1987 में शारजहाँ में खेले जा रहे ऑस्ट्रेलिया-एशिया कप के दौरान अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहीम भारतीय टीम के ड्रेसिंग रूम में घुस आया, और सभी भारतीय खिलाड़ियों को टोयटा कार देने की पेशकस की अगर वो ये सीरीज जीत जाते है तो, इस मैच में भारत, पाकिस्तान, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया हिस्सा ले रहे थे, जब दाउद इब्राहीम ड्रेसिंग रूम में था, उस समय मौजूदा टीम के कप्तान कपिल देव ड्रेसिंग रूम में नहीं थे, लेकिन जैसे ही ओ ड्रेसिंग रूम में पहुंचे उन्होंने दाउद इब्राहीम को तुरंत ड्रेसिंग रूम छोडकर बाहर जाने को कहा.

इस घटना का खुलासा 26 साल बाद बीसीसीआई सेक्रेटरी जयंत लेले और पूर्व भारतीय खिलाड़ी दिलीप वेंगसरकर ने किया, जिसके बाद काफी लम्बे समय से इस बात को छुपाये रखने की वजह से लोगो ने कपिल देव पर अंगुली उठाया.

दाउद इब्राहीम को मैच फिक्सिंग की वजह से भी जाना जाता है, दाउद अपनी “डी कम्पनी” की मदद से फिक्सिंग की वजह से जाना जाता है. लेकिन जब वेंगसरकर ने इस बात का खुलासा किया, तो सभी स्तब्ध रह गये.

जब मीडिया ने इस बारे में कपिल देव से बात किया, तो कपिलदेव ने कहा:

“हाँ, मुझे याद है, 1987 में शारजहाँ में एक जेंटलमैन भारतीय ड्रेसिंग रूम में आये, और खिलाड़ियों से बात करना चाहते थे.”

कपिलदेव ने आगे कहा:

“लेकिन मैंने उनसे कहा आप जल्दी से यहाँ से निकल जाओ, यहाँ पर किसी भी बाहरी आदमी का प्रवेश निषेध है, उन्होंने मेरी बात सुनी और वहाँ से निकल गयें बाद में मुझे किसी ने बताया, वो मुंबई का अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहीम था, हालाँकि उसके बाद कुछ भी नही हुआ.”

कपिल देव ने कहा, मुझे इस प्रकार की कोई जानकारी नहीं है, कि उन्होंने खिलाड़ियों को उस समय टोयटा कार देने की पेशकश की थी, अगर इस समय वेंग ये बात कह रहे है, तो वो मेरे से ज्यादा इस बारे में जानते है.

 

वेंगसरकर ने जगलाव में एक कार्य के दौरान कहा था-

“हाँ अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहीम भारतीय ड्रेसिंग रूम में उस समय आया था, और उसने सभी खिलाड़ियों को एक टोयटा कार ऑफर किया था, उसने कहा था, अगर तुम लोग ये तुर जीत जाते हो, तो मै तुम हर एक को एक टोयटा कार गिफ्ट करूंगा. लेकिन अभी खिलाड़ियों ने उसके इस ऑफर को ठुकरा दिया था.”

वेंगसरकर के दावे को और मजबूत करते हुए टीम बीसीसीआई सेक्रेटरी जयंत लेले ने कहा, कि उस मैच की मेरे पास 3 यादे है.

पहला: “ एक आदमी भारतीय ड्रेसिंग रूम में आया, और कहा, कि अगर तुम लोग यह टूर्नामेंट जीत जाते हो तो मै तुममे से हर एक को एक टोयटा कार तुम्हारे घर भारत में गिफ्ट करूंगा, लेकिन दुर्भाग्य से भारत यह सीरीज हार गया, और ऑस्ट्रेलिया को इस सीरीज का विजेता घोषित किया गया था. क्यूंकि उसके पास रन रेट ज्यादा थे, इस सीरीज के अंत में भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया तीनो के पॉइंट बराबर थे, लेकिन ऑस्ट्रेलिया को उसके रन रेट का फायदा मिला, और उसे विजेता घोषित किया गया. इससे कोई भी खिलाड़ी नहीं रोया, लेकिन उस आदमी के आँखों में आंसू थे.”

लेले ने आगे, लिखा:

“काफी लम्बे समय बाद पता चला 1987 में जो आदमी भारतीय ड्रेसिंग रूम में घुस आया था, वो मुंबई का अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहीम था.”

भारत सरकार ने शारजहाँ को प्रतिबंधित कर दिया था, 1990 में एक मैच फिक्सिंग में फंसने के कारण इस ग्राउंड ने अपना चमक खो दिया, और कई देशो ने यहाँ खेलने से मना कर दिया, जिसके बाद भारत सरकार ने इसे प्रतिबंधित कर दिया.

  • SHARE

    Related Articles

    पाकिस्तान के बाद अब बांग्लादेश में फैला सट्टेबाजी का जिन्न, 77 लोग हुए गिरफ्तार

    इन दिनों बांग्लादेश का टी20 क्रिकेट लीग बांग्लादेश प्रीमियर लीग खेला जा रहा है. यह बांग्लादेश प्रीमियर लीग का पांचवा सीजन है और बांग्लादेश...

    डिकवेला का समर्थन करना रसेल अर्नोल्ड को पड़ा महंगा, भारत ने ऐसे बनाया मजाक

    भारत और श्रीलंका के बीच पहला टेस्ट मैच कोलकत्ता में खेला गया था. इस रोमांचक टेस्ट ड्रा होने के बाद श्रीलंका के दिग्गज बल्लेबाज़...

    आई-लीग का 11वां संस्करण 25 नवंबर से, 3 नई टीमें शामिल

    नई दिल्ली, 21 नवंबर; भारत की शीर्ष स्तरीय फुटबाल लीग हीरो आई-लीग के 11वें संस्करण की शुरुआत 25 नवंबर से हो रही है। इस साल...

    WWE NEWS: सरवाइवर सीरीज में ब्रोक लेसनर से हारने के बाद एजे स्टाइल्स ने...

    इस बार की सरवाइवर सीरीज में कई ड्रीम मैच देखने को मिले जिसमे एक था ब्रोक लेसनर और एजे स्टाइल्स के बीच. इस मैच...

    कापेकोइंस के ‘जीवित बचे’ खिलाड़ी फोलमान की नजर पैरालम्पिक पर

    रियो डी जनेरियो, 21 नवंबर; एक खिलाड़ी भले ही किसी भी स्थिति में हो, लेकिन खेल के प्रति उसका जुनून कभी कम नहीं होता। फिर...