क्रिकेट का जूनुन भारत देश में सिर चढ़कर बोलता है, भारत में इसे एक धर्म की तरह पूजा जाता है। क्रिकेट की प्रसिद्धि के साथ सट्टेबाजों का कारोबार भी बढता जा रहा है जो भारत मेंं पूरी तरह से गैरकानूनी है। कई कड़े कानून के बावजूद इसका विस्तार होता जा रहा है, जिससे भारत में सट्टेबाजी का कारोबार दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। अगर यह भारत में  कानूनी रूप से लागू हो जाये तब भारत सरकार के राजस्व में जबरदस्त वृद्धि हो सकती है पर इससे कई नुकसान भी होगें जिसमें मैच फिक्सिगं को भी बढ़ावा मिलेगा।भारत और पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाले चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल पर सट्टेबाजी का साया, तय है रिजल्ट

 

लोढ़ा पैनल ने सिफारिश किया सट्टेबाजी को कानूनी दर्जा देने का 

आपको बता दें 2013 में आईपीएल में हुई  स्पॉट फिक्सिंग के लिए गठित लोढ़ा पैनल ने सट्टेबाजी को कानूनी रूप से मान्यता देने की सिफारिश की जिसे सुनकर कई लोग अंचभित हो गये। लोढ़ा कमेटि ने अपनी कई सिफारिशों में से सबसे महत्वपूर्ण सिफारिश सट्टेबाजी को मान्यता देनेे के लिए कही।  कमेटी का कहना था कि  भारत जैसे देश में सट्टेबाजी को पूरी तरह से खत्म करना असंभव है जिसे लागू करना ही सरकार के लिए बेहतर होगा.

सरकार को होगा राजस्व का जबरदस्त फायदा

सट्टेबाजी को कानूनी रूप से लागू करने से सरकार को जबरदस्त फायदा मिलेगा, क्योंकि सट्टेबाजी का सारा पैसा गैरकानूनी रूप से ब्लैक मनी के रुप में चला जाता है, जिसे कानूनी रूप से मान्यता मिलने पर सारा पैसा राजस्व में जाने से देश के विकास में काम अायेगा।

सट्टेबाजी से बढ़ेगी मैच फिक्सिगं!

 

कानूनी रूप से सट्टेबाजी को लागू कर देने से कई तरह के नुकसान भी सामने आने  लगेगे जिसमें सबसे ज्यादा मैच फिक्सिंग का डर बना रहेगा। आमतौर पर बड़ी जीत के लिए लोग सट्टेबाजी में ज्यादा पैसे लगायेगें जिसे जीतने के लिए मैच फिक्सिंग का ब़ढावा मिलेगा।शर्मनाक : फिक्स था चैंपियंस ट्रॉफी भारत-पाकिस्तान फाइनल, इस खिलाड़ी ने किया चौकाने वाला खुलासा इसके अलावा सबसे ज्यादा प्रभाव दर्शकों पर पड़ेगा, जो इस खेल को झूठा समझने लगेगें जिससे दर्शकों की संख्या में गिरावट आने लगेगी।

कुछ देशों में मिली है सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता

सट्टेबाजी को लेकर कुछ देशों ने अपने राजस्व को बढ़ाने के लिए कानूनी रूप से मान्यता दे रखे है जिनमें ब्रिटेन, ऑस्ट्रलिया जैसे महत्वपूर्ण देश हैं। इन देशों में इससे काफी ज्यादा राजस्व प्राप्त किया जाता है, जो कि भारी मात्रा में सट्टेबाजी पर टैक्स लगाने से प्राप्त होता है। 

 

  • SHARE

    Related Articles

    बीसीसीआई या पीसीबी को नहीं बल्कि भारत-पाक सीरीज ना होने का अख्तर ने इन्हें...

    भारतीय टीम और पाकिस्तान टीम के बीच पिछले काफी सालों से दर्शकों को सीरीज नहीं देखने को मिल रही है. जिससे दोनों देशों के...

    ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज से बाहर हुआ इंग्लैंड का यह घातक बल्लेबाज

    ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच इन दिनों 5 एक दिवसीय मैचों की सीरीज खेली जा रही जिसमें इंग्लैंड ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है...

    WWE के इन रेस्लरो के बीच नहीं है कोई भी रिश्ता, कम्पनी इनके झूठे...

    WWE अक्सर अपनी स्टोरीलाइन को अच्छा बनाने के लिए कई झूठे रिश्ते बना देती है ताकि फैन्स के बीच उनका प्रभाव और भी ज्यादा...

    एंटिगा एंड बार्बुडा, गयाना तथा सेंट लूसिया करेंगे महिला वर्ल्ड टी-20 की मेजबानी

    दुबई, 23 जनवरी; इसी साल नौ से 24 नवंबर तक खेले जाने वाले आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप की मेजबानी एंटिगा एंड बार्बुडा, गयाना और...

    भारतीय टीम में वापसी की रैना ने पकड़ी जिद्द अब चयनकर्ताओ को देनी ही...

    कोलकाता, 23 जनवरी; सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट में खेल रहे अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना को भारतीय क्रिकेट टीम में वापसी की उम्मीद है। रैना ने...