पर टीम में शामिल किये गये हैं।

यह खिलाड़ी भारतीय मूल का है जिसे आप शायद युवा होने के कारण ठीक से नहीं जानते हैं। लेकिन जब आप इसकी प्रतिभा और अस्‍तित्‍व से परिचित हो जायेंगे तो आप स्वाभाविक तौर पर इसकी प्रशंसा करने से पीछे नहीं रह पायेंगे।

खिलाड़ीअपनी इस आयु समूह स्तर पर सर्वोच्च प्रदर्शन करने के बाद अब हमीद ने अपने प्रथम श्रेणी कैरियर की शुरुआत की है। इनको लंबे समय तक घरेलू  टेस्‍ट मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए देखा गया जिसके कारण इन्‍हें टीम में जगह दी गयी है। हम वो 13 कारण आपको बताने जा रहे हैं जिनकी वजह से हसीब आज टीम में बतौर बेहतरीन बल्‍लेबाज शामिल हैं।

1. हसीब हमीद का जन्‍म 17 जनवरी, 1997 को बोल्टन, लंकशायर में हुआ था। वे भारतीय मूल के हैं। जिस कारण उनके बारे में बात करने पर हमें गर्व हो रहा है।

2. प्रारंभिक जीवन

हमीद एक क्रिकेट के शौकीन परिवार में पले और वह तीन भाई सफवान और नौमान के बीच सबसे कम उम्र के है। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा बोल्टन स्कूल, ग्रेटर मैनचेस्टर में पूरी की।

3. हाल की क्रिकेट यादें

हमीद ने एक साक्षात्कार में बताया जब वह आठ साल की उम्र के थे तो वे अपने से बड़े लोगों और भाइयों के साथ खेलते थे। जो कि उस समय क्रमशः 12 और 11 साल थे। वरिष्ठ लोंगो के साथ खेलना और चैलेंज करना यह सब उनकी यादें बन गयी जो आज उन्हें इस मुकाम पर ले जा रही हैं।

4. क्रिकेट के दीवाने पिता ने परखा हुनर

उनके पिता स्माइल जो भारत से चले गए और बोल्टन में बसे क्रिकेट के दीवाने थे। क्रिकेट के लिए उन्‍होंने अपने प्यार और दो बड़े भाइयों को भी पीछे छोड दिया। पिता उनके बस खेलते हैं और ट्रेन करते हैं। सामने बने पार्क में वे हमीद के भाइयों को ले जाया करते थे और घंटों उनके साथ खेलते रहते थे।  स्कूल के बाद हमीद बताते हैं कि वह भी उनके साथ शामिल होने के लिए चले जाते थे।  तभी से वो अपने पिता के साथ उस आठ साल की उम्र से ही कड़ी मेहनत के साथ क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया। मैं जल्‍द ही खेल को समझ गया और अच्‍छा प्रदर्शन करने लगा जिससे हर काई उन्‍हें अपनी टीम में रखना चाहता था।

5. पतले होने की वजह से टीम में जगह नहीं मिली

उन्होंने 8 साल की उम्र में ही टोंगे क्रिकेट क्लब के लिए एक लेग स्पिनर के रूप में शुरुआत किया। जिसके बाद वह लंकाशायर गये और अंडर 11 में खेलना शुरू कर दिया। जहां उन्‍हें बहुत छोटा और पतला होने की वजह से अस्वीकार कर दिया गया और टीम में जगह नहीं दी गयी।

6. बल्लेबाज कैसे बने

हमीद ने यह बदलाव उस समय किया जब उन्‍होंने टीम में गेंदबाजी की और उसके बाद 48 रन की नाबाद बल्‍लेबाजी भी की। यही नहीं गर्मियों के अंत तक उन्‍होंने लंकाशायर के लिए एक सलामी बल्लेबाज के रूप में अपना पहला शतक लगाया। फिर शुरू हुआ बल्‍लेबाजी का दौर।

7. क्लब का बेहतरीन खिलाड़ी का खिताब

हमीद ने प्रतिष्ठित सेड्रिक रोड्स ट्रॉफी को महज 11 वर्ष की आयु में जीत लिया था। क्‍लब ऑफ द इयर का का खिताब उन्‍हें अन्‍डर 19 और उससे कम उम्र के वर्ग में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए दिया गया।

8. साल 2016 में अन्‍डर 19 के वर्ल्‍ड कप से बाहर कर दिया गया

हमीद एक मजबूत और शानदार खिलाड़ी लगने लगे जो इंग्‍लैंड की टीम में खेल सकते थे। उन्‍हें टीम अन्‍डर 19 में खेलने के लिए चयनित भी किया लेकिन फिर अचानक टीम से निकाल दिया गया। बस हमीद को खेल से निकाल दिया गया और टीम से बाहर कर दिया गया। यह खबर उसे उसके कोच “मिक नेवेल ने दी जिन्‍होंने उसे श्रीलंका के होटल में यह जानकारी दी कि वे विश्वकप में टीम का हिस्‍सा नहीं बनेंगे।

9.  बेहतरीन प्रदर्शन

हमीद ने प्रतिष्ठित सेड्रिक रोड्स ट्रॉफी को महज 11 वर्ष की आयु में जीत लिया था। क्‍लब ऑफ द इयर का का खिताब उन्‍हें अन्‍डर 19 और उससे कम उम्र के वर्ग में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए दिया गया।

10. प्रथम श्रेणी कैरियर की शुरुआत

उन्होंने बताया कि उन्‍होंने 2016 में लंकाशायर के लिए खेलने के लिए एक चार साल के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए और अगस्त 2015 में ग्लेमोर्गन के खिलाफ लंकाशायर के लिए अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया।  पहली पारी में बल्‍लेबाजी करते हुए उन्‍होंने 28 रन बनाए। सीजन के अंत तक उन्‍होंने कुल 1129 रन 53 से भी अधिक के औसत से बनाये और उन्‍होंने सबसे कम उम्र के खिलाड़ी के रूप में लंकाशायर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक आथर्टन का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

11. विलक्षण प्रतिभा के धनी

पिछले सत्र में हमीद ने वो मुकाम हासिल किया जो लंकशायर बल्लेबाजों ने पहले कभी हासिल नहीं किया। राजेज़ के मैच के दौरान दो शतक जड़े। इसी के साथ वो पहले ऐसे चैम्पियन बने जिन्‍होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट के इतिहास में सबसे कम उम्र के खिलाड़ी के तौर पर इतने रन स्‍कोर किये।

12. शीर्ष गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ शतक

हमीद ने अपने पहला शतक वारविकशायर टीम के खिलाफ लगाया। जिसका गेंदबाजी आक्रमण जीतन पटेल, रिक्की क्लार्क, कीथ बार्कर जैसे तेज गेंदबाज के रूप में टीम में शामिल हैं। दूसरा शतक उन्‍होंने यॉर्कशायर, स्टुअर्ट ब्रॉड और इमरान ताहिर जैसे उम्‍दा खिलाड़ियों के खिलाफ लगाया। जो कि काबिले-ए-तारीफ है।

13. बल्ले के निपुण शॉटमेकर

शीर्ष वर्ग का स्वभाव रखने वाले और ललित स्ट्रोक लेने की क्षमता है इनमे। मजबूत बुनियादी बातों के लिए उन्‍होंने घरेलू हलकों में बहुत सम्मान अर्जित किया है। वास्तव में, लंकशायर प्रमुख कोच और क्रिकेट निदेशक एशले जाइल्स और क्लब के कप्तान स्टीवन क्रॉफ्ट हैरान नहीं लग रही थी, जब वह कॉल-अप प्राप्त कर रहे थे। क्‍योंकि वे उनकी प्रतिभा अच्छी तरह से जानते हैं।

  • SHARE

    Related Articles

    इस दिग्गज भारतीय खिलाड़ी ने बताया ऑस्ट्रेलिया को उसकी गलती, बताया क्यों करना पड़...

    यदि किसी चीज में विविधताएं होती हैं तो वह जीवन में खाने में मसाले की तरह काम करती हैं. साथ ही वह कई दिक्कतों...

    डेनियल ब्रायन कर रहे है रिंग में वापसी खुद ट्विट कर दी जानकारी, इस...

    डब्लूडब्लूई में कब क्या हो जाये, ये कहना बहुत ही मुश्किल रहता है. आयेदिन हमें डब्लूडब्लूई में ऐसा कुछ देखने को मिल ही जाता है,...

    PREDICTION: नो मर्सी के मेन इवेंट मैच को लेकर आई बड़ी खबर, क्या...

    WWE में ब्रोक लेसनर की अहमियत किसी से छुपी नहीं है और अकेले उनकी ही वजह से कंपनी को भारी मुनाफा होता है और...

    कभी कर्ण शर्मा का करियर बनाया था अब बनाएगा भारत के युवा खिलाड़ियों का...

    पूर्व खिलाड़ी अभय शर्मा को भारत का नया फील्ड़िग कोच बनाया गया है। अब वो भारत के फील्ड़िग कोच की भूमिका में 23 सितम्बर को...

    भारत से मिल रही लगातार शर्मनाक हार पर इस दिग्गज ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने अपनी...

    आॅस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम मौजूदा समय में भारत के दौरे पर है, जहां पांच वनडे मैचो की सीरीज का तीसरा मैच रविवार, यानि 24 सिंतबर...